• Home
  • Haryana News
  • Sohna
  • 100 से अधिक पेड़ उखड़े, 100 फीडर भी ब्रेकडाउन, 15 घंटे बिजली सप्लाई प्रभावित
--Advertisement--

100 से अधिक पेड़ उखड़े, 100 फीडर भी ब्रेकडाउन, 15 घंटे बिजली सप्लाई प्रभावित

मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात करीब 3 बजे आई धूल भरी आंधी से गुड़गांव व मेवात में भारी नुकसान हुआ। आंधी के कारण 100 से...

Danik Bhaskar | May 17, 2018, 02:10 AM IST
मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात करीब 3 बजे आई धूल भरी आंधी से गुड़गांव व मेवात में भारी नुकसान हुआ। आंधी के कारण 100 से ज्यादा बड़े पेड़ उखड़ गए। हालांकि कहीं भी किसी भी शख्स के हताहत होने की सूचना नहीं है। हवा की रफ्तार 90 किलोमीटर प्रति घंटा रही। जिससे कई टीन शेड भी उड़ गए। सबसे अधिक बुरा हाल बिजली सप्लाई का रहा। गुड़गांव सब अर्बन व रूरल क्षेत्र के 100 से अधिक फीडर ब्रेकडाउन हुए। ये फीडर करीब 12 से 15 घंटे तक ठीक नहीं हो सके। आंधी इतनी भीषण थी कि यदि दिन के समय आती तो कई जगह बड़ा हादसा हो सकता था। पुलिस कमिश्नर कार्यालय के ठीक सामने नीम का एक भारी भरकम पेड़ उखड़ गया, जिससे बुधवार दोपहर तक हटाने के लिए काफी मशक्कत करना पड़ी। इसके अलावा जिला उपायुक्त आवास व पीडब्ल्यूडी मंत्री के आवास के सामने भी पेड़ टूटकर गिर गए, जिसे जिला प्रशासन के कर्मचारियों ने बुधवार दोपहर तक हटाया। इसके अलावा गवर्नमेंट गर्ल्स कॉलेज की प्रिंसिपल के