Hindi News »Haryana »Sohna» पद्मावत हिंसा में प्रशासन की विफलता, गुड़गांव की छवि धूमिल हुई

पद्मावत हिंसा में प्रशासन की विफलता, गुड़गांव की छवि धूमिल हुई

देशभर में फिल्म पद्मावत को लेकर करणी सेना विरोध कर रही है। गुड़गांव में सोहना के भोंडसी में बुधवार को करणी सेना के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 25, 2018, 02:05 AM IST

देशभर में फिल्म पद्मावत को लेकर करणी सेना विरोध कर रही है। गुड़गांव में सोहना के भोंडसी में बुधवार को करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने जमकर उत्पाद मचाया। बसों में आग लगाई, स्कूली बच्चों की बस पर पथराव किया। पुलिस पर भी पथराव किया। शहर की कानून व्यवस्था बुधवार को पूरी तरह ठप नजर आई। गुड़गांव में करणी सेना की इस हिंसा और जिला प्रशासन की बेबसी की चौतरफा निंदा हो रही है। एक ओर जहां विपक्ष ने इसे सरकार और प्रशासन की विफलता करार दिया है, वहीं सत्ता पक्ष ने पुलिस और प्रशासन की कार्रवाई पर संतोष जाहिर किया।

पद्मावत फिल्म के विरोध में शहर में हुई हिंसा को लेकर विपक्ष ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- शहर में कानून व्यवस्था पूरी तरह ठप

गुड़गांव. सोहना रोड पर भोंडसी में रोड को जाम करने के लिए बिजली का खंभा बीच सड़क पर उपद्रवियों ने डाल दिया।

प्रशासन सब कुछ मूकदर्शक बनकर देखता रहा

गुड़गांव मिनी वर्ल्ड है। यहां पूरे देश और दुनिया के लोग रहते हैं। इस हिंसा से गुड़गांव की पूरी दुनिया में छवि खराब हुई है। उपद्रवियों ने गुड़गांव में पूरे दिन जगह-जगह हिंसा की। रोडवेज की बस जलाने के साथ बच्चों की स्कूल बस पर पथराव किया और प्रशासन सब कुछ मूकदर्शक बनकर देखता रहा। -सुखबीर कटारिया, पूर्व खेल मंत्री, हरियाणा सरकार

सरकार को देना होगा जवाब

एक बार फिर हरियाणा जल रहा है। पुलिस की मौजूदगी में उपद्रवी हिंसा करते रहे। ये स्थानीय प्रशासन की विफलता है। प्रदेश सरकार को जवाब देना होगा। -गोपीचंद गहलोत, पूर्व डिप्टी स्पीकर

कार्रवाई से संतुष्ट नरबीर

भीड़ द्वारा हिंसक प्रदर्शन में पुलिस क्या कर सकती थी। मगर पुलिस की कार्रवाई संतोषजनक है। कई आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। -राव नरबीर सिंह, पीडब्ल्यूडी मंत्री

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sohna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×