सोहना

  • Home
  • Haryana News
  • Sohna
  • कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच 47 जगहों पर अता हुई नमाज, 76 ड्यूटी मजिस्ट्रेट तैनात
--Advertisement--

कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच 47 जगहों पर अता हुई नमाज, 76 ड्यूटी मजिस्ट्रेट तैनात

कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच शुक्रवार को जुमे की नमाज शहर में 47 से अधिक जगहों पर अता की गई। सभी जगहों पर पर्याप्त...

Danik Bhaskar

May 12, 2018, 02:10 AM IST
कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच शुक्रवार को जुमे की नमाज शहर में 47 से अधिक जगहों पर अता की गई। सभी जगहों पर पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। दूसरी ओर पुलिस अधिकारियों ने भी नजर बनाए रखी। जिला प्रशासन की ओर से 76 ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाए गए थे। हालांकि विवादित व पब्लिक प्लेस पर नमाज अता नहीं की गई।

डीसी और सीपी ने भी मामले पर रखी नजर

गुड़गांव में सार्वजनिक जगहों पर नमाज अता करने के विवाद मामले में प्रशासन और मुस्लिम समुदाय के लोगों के बीच गुरुवार को सहमति बनी थी। इसमें 47 ऐसी जगह चिह्नित की गई थीं, जहां समुदाय के लोग जुमे की नमाज अता कर सकते हैं। इनमें से करीब 23 जगह सार्वजनिक थीं। इसके अलावा लोगों ने अपनी सुविधा के अनुसार नमाज अता की। जुमे की नमाज को लेकर शुक्रवार को सभी संबंधित जोन के डीसीपी, एसपीपी और एसएचओ तक पूरे मामले में नजर बनाए थे। सभी जगहों पर 4 से लेकर 10 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए क्यूआरटी, बज्र वाहन समेत अन्य इंतजाम थे। सभी एरिया के एसीपी फील्ड में जाकर मामले पर नजर बनाए हुए थे। ऐसे में कड़े सुरक्षा इंतजाम होने के कारण कोई भी नमाज अता करने के दौरान सामने नहीं आया। जिला प्रशासन ने पूरे शहर में 76 ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए थे। डीसी विनय प्रताप सिंह और सीपी संदीप खिरवार ने भी नमाज अता करने के स्थानों का दौरा किया। उन्होंने कहा कि नमाज अता करने को लेकर यदि किसी को आपत्ति है तो वो अपनी आपत्ति जिला प्रशासन के पास दर्ज कराए।

प्रमुख जगह जहां हुई नमाज

शहर में 47 से अधिक जगहों पर नमाज अता की गई। प्रमुख जगहों में मौलसरी एवेन्यू, रैपिड मेट्रो स्टेशन, मार्बल मार्केट सिकंदरपुर, हुडा पार्किंग सेक्टर-29, इफको टावर सेक्टर-29, सेक्टर 44, सेक्टर 47 अपोजिट विजिलेंस ऑफिस, समृद्धि वाटिका गोल्फ कोर्स रोड सेक्टर- 55, बंगाली बोस सेक्टर-49, ईदगाह, अंजुमन मस्जिद, हमदर्द मानेसर, शंकर चौक की ग्रीन बेल्ट पर, सेक्टर-18, हीरो होंडा चौक, राजीव चौक समेत अन्य शामिल हैं।

प्रशासन की सहमति पर तय जगहों पर की नमाज

वादिज खान नेहरू युवा संगठन के चेयरमैन हाजी शहजाद खान ने बताया कि 100 जगहों नमाज अता की जाती थी, लेकिन प्रशासन की सहमति से 23 जगहों पर शुक्रवार काे नमाज अता की गई। इसके अलावा 24 मस्जिद, ईदगाह व मदरसों में नमाज अता की गई। प्रशासन व पुलिस की ओर पूरी सुरक्षा उपलब्ध कराई गई। किसी भी असामाजिक तत्व को नमाज के स्थान पर हंगामा नहीं करने दिया गया।

रमजान शुरू होने से पहले अता की गई जुमे की नमाज

रमजान महीना 17 मई से शुरू हो रहा है। रमजान से पहले जुमे पर शुक्रवार को शहर की सभी मस्जिदों में समुदाय के लोगों ने नमाज अता की। हजारों की संख्या में नमाजी शामिल हुए। सोहना चौक स्थित जामा मस्जिद, जामा मस्जिद के बाहर शामियाना लगाकर नमाज अता की गई।

