सोहना

  • Home
  • Haryana News
  • Sohna
  • बदमाश को पकड़ने गई पुन्हाना पुलिस पर हुई फायरिंग, दो जवान गंभीर रूप से घायल
--Advertisement--

बदमाश को पकड़ने गई पुन्हाना पुलिस पर हुई फायरिंग, दो जवान गंभीर रूप से घायल

भास्कर न्यूज | फिरोजपुर झिरका जेल से भगौड़े एक नामी बदमाश को पकड़ने गई पुन्हाना पुलिस पर बदमाश व उसके साथियों ने...

Danik Bhaskar

Jun 20, 2018, 02:05 AM IST
भास्कर न्यूज | फिरोजपुर झिरका

जेल से भगौड़े एक नामी बदमाश को पकड़ने गई पुन्हाना पुलिस पर बदमाश व उसके साथियों ने अचानक फायरिंग कर दी। जिसमें पुलिस के दो जवानों को गोली लग गई। दोनों घायलों को गंभीर हालत में मेडिकल कॉलेज नल्हड़ में भर्ती कराया है। नल्हड़ मेडिकल कॉलेज में दोनों जवानों की हालत चिंताजनक बताई जा रही है। हालांकि मुठभेड़ के बाद पुलिस के कब्जे से मुख्य बदमाश फरार हो गया, लेकिन उसके दो साथी पुलिस के हत्थे चढ़ गए। दोनों बदमाशों को भी इस मुठभेड़ में चोटें आई हैं। जिन्हें पुन्हाना स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।

पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ की सूचना जैसे ही आलाधिकारियों को लगी, तो मेवात पुलिस अधिकारी भी नल्हड़ मेडिकल पहुंचे और घायलों का हाल-चान जाना। मंगलवार दोपहर बाद मेवात पुलिस कप्तान का चार्ज संभालने के बाद पलवल पुलिस कप्तान वसीम अकरम व एचटीएस गुड़गांव प्रमुख बी सतीश बालान ने भारी दल बल के साथ पुलिस ने एक बार फिर से गांव बादली में रेड मारी, परंतु पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा। मंगलवार तड़के पुन्हाना पुलिस को गुप्त सूचना मिली की बादली गांव में बदमाश मुश्ताक अपने भाई हफीज, शाद, आदिल तथा अन्य साथी एजाज उर्फ बुल्ली, अज्जू, मोटा व निसार निवासी बादली सहित अपने मकान में ठहरा हुआ है जिनमें पास काफी मात्रा में अवैध हथियार हैं। जो किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए इकट्ठे हुए हैं। पुलिस ने सूचना के आधार पर पुलिस टीम का गठन किया, जिसमें पुन्हाना थाना पुलिस के अलावा सीआईए पुलिस तथा सिटी चौकी पुलिस के दर्जनों जवानों को साथ लिया गया। पुलिस द्वारा मौके पर पहुंच कर मकान को घेर लिया गया। जिसके बाद पुलिस की आवाज सुनकर उक्त बदमाशों ने पुलिस पर तुरंत फायरिंग करनी शुरू कर दी। इतना ही नहीं बदमाशों के परिवार की महिलाओं ने भी पुलिस पर पथराव कर दिया। फायरिंग के दौरान बदमाश आदिल द्वारा चलाई गई गोली हवलदार चंद्रपाल के पेट में लगी जबकि बदमाश हफीज द्वारा चलाई गई गोली पुलिस कर्मी कृष्ण के सिर में लगी। जवानों के घायल होने के बाद पुलिस द्वारा भी जवाबी कार्रवाई में हवाई फायरिंग की गई, जिसके बाद बदमाश व महिलाएं भागने लगे। भागते समय आदिल व हफीज के पैरों में छत के कूदने के दौरान चोट आ गई, जिन्हें पुलिस ने दबोच लिया। पुलिस ने घायल जवानों को तुरंत मेडिकल कॉलेज नल्हड़ भेज दिया। पुन्हाना थाना प्रभारी रतन लाल ने बताया कि पकड़े गए दोनों आरोपियों के कब्जे से एक देशी कट्टा, एक देशी बंदूक व दो जिंदा कारतूस बरामद किए गए।

पुन्हाना. बदमाशों से मुठभेड में बदमाशों द्वारा मारी गई गोली से घायल पुलिसकर्मी अस्पताल में उपचाराधिन।

मुश्ताक पर पहले से एक पुलिसकर्मी की हत्या का केस दर्ज है

पुन्हाना पुलिस जिस बदमाश मुश्ताक को पकड़ने के लिए बादली गांव गई थी। उस पर हरियाणा व राजस्थान में करीब दो दर्जन मामले दर्ज हैं। जिनमें लूट, डकैती हत्या व अन्य मुकदमों के केस शामिल हैं। बदमाश राजस्थान के बीकानेर बीछपाल थाने से भगोड़ा है। मुश्ताक ने वर्ष 2008 में सीआईए सोहना में तैनात पुलिस कर्मी उटावड निवासी उमर की उस समय गोली मारकर हत्या कर दी थी, जब पुलिस मुश्ताक का पीछा कर रही थी। अपराध की दुनिया में मुश्ताक का नाम काफी प्रचलित है। पुलिस को मुश्ताक की काफी दिनों से तलाश थी। मंगलवार को पुलिस को सूचना मिली की मुश्ताक अपने गांव बादल आया हुआ है। जिस पर पुलिस ने छापेमारी की।

पर्याप्त पुलिस नहीं होने से बदमाशों के हौंसले बुलंद

पुन्हाना उपमंडल में सरकार द्वारा तीन थाने तो बना दिए गए हैं, लेकिन उनमें अभी तक पर्याप्त पुलिस कर्मचारियों की नियुक्ति नहीं की गई। उपमंडल के सैकड़ों गावों के लिए तीनों थानों में मात्र 100 पुलिस कर्मचारी हैं। पुलिस बल कम होने के कारण ही अपराधियों के हौंसले बुलंद है। किसी बड़े अपराधी को पकड़ने के लिए तीनों थानों की पुलिस भी कम पड़ जाती है। जिसके कारण पुलिस को विरोध के साथ-साथ पथराव का भी सामना करना पड़ता है। पिछले दिनों जखोपुर गांव में भी खनन माफियाओं ने पुलिस पर हमला कर एक जवान को घायल कर दिया था। इतना ही नहीं वांछित बदमाश इकराम को पकड़ने के लिए बीसरू गांव गई पुलिस पर भी बदमाशों के साथियों ने फायरिंग कर बदमाशों को छुड़ा लिया था।

Click to listen..