सोहना

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Sohna
  • शहर में पॉल्यूशन व ट्रैफिक जाम का कारण बन रहे शेयरिंग ऑटो
--Advertisement--

शहर में पॉल्यूशन व ट्रैफिक जाम का कारण बन रहे शेयरिंग ऑटो

शहर में बेतरतीब दौड़ने वाले ऑटो पर्यावरण में पॉल्यूशन का जहर तो घोल ही रहे हैं, साथ ही ट्रैफिक जाम का भी कारण बन रहे...

Dainik Bhaskar

Jun 28, 2018, 02:05 AM IST
शहर में पॉल्यूशन व ट्रैफिक जाम का कारण बन रहे शेयरिंग ऑटो
शहर में बेतरतीब दौड़ने वाले ऑटो पर्यावरण में पॉल्यूशन का जहर तो घोल ही रहे हैं, साथ ही ट्रैफिक जाम का भी कारण बन रहे हैं। सबसे बुरा हाल पुराने शहर में रहता है। जहां बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन को जोड़ने वाली सड़कों पर इधर-उधर खड़े ऑटो के कारण ट्रैफिक जाम की समस्या बनी रहती है। वहीं शहर में पॉल्यूशन का स्तर भी खतरनाक स्तर पर रहता है। पॉल्यूशन डिपार्टमेंट के आंकड़ों के अनुसार गुड़गांव में 40 फीसदी पॉल्यूशन का कारण डीजल से चलने वाले वाहन हैं। शहर में करीब 50 हजार ऑटो सड़कों पर दौड़ रहे हैं, जिनमें से 30 फीसदी ऑटो ऐसे हैं, जिनमें कागजात भी पूरे नहीं होते।

100 से ज्यादा रूटों पर दौड़ रहे 50 हजार ऑटो

गुड़गांव में करीब 100 से अधिक छोटे-बड़े रूटों पर करीब 50 हजार ऑटो दौड़ रहे हैं। 70 फीसदी ऑटो इनमें से डीजल से चलने वाले हैं। जिससे अक्सर पीएम 2.5 का स्तर 250 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर तक रहता है। वहीं ट्रैफिक जाम से भी लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है। ओल्ड गुड़गांव के गुरुद्वारा रोड, ओल्ड व न्यू रेलवे रोड, बस स्टैंड रोड, ओल्ड दिल्ली रोड, महरौली रोड, महावीर चौक, सोहना चौक, खांडसा रोड, बसई रोड पर हजारों ऑटो दौड़ते हैं। नियमों की अनदेखी करते हुए इन ऑटो पर ट्रैफिक पुलिस भी कार्रवाई नहीं कर रही है। ऐसे में शहरवासियों को परेशानी उठानी पड़ रही है।

गुड़गांव. सेक्टर-56 रोड पारस रेड लाइट पर प्रदूषण फैलाता ऑटो। इनसेट में अग्रसेन चौक पर सवारी बैठाने के लिए बीच सड़क पर खड़े ऑटो से लगता जाम।

नियम तोड़ने वाले ऑटो के खिलाफ तीन साल पहले चलाया था अभियान

गुड़गांव में ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले शेयरिंग ऑटो के खिलाफ ट्रैफिक पुलिस ने वर्ष 2015 में अभियान चलाया था। उस दौरान अधिकतर ऑटो बंद हो गए थे। अब पुलिस जीरो टोलरेंस के दिन केवल ऑटो के चालान काटती है, जबकि अन्य दिनों में बेतरतीब ढंग से ऑटो सड़कों पर दौड़ते हैं। चालान के नाम पर मात्र 100 रुपए का चालान काटते हैं, जिससे ऑटो धड़ल्ले से सड़कों पर दौड़ते रहते हैं।


शहर में पॉल्यूशन व ट्रैफिक जाम का कारण बन रहे शेयरिंग ऑटो
X
शहर में पॉल्यूशन व ट्रैफिक जाम का कारण बन रहे शेयरिंग ऑटो
शहर में पॉल्यूशन व ट्रैफिक जाम का कारण बन रहे शेयरिंग ऑटो
Click to listen..