• Hindi News
  • Haryana News
  • Sohna
  • 200 बिल्डिंग मालिकों के पास नहीं एनओसी कार्रवाई के नाम पर विभाग दे रहा नोटिस
--Advertisement--

200 बिल्डिंग मालिकों के पास नहीं एनओसी कार्रवाई के नाम पर विभाग दे रहा नोटिस

शहर में करीब 200 गगनचुंबी बिल्डिंग ऐसी हैं, जिनके मालिकों ने पिछले करीब दो साल से फायर एनओसी रिन्यू नहीं कराया है। इन...

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2018, 02:10 AM IST
200 बिल्डिंग मालिकों के पास नहीं एनओसी कार्रवाई के नाम पर विभाग दे रहा नोटिस
शहर में करीब 200 गगनचुंबी बिल्डिंग ऐसी हैं, जिनके मालिकों ने पिछले करीब दो साल से फायर एनओसी रिन्यू नहीं कराया है। इन बिल्डिंगों करीब 6 से 7 हजार लोग रहते हैं। नियम के मुताबिक देखें तो जो भी बिल्डिंग 15 मीटर से ऊंची हैं उनके मालिकों को फायर एनओसी लेना होती है साथ ही इसे हर साल दमकल विभाग से रिन्यु करना होता है। लेकिन बिल्डिंग मालिक एक बार एनओसी लेने के बाद भूल जाते हैं और बिल्डिगों में लगे फायर उपकरण सिर्फ शोपीस बनकर रह जाते हैं। बिल्डिंग मालिकों की ये लापरवाही तब है, जब आए दिन बिल्डिगों में किसी ना किसी वजह से आग लगने की घटनाएं होती रहती हैं। रविवार को भी ओमेक्स मॉल के रेस्टोरेंट कम बार के किचन में आग लगी। घटना के दौरान ऑटोमैटिक फायर उपकरणों ने काम नहीं किया। इस वजह से पूरा किचन चलकर खाक हो गया। वहीं ऐसे लापरवाह लोगों पर विभाग कार्रवाई के नाम पर सिर्फ नोटिस देकर इतिश्री कर लेता है। इस लापरवाही से साबित होता है कि ना तो बिल्डिंग मालिक और ना ही फायर विभाग को लोगों की जान की चिंता है।

एक्सट्रा चार्ज होने का बहाना बना जिम्मेदारी से बच रहे अफसर

गुड़गांव में बनी हाईराइज बिल्डिंग। (फाइल फोटो)

डिपार्टमेंट पर 42 मी. तक आग बुझाने के लिए हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म, शहर में 1200 बिल्डिंग्स एेसी, जो 50 मी. से ऊंची, सबसे ऊंची 175 मी. की

गुड़गांव फायर डिपार्टमेंट के पास मात्र 42 मीटर ऊंचाई का हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म है। जबकि गुड़गांव में 1200 इमारतें ऐसी हैं जिनमें ऊपर आग लगने की सूरत में फायर ब्रिगेड के हाइड्रोलिक पम्प नहीं बुझा सकता। शहर में 1200 इमारतें 50 मीटर से अधिक ऊंचाई वाली हैं। जबकि 100 मीटर से अधिक ऊंचाई वाली इमारतों की संख्या 60 है। जबकि शहर की सबसे ऊंची बिल्डिंग 175 मीटर ऊंची है, जो 52 मंजिल तक बनी हुई है। ये बिल्डिंग आरियो बिल्डर ने कादरपुर के पास सेक्टर-63 में बनाई है।

अफसर कर रहे सिर्फ बड़े दावे

200 ऐसी बिल्डिंग हैं, जिनके एनओसी रिन्यु नहीं हैं। कई सोसायटियों के बिल्डर्स ने करीब दो साल से फायर एनओसी के लिए नवीनीकरण आवेदन नहीं दिए हैं। फायर विभाग के अफसर बोले कि सभी को नोटिस जारी किया है, कार्रवाई होगी। बता दें साल 2012 में करीब 85 बिल्डिंग्स के खिलाफ कोर्ट ने जुर्माना किया था।


फायर स्टेशन का इन्फ्रास्ट्रक्चर


ऑमेक्स मॉल के तीसरे फ्लोर पर रेस्टोरेंट के किचन में लगी आग, नहीं चले ऑटोमैटिक उपकरण

मॉल के बाहर खड़ी फायरब्रिगेड, इनसेट में रेस्टोरेंट का जला किचन।

सोहना रोड स्थित ओमेक्स सेलिब्रेशन मॉल के तीसरे फ्लोर पर स्थित रेस्टोरेंट कम बार के किचन में रविवार दोपहर बाद 2 बजे अचानक आग लग गई। आग का कारण शॉट सर्किट बताया गया। 2.05 बजे फायर स्टेशन पर आग लगने की सूचना दी गई। सेक्टर-29 से गाड़ियों को मॉल तक पहुंचने में करीब 15 मिनट लगे, लेकिन तब तक मॉल के अंदर लगे ऑटोमैटिक उपकरण नहीं चले, ऐसे में आग रेस्टोरेंट के बीयर बार में फैलने लगी। आग से किचन सैटअप, डीवीआर, फोटो कॉपी मशीन सहित फ्रिज आदि जल गए। आग को काबू पाने के लिए फायर स्टेशन की ओर से दो हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म, दो फायर टैंडर लेकर गए थे। इसके बाद सेक्टर-37 से भी दो फायर टैंडर मंगवाए गए। करीब एक घंटे में आग पर काबू पाया गया। यहां सवाल उठता है कि आखिर मॉल्स में आग लगने की सूरत में ऑटोमैटिक फायर उपकरण ने काम क्यों नहीं किया।

X
200 बिल्डिंग मालिकों के पास नहीं एनओसी कार्रवाई के नाम पर विभाग दे रहा नोटिस
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..