• Home
  • Haryana News
  • Sohna
  • सड़कों के डिजाइन में खामियों से हो रहे एक्सीडेंट, सुधार के लिए के लिए इंजीनियर्स करेंगे मंथन
--Advertisement--

सड़कों के डिजाइन में खामियों से हो रहे एक्सीडेंट, सुधार के लिए के लिए इंजीनियर्स करेंगे मंथन

ट्रांसपोर्ट विभाग पहली बार सभी विभागों के जूनियर इंजीनियर्स से लेकर एग्जीक्यूटिव इंजीनियर तक के साथ रोड सेफ्टी...

Danik Bhaskar | Apr 06, 2018, 03:15 AM IST
ट्रांसपोर्ट विभाग पहली बार सभी विभागों के जूनियर इंजीनियर्स से लेकर एग्जीक्यूटिव इंजीनियर तक के साथ रोड सेफ्टी पर वर्कशॉप करने जा रहा है। ताकि सड़क इंजीनियरिंग की कमियों को दुरुस्त कर हादसों को कम किया जा सके। रोड सेफ्टी पर वर्कशॉप 10 अप्रैल को होगी। सरकार सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए सरकारी विभागों के साथ नैसकॉम की मदद ले रही है। हरियाणा विजन जीरो अभियान के बावजूद गुड़गांव में हादसों का ग्राफ पिछले दो महीनों में बढ़ा है। इस साल फरवरी तक 189 सड़क हादसे हुए। इसमें 81 लोगों की जान गई, जबकि 146 लोग घायल हुए थे। इसे देखते हुए हरियाणा ट्रांसपोर्ट विभाग गुड़गांव में सभी विभागों के इंजीनियरिंग विंग की रोड सेफ्टी को लेकर वर्कशॉप कराने जा रहा है। इसमें ट्रांसपोर्ट कमिश्नर विकास गुप्ता शामिल होंगे।

एडीसी आरके सिंह ने बताया कि जिले के सभी विभागों के इंजीनियर्स 10 अप्रैल को वर्कशॉप में सड़क इंजीनियरिंग पर चर्चा करेंगे। हमारा प्रयास है कि सड़क निर्माण के दौरान रोड सेफ्टी की बात को ध्यान में रखा जाए। जूनियर इंजीनियर से लेकर एग्जीक्यूटिव इंजीनियर तक को वर्कशॉप में शामिल किया गया है। एडीसी ने कहा कि सड़क निर्माण के दौरान मौके पर जेई व एसडीओ होता है, ऐसे में उसे भी इसमें शामिल किया गया है। कई बार सड़क निर्माण की छोटी कमियों की वजह से हादसे होते हैं।

पिछले साल 30 सड़क हादसों के 13 मामलों में रोड इंफ्रास्ट्रक्चर में कमी पाई गई थी जिम्मेवार

गुड़गांव. राजीव चौक पर दुर्घटना से बचाव के लिए रोड के बीच में बनाया गया डिवाडर।

एक्सप्रेस वे पर अंडर पास का निर्माण के बाद भी यातायात चालकों को परेशानी होती है। मेदांता अंडरपास से एक्सप्रेस-वे पर जाने वाले व राजीव चौक से सेक्टर 15 की ओर जाने वाले वाहनों के बीच में एक-दूसरे को क्रॉस करते हैं। जिससे हादसा होने की आशंका रहती है। इसी प्रकार इफको चौक पर बने यू टर्न फ्लाईओवर पर भी क्रॉस बनता है।

यह होंगे शामिल को

वर्कशॉप में हुडा के इंजीनियर, पीडब्ल्यूडी (बीएंडआर) के इंजीनियर,हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम के इंजीनियर,एनएचएआई के प्रोजेक्ट मैनेजर, एचएसआईआईडीसी,नगर निगम, नगर पालिका सोहना,पटौदी व हैली मंडी के इंजीनियरिंग विंग के लोग शामिल होंगे। इसके अलावा हर विभाग से संबंधित अधिकारी,निगम के संयुक्त निगम आयुक्त,हुडा के स्टेट अफसर समेत जीएमडीए के अधिकारी भी शामिल होंगे।

केस-1

166 किमी. सड़क में थी कमियां

पिछले साल हरियाणा विजन जीरो की टीम ने जिले की 166 किलोमीटर की सड़कों का निरीक्षण किया था। इसमें स्टेट हाईवे 15ए, नेशनल हाईवे-48,साउथर्न पेरिफेरल रोड, सीआरपीएफ रोड, सोहना रोड, गोल्फ कोर्स रोड, एमडीआर 137 शामिल रहे। जांच के दौरान टीम ने पाया कि सड़कों पर पैदल चलने वालों के लिए सुविधाओं को अभाव, सड़क क्रॉसिंग का विकल्प नहीं है। साइकिल सवारों के लिए भी अलग से लेन नहीं है। कहीं सड़कों पर रुकावट या अन्य कारणों से वाहन चालकों की विजिबिलिटी सही नहीं है। स्पीड ब्रेकर आईआरसी गाइड लाइन के अनुसार नहीं बने हैं।

सोहना रोड पर कई जगहों पर अवैध कट हैं। दूसरा सड़क निर्माण संबंधी कमियां है। जिससे हादसे होते हैं। यहां दोनों ओर मॉल व ऑफिस हैं, लेकिन एफओबी नहीं है। इसके अलावा लोगों के लिए फुटपाथ समेत अन्य समस्याएं हैं। िछले साल 30 बड़े सड़क हादसों की जांच की गई। इसमें 13 क्रश के मामले में रोड इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी पाई गई थी।

केस-2

5 बिंदुओं पर काम हो रहा

सड़क हादसों को लेकर हरियाणा विजन की टीम 5 बिंदुओं पर काम कर रही है। हादसों की एफआईआर की एनालिसिस करना, ताकि हादसों की वास्तविक स्थित का आंकलन किया जा सके। दूसरा क्रश इनवेस्टीगेशन (बड़े हादसे) को देखना। इसमें वाहनों के अलावा सड़क निर्माण संबंधी कमियों को देखा जाता है। ब्लैक स्पॉट या क्रिटिकल स्पॉट की पहचान कर सुधार करना।

6 साल के सड़क हादसों का रिकार्ड

वर्ष हादसे मौत घायल

2012 1045 472 871

2013 1115 487 1001

2014 1177 430 1144

2015 1142 435 1087

2016 1092 385 1005

2017 1214 481 1189

गुड़गांव. राजीव चौक पर दुर्घटना से बचाव के लिए रोड के बीच में बनाया गया डिवाडर व लगाए गए त्रिकोण।