गुड़गांव. सेक्टर-29 के मैदान में नमाज अता करते मुस्लिम समुदाय के लोग, इनसेट में तैनात पुलिस बल।

हिंदू संगठन का शिष्टमंडल जल्द डीसी से करेगा मुलाकात

गुड़गांव | संयुक्त संघर्ष समिति के तत्वावधान में एक बैठक हुई। इसमें सर्वसम्मति से पूर्व सरपंच नत्थू राम को संरक्षक का दायित्व सौंपा गया। समिति की कार्यकारिणी की बैठक में मुस्लिम समुदाय द्वारा खुले में सार्वजनिक स्थानों पर नमाज अता करने के विषय पर विचार किया गया। बैठक में इस बात पर चिंता जताई गई की प्रशासन द्वारा यह आश्वासन देने के बाद कि कुछ स्थानों पर ही स्वीकृति दी जाएगी, लेकिन नमाज पहले की तरह दर्जनों स्थानों पर अता की गई। बैठक में यह भी तय किया गया कि प्रशासन की आगामी कार्रवाई के बारे जानकारी लेने के लिए हिंदू समाज की भावनाओं से अवगत कराने के लिए एक शिष्टमंडल जिला प्रशासन से मिलेगा। फैसला लिया गया कि मुस्लिम समुदाय के सार्वजनिक स्थानों पर नमाज अता करने को सहन नहीं किया जाएगा। सार्वजनिक स्थानों पर नमाज अता सिर्फ 5-6 चिह्नित स्थानों पर ही की जानी चाहिए। इस अवसर पर चौधरी श्याम सिंह ठाकरान ,ब्रह्मप्रकाश कौशिक,पूर्व बार एसोसिएशन प्रधान कुलभूषण भारद्वाज व राजीव मित्तल उपस्थित रहे। बता दें कि पिछले दिनों वजीराबाद से ये विवाद शुरू हुआ था। खुले में नमाज पढ़ने को लेकर विरोध जताने के लिए हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों ने विरोध प्रदर्शन भी किया था, जिसमें सरकार से मांग की गई थी कि सार्वजनिक स्थानों पर नमाज अता नहीं होनी चाहिए, जिस पर प्रशासन ने दोनों समुदायों की लोगों से अलग अलग बात की जिसमें संघर्ष समिति ने 11 मई के जुमे की नमाज अता करने के लिए कुछ जगह तय करने पर प्रशासन के साथ सहमति जताई। यह भी सुनिश्चित किया कि 11 मई को हिंदू संघर्ष समिति कोई अवरोध पैदा नहीं करेगी।

सरकार पैदा कर रही है प्रदेश में सांप्रदायिक तनाव : डाॅ. अशोक तंवर

गुड़गांव|
प्रदेश सरकार समाज का ताना-बाना छिन्न-भिन्न करने में जुटी हुई ोहै। विभिन्न समुदायों में सामाजिक तनाव पैदा करने से भी बाज नहीं आ रही है। जिससे आपसी भाईचारा के बिगड़ने का अंदेशा पैदा हो गया है। सार्वजनिक स्थलों पर धार्मिक आयोजन होते रहे हैं, इसे नकारा नहीं जा सकता। मुस्लिम समुदाय को सार्वजनिक स्थलों पर नमाज अता करने के लिए रोके जाना गलत है। उक्त बात कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर ने शुक्रवार को सदर बाजार स्थित व्यापार मंडल के अध्यक्ष कन्हैयालाल पाहवा गोप के कार्यालय में आयोजित पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए कही। प्रदेश सरकार जानबूझकर सांप्रदायिक तनाव पैदा कर रही है। यह तनाव कभी जाट आंदोलन के रूप में तो कभी क्षत्रिय समाज तो कभी दलित के रूप में देखने को मिला। अब सरकार ने मुस्लिम समुदाय के सार्वजनिक स्थानों पर नमाज अता करने को लेकर कार्रवाई शुरू कराई हुई है। जिसे किसी भी सूरत में सहन नहीं किया जाएगा। समुदाय को न्याय दिलाने को वो कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाएंगे।

Click to listen..