--Advertisement--

सोहना वार्ड-1 में उपचुनाव 8 अप्रैल को

पंच से लेकर पार्षद चुनाव में लगाई गई शैक्षणिक योग्यता की शर्त वार्ड-1 की पार्षद पूनम भामला पर भारी पड़ गई। फर्जी...

Danik Bhaskar | Mar 16, 2018, 02:15 AM IST
पंच से लेकर पार्षद चुनाव में लगाई गई शैक्षणिक योग्यता की शर्त वार्ड-1 की पार्षद पूनम भामला पर भारी पड़ गई। फर्जी सर्टिफिकेट लगाने के आरोप में उन्हें करीब एक साल पहले अयोग्य घोषित किया गया था। अब चुनाव आयोग ने वार्ड में 8 अप्रैल को उप चुनाव कराने का फैसला लिया है। एसडीएम सतीश यादव ने बताया कि वार्ड-1 महिला के लिए आरक्षित है। उपचुनाव की प्रक्रिया के तहत 17 से 22 मार्च तक नामांकन किए जा सकेंगे। 24 मार्च को सोहना बीडीपीओ कार्यालय में नामांकन की स्क्रूटनी होगी, उसी दिन नाम वापस लिए जा सकेंगे। पहली बार पार्षद का नामांकन सोहना में होगा, इससे पहले सोहना एसडीएम गुड़गांव बैठते थे, जिससे उम्मीदवारों नामांकन के लिए गुड़गांव जाते थे। बता दें कि अयोग्य पार्षद पूनम ने अपनी प्रतिद्वंद्वी मोनिका को हराया था। उनकी शैक्षणिक योग्यता को लेकर तत्कालीन एडीसी विनय प्रताप को शिकायत की गई थी। जांच में साबित हुआ कि पूनम ने एक साथ दो जगह से पढ़ाई की। जहां गुड़गांव में वे आठवीं में फेल हो गई थीं, जबकि दिल्ली से पास आठवीं पास की मार्कशीट उन्होंने संलग्न की थी। पूनम ने इस फैसले के खिलाफ ऊपरी कोर्ट में अपील की है, लेकिन अभी तक फैसला नहीं आया है।