Hindi News »Haryana »Sohna» सड़कों पर उतरे लोग| जान बचाने वाले चश्मदीद गवाह की एक माह बाद कर दी हत्या , ग्रामीणों ने सोहना रोड को जाम किया

सड़कों पर उतरे लोग| जान बचाने वाले चश्मदीद गवाह की एक माह बाद कर दी हत्या , ग्रामीणों ने सोहना रोड को जाम किया

कानून व्यवस्था पर उठे सवाल भास्कर न्यूज | गुड़गांव गुड़गांव के बादशाहपुर में मंगलवार को सूरज निकलने से पहले...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 14, 2018, 02:15 AM IST

सड़कों पर उतरे लोग| जान बचाने वाले चश्मदीद गवाह की एक माह बाद कर दी हत्या , ग्रामीणों ने सोहना रोड को जाम किया
कानून व्यवस्था पर उठे सवाल

भास्कर न्यूज | गुड़गांव

गुड़गांव के बादशाहपुर में मंगलवार को सूरज निकलने से पहले ही बदमाशों ने एक दंपती पर अंधाधुंध फायरिंग कर पति को मौत के घाट उतार दिया, जबकि प|ी गंभीर रूप से घायल हो गई। घटना त्यागी मोहल्ले की है। जहां फायरिंग में गोली लगने से 42 वर्षीय आनंद की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसकी प|ी करिश्मा गंभीर रूप से घायल हो गई। जिसे गंभीर हालात में अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। वहीं इस घटना के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने गुड़गांव रोड पर जाम लगा दिया। सुबह 8.30 बजे से दोपहर 12 बजे तक ग्रामीणों ने ट्रैफिक जाम रखा। ग्रामीणों का आरोप था कि आनंद पिछले कई दिनों से पुलिस को शिकायत कर रहा था कि उसे जान से मारने की धमकी दी जा रही है, लेकिन इसके बावजूद भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की गई। ऐसे में आरोपियों ने आनंद की हत्या कर दी।

मंगलवार सुबह करीब 5.30 बजे त्यागीवाड़ा मोहल्ले का रहने वाला आनंद वशिष्ठ अपनी प|ी करिश्मा के साथ दूध निकालने के लिए जा रहा था। तभी पहले से घात लगाए बैठे बदमाशों ने आनंद व उसकी प|ी पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए और आनंद व उसकी प|ी वहीं पर गिर गए। गोलियों की आवाज सुन आसपास के लोग बाहर आए तो उन्हें घटना का जानकारी हुई। आनन-फानन में दोनों को उठाकर अस्पताल पहुंचाया, जहां आनंद को मृत घोषित कर दिया। जबकि प|ी करिश्मा को आर्टिमिस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। परिजनों का कहना है कि तकरीबन डेढ़ से दो महीने पहले आनंद ने इलाके के ही एक व्यक्ति की जान बचाई थी। जिसमें पुलिस ने आनंद को उस जानलेवा हमले में गवाह बनाया था। इसी रंजिश के चलते आनंद की हत्या को अंजाम दिया गया है। परिजनों ने वारदात में संदिग्ध लोगों की जानकारी पुलिस को दे दी है। पुलिस ने परिजनों के बयान पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

दूध निकालने जा रहे दंपती को घात लगाए बैठे बदमाशों ने मारी गोली, पति की मौत, प|ी गंभीर

आरोप|11 फरवरी को गोली चलाने के बाद नामजद शिकायत देने के बाद भी आरोपियों की नहीं हुई थी गिरफ्तारी, लगातार दे रहा था धमकी

गुड़गांव. बादशाहपुर में व्यक्ति की गोली मारकर हत्या करने के बाद सोहना रोड के वाटिका चौक पर जाम लगाते ग्रामीण।

जांच अधिकारी को किया लाइन हाजिर

गत 11 फरवरी को गोली चलाने के मामले की जांच कर रहे जांच अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने के दबाव को लेकर पुलिस अधिकारियों ने आनन-फानन में जांच अधिकारी एएसआई सतेन्द्र को लाइन हाजिर कर दिया। बीती 11 फरवरी को विजेन्द्र नामक युवक पर गोली चलाने के आरोप में आरोपी रवि व टिल्लू की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी। जबकि दोनों आरोपियों की पहचान हो गई थी। इस मामले में बादशाहपुर थाना प्रभारी विष्णु प्रसाद ने कहा कि इस मामले में जांच की जा रही थी, जिससे गिरफ्तारी नहीं हो पाई।

जाम में फंसी स्कूल बस में बच्चे थककर सो गए

इन मासूमों का क्या दोष

गुड़गांव. बादशाहपुर में व्यक्ति की हत्या करने के बाद सोहना रोड के वाटिका चौक पर लगाए गए जाम के दौरान फंसी स्कूल की बस में परेशान बच्चे।

बच्चे परेशान| लोगों ने साढ़े तीन घंटे तक किया गुड़गांव सोहना हाइवे का ट्रैफिक जाम, स्कूली बच्चों से लेकर ऑफिस जाने वाले लोग हुए परेशान

सुबह के हत्याकांड के बाद सुबह 8.30 बजे लोगों ने सोहना रोड का ट्रैफिक रोक दिया। लोगों का आरोप था कि आनंद ने पुलिस को शिकायत दी थी कि आरोपी युवक उसे धमकी दे रहे हैं लेकिन इसके बावजूद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। रोड जाम होने से स्कूल जा रहे बच्चों के अलावा नौकरी पेशा वाले लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। कई प्राइवेट स्कूलों की बसें भी ट्रैफिक जाम में फंसी रही। इसके अलावा हरियाणा बोर्ड की परीक्षाओं के लिए जा रहे स्टूडेंट्स भी ट्रैफिक जाम का शिकार हो गए। कई सेंटरों पर स्टूडेंट्स करीब एक घंटे की देरी तक पहुंचे। हालांकि सभी स्टूडेंट्स को परीक्षाओं में बैठा लिया गया। वहीं ट्रैफिक जाम करने के बाद स्कूल बसों को वहीं रुकवा दिया

गुड़गांव. बादशाहपुर में व्यक्ति की गोली मारकर हत्या करने के बाद सोहना रोड के वाटिका चौक पर जाम लगाते ग्रामीणों को समझाते एसडीएम भारत भूषण

ग्रामीणों के दबाव में नहीं की गई थी गिरफ्तारी

गुड़गांव पुलिस के प्रवक्ता रविन्द्र कुमार ने बताया कि इस मामले में टिल्लू व रवि नामक युवक के खिलाफ नामजद शिकायत दी गई थी लेकिन बादशाहपुर के ग्रामीण कई बार पुलिस अधिकारियों से मिले और उन्होंने इस मामले में गिरफ्तारी से पहले जांच करने की मांग की थी। जिससे इस मामले में पुलिस की जांच पूरी नहीं हुई थी लेकिन अज्ञात के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया था। वहीं आनंद की हत्या के विरोध में पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए ग्रामीणों का कहना था कि पहले गोलीकांड में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं किए जाने से इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया है।

मृतक आंनद

टिल्लू व उसके साथियों पर हत्या का आरोप, इस मामले चश्मदीद था आनंद

इस हत्याकांड को लेकर आनंद के परिजनों का आरोप है कि बादशाहपुर के रहने वाले टिल्लू व उसके अन्य साथियों ने इस घटना को अंजाम दिया है। करीब एक महीने पहले टिल्लू ने एक युवक को गोली मारी थी और घायल को अस्पताल ले जाकर आनंद ने उसकी जान बचाई थी। बस यह बात आरोपी को नागवार गुजरी और उसने आनंद को ही अपना दुश्मन मान लिया। यही वजह है कि आरोपी टिल्लू ने आनंद को मौत के घाट उतार दिया। बताया जा रहा है कि रवि व टिल्लू नाम के दो युवकों ने बाइक पर जाकर त्यागीवाड़ा मोहल्ले में विजेन्द्र नामक युवक पर बीती 11 फरवरी को गोलियां चलाई थी। हमलावरों से बचने के लिए विजेन्द्र आनंद के मकान में घुस गया था। ऐसे में लोगों की भीड़ जुटने से आरोपी भाग गए थे, आनंद इस मामले में चश्मदीद गवाह था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sohna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×