Hindi News »Haryana »Sohna» अंडरपास के लिए 9 हजार पेड़ों की दी बलि अब कड़ी धूप छुड़ा रही यात्रियों का पसीना

अंडरपास के लिए 9 हजार पेड़ों की दी बलि अब कड़ी धूप छुड़ा रही यात्रियों का पसीना

गर्मी में गुड़गांव के चौक-चौराहों पर यात्रियों को छाया तक नहीं नसीब नहीं है। एक्सप्रेस-वे पर तो हालात और भी बदतर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 28, 2018, 02:10 AM IST

  • अंडरपास के लिए 9 हजार पेड़ों की दी बलि अब कड़ी धूप छुड़ा रही यात्रियों का पसीना
    +5और स्लाइड देखें
    गर्मी में गुड़गांव के चौक-चौराहों पर यात्रियों को छाया तक नहीं नसीब नहीं है। एक्सप्रेस-वे पर तो हालात और भी बदतर हैं। इफको चौक, राजीव चौक और हीरो होंडा चौक अंडरपास बनाने के लिए यहां करीब 9 हजार पेड़ों की बलि दी गई, नतीजतन अब यहां यात्री बसों का इंतजार कड़ी धूप में सड़कों पर खड़े होकर कर रहे हैं, क्योंकि अंडरपास निर्माण के बाद यहां एक भी बस क्यू शेल्टर का निर्माण नहीं कराया गया। हालात ये हैं कि यात्री धूप से बचने के लिए अंडरपास की शेड के किनारे या फ्लाईओवर के नीचे खड़े होकर बसों का इंतजार कर रहे हैं। बस क्यू शेल्टर नहीं होने खासकर महिलाओं और बच्चों को बैठने के लिए जगह नहीं है। एक्सप्रेस-वे पर ऐसे हालात लगभग सभी चौक-चौराहों के हैं। क्यू शेल्टर नहीं होने से यात्रियों के साथ दुर्घटना होने का भी खतरा रहता है। वहीं जीएमडीए के अधिकारियों का दावा है कि धीरे-धीरे बस क्यू शेल्टर बनाए जा रहे हैं। इसे लेकर जीएमडीए की वेबसाइट पर जानकारी दी गई है। कुल 328 शेल्टर बनाए जाएंगे, जिसका काम चल रहा है। यात्रियों का कहना है कि वे चिलचिलाती धूप में परेशान हैं। राजीव चौक, इफको चौक व हीरो होंडा चौक से रोजाना औसतन 20 हजार से अधिक यात्री रेवाड़ी, दिल्ली, सोहना, मेवात, राजस्थान, धारूहेड़ा, मानेसर आदि के लिए सफर करते हैं।

    राजीव चौक

    गुड़गांव. राजीव चौक पर दिल्ली की ओर जाने वाली सड़क पर बस क्यू शेल्टर के अभाव में बच्चों को गोद में लिए बस का इंतजार करती महिलाएं।

    नहीं मिल रही छांव... परेशान यात्रियों ने बताई अपनी व्यथा

    रेवाड़ी जा रहे यात्री राजेंद्र का कहना है गुड़गांव का नाम बड़ा और दर्शन छोटे होने वाली बात है। शहर का अपना बस स्टैंड तो बेकार है ही, मुख्य चौक-चौराहों पर खड़े होने के लिए कोई बस क्यू शेल्टर तक नहीं है। कड़ी धूप में खड़े होकर बसों का इंतजार करना पड़ता है।

    कड़ी धूप में बच्चों को गोद में लिए महिलाएं

    दिल्ली जा रहे रणजीत कहते हैं कि वे रोजाना दिल्ली जाते हैं, लेकिन दिल्ली के लिए जाने वाले यात्रियों के लिए अंडरपास की समस्या तो है ही, साथ ही गाड़ियों के रुकने का कोई निश्चित स्थान नहीं है। इससे दुर्घटना होने का अंदेशा रहता है।

    इफको चौक

    गुड़गांव. इफको चौक पर बस क्यू शेल्टर के अभाव में गर्मी व धूप से बचने के लिए के फ्लाईओवर की छाया में खड़े होकर बस का इंतजार करते यात्री।

    फ्लाईओवर के नीचे कर रहे बस का इंतजार

    गुड़गांव. राजीव चौक पर सोहना रोड की ओर धूप से बचने के लिए अंडरपास के शेड की छांव का सहारा लेते यात्री।

  • अंडरपास के लिए 9 हजार पेड़ों की दी बलि अब कड़ी धूप छुड़ा रही यात्रियों का पसीना
    +5और स्लाइड देखें
  • अंडरपास के लिए 9 हजार पेड़ों की दी बलि अब कड़ी धूप छुड़ा रही यात्रियों का पसीना
    +5और स्लाइड देखें
  • अंडरपास के लिए 9 हजार पेड़ों की दी बलि अब कड़ी धूप छुड़ा रही यात्रियों का पसीना
    +5और स्लाइड देखें
  • अंडरपास के लिए 9 हजार पेड़ों की दी बलि अब कड़ी धूप छुड़ा रही यात्रियों का पसीना
    +5और स्लाइड देखें
  • अंडरपास के लिए 9 हजार पेड़ों की दी बलि अब कड़ी धूप छुड़ा रही यात्रियों का पसीना
    +5और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sohna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×