सोहना

  • Home
  • Haryana News
  • Sohna
  • 10वीं पास ग्राम सचिव कैसे बनाएंगे जीपीडीपी
--Advertisement--

10वीं पास ग्राम सचिव कैसे बनाएंगे जीपीडीपी

केंद्र व प्रदेश सरकार ग्राम पंचायतों को हाइटेक बनाने के लिए तरह-तरह के दावे कर रही है, लेकिन गांवों में ना कंप्यूटर...

Danik Bhaskar

Mar 23, 2018, 02:10 AM IST
केंद्र व प्रदेश सरकार ग्राम पंचायतों को हाइटेक बनाने के लिए तरह-तरह के दावे कर रही है, लेकिन गांवों में ना कंप्यूटर ऑपरेटर हैं और ना ही ग्राम सचिव इतने क्वालीफाइड हैं कि वे सब कुछ ऑनलाइन कर सकें। ऐसे में सरकार की नीतियों को लेकर गुरुवार को पूरे गुड़गांव जिले के करीब 205 सरपंच व 60 ग्राम सचिवों ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया। सरपंचों का कहना है कि सरकार को पहले ग्राम पंचायतों को कंप्यूटर ऑपरेटर व कंप्यूटर मुहैया कराना चाहिए, उसके बाद ग्राम पंचायत डवलपमेंट प्लान (डीपीडीपी)को ऑनलाइन करने के लिए कहना चाहिए।

गुरुवार को ग्राम सचिव व सरपंचों ने सिविल लाइन स्थित जोन हॉल से लघु सचिवालय तक प्रदर्शन किया और अपनी मांगों को लेकर डीसी को ज्ञापन सौंपा। सरपंचों ने ज्ञापन के माध्यम से बताया है कि ग्राम पंचायतों के पास कोई इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं है। बेशक कुछ सरपंच ग्रेजुएट हैं, लेकिन ग्राम सचिव भी 10वीं पास योग्यता वाले हैं, ऐसे में कैसे वे एकाउंट का काम करेंगे। उन्होंने सरकार व जिला प्रशासन से कहा है कि ग्राम पंचायतों को पहले इंफ्रास्ट्रक्चर देना होगा, तभी वे ग्राम पंचायतों को ऑनलाइन कर सकेंगे। बिना तैयारी के ऑनलाइन करना संभव नहीं है। सरपंचों ने बताया कि ग्राम सचिवों पर इतना बर्डन है कि एक-एक ग्राम सचिव के जिम्मे 7 से 8 गांव दिए गए हैं। जबकि ग्राम सचिव को टीए (ट्रेवलिंग एलाउंस) के रूप में 20 रुपए मिलते हैं। ग्राम सचिवों ने बताया कि इस तरह की समस्याओं को जिला प्रशासन व प्रदेश सरकार को समझना होगा, तभी ग्राम पंचायतों के काम ऑनलाइन हो सकेंगे। वहीं ग्राम सचिवों व सरपंचों द्वारा किए गए प्रदर्शन के दौरान राजीव चौक से सोहना चौक तक ट्रैफिक जाम भी लगा रहा। इससे वकीलों सहित आम लोगों को परेशानी उठानी पड़ी।

गुड़गांव. अपनी मांगों को लेकर रैली निकालते सरपंच एवं ग्राम सचिव एसोसिएशन के कार्यकर्ता।

Click to listen..