• Home
  • Haryana News
  • Sirsa
  • काम ठप, सैकड़ों लोग परेशान होकर लौटे बेमियादी हड़ताल बढ़ा सकती है दिक्कतें
--Advertisement--

काम ठप, सैकड़ों लोग परेशान होकर लौटे बेमियादी हड़ताल बढ़ा सकती है दिक्कतें

भास्कर न्यूज | सिरसा/ रानियां वेतन बढ़ोतरी और पक्का करने की मांग को लेकर ई दिशा केंद्र के कर्मचारी सोमवार को...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 02:15 AM IST
भास्कर न्यूज | सिरसा/ रानियां

वेतन बढ़ोतरी और पक्का करने की मांग को लेकर ई दिशा केंद्र के कर्मचारी सोमवार को बेमियादी हड़ताल पर चले गए। कर्मचारियों की हड़ताल से जिलाभर में ई दिशा केंद्रों पर कामकाज ठप रहा। यहां सरकारी कामकाज करवाने आए लोग मायूस होकर वापस लौटते रहे। उधर रानियां तहसील कार्यालय में कर्मचारियों की हड़ताल से भड़के कामकाज करवाने आए लोगों ने प्रशासन के खिलाफ अपना गुस्सा भी जाहिर किया, क्योंकि यहां अप्रशिक्षित पटवारियों को कंप्यूटर की कमान सौंपी थी। जिससे परेशानी झेल रहे लोगों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रोष भी जताया। वहीं प्रशासन की ओर से जिलाभर के तहसील कार्यालयों पर कर्मचारियों की हड़ताल के दौरान किए इंतजाम नाकाफी साबित हुए।

पक्का करने की मांग को लेकर प्रदेशभर के ई- दिशा केंद्र के कर्मचारियों ने सोमवार से बेमियादी हड़ताल शुरू कर दी है। सिरसा जिला कंप्यूटर प्रोफेशनल संघ के पदाधिकारी भी पंचकुला पहुंचे हैं। जहां कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ विरोध जता रहे हैं। वहीं कर्मचारियों ने चेतावनी दी है कि मांगे पूरी नहीं होने तक उनकी हड़ताल जारी रहेगी। लेकिन हड़ताल से आमजन की परेशानी बढ़ने लगी हैं। जरुरी कामकाज अटकने से लोग इधर- उधर भटकने को मजबूर हैं। यहां तक कि जिला में कुछ जगहों पर प्रशासनिक अधिकारियों को ग्राहकों के आक्रोश का सामना भी करना पड़ा। कंप्यूटर प्रोफेशनल्ज संघ के जिला प्रधान जुगलकिशोर ने बताया कि जिला ई-दिशा केंद्र में रोजाना 1500 से ज्यादा लोग अपने कामकाज करवाने आते हैं। कर्मचारियों ने अनेक बार प्रशासनिक अधिकारियों के माध्यम से सरकार को मांगों से संबंधित ज्ञापन भेजा। जिसमें जायज मांगों को पूरा करने की गुहार की। लेकिन सरकार ने उनकी लंबित मांगों पर ध्यान नहीं दिया, तो उन्हें आंदोलन का रास्ता अख्तियार करना पड़ा है। अब यह हड़ताल मांगों के पूरा होने तक जारी रहेगी।

20 पटवारियों की ड्यूटियां लगाई पर नहीं कर पाए काम

तहसील कार्यालयों व ई- दिशा केंद्र के कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने के बाद 20 पटवारियों व नए भर्ती हुए क्लर्कों की ड्यूटियां प्रशासन ने लगाई, लेकिन अप्रशिक्षित पटवारी ज्यादातर कंप्यूटरों में पासवर्ड तक नहीं लगा पाए। ऐसी स्थिति में कामकाज पूरी तरह ठप ही रहा। लोगों को इंतजार के बाद भी सिर्फ मायूसी ही हाथ लगी।

रानियां में लोगों ने जताया रोष

रानियां तहसील कार्यालय में कंप्यूटर ऑपरेटरों की हड़ताल से कामकाज ठप होने की वजह से भड़के लोगों ने तहसील कार्यालय के बाहर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शनकारी सूरजभान, गुरमीत सिंह, जिले सिंह सहारण, मलकीत सिंह, सुरेंद्र सिंह, गुरमीत कौर, संदीप, कुलदीप धोतड़ व प्रवीण कुमार ने बताया कि वह अपनी जमीन से संबंधित काम करवाने के लिए तहसील में आए, मगर यहां सीटों पर कोई भी कर्मचारी तैनात नहीं था। जिसके कारण किसानों को जमीन संबंधित कार्य करवाने व सरसों बेचने के लिए निर्धारित कागजात निकलवाने को भटकना पड़ा। वहीं हड़ताली कर्मचारियों की मांगों पर सरकार की सहमति नहीं बनी, तो यह हड़ताल बेमियादी चलेगी, जिससे दिक्कतें बढ़ेंगी।

रानियां। तहसील कार्यालय में कंप्यूटर ऑपरेटरों की हड़ताल से परेशान लोग प्रदर्शन करते हुए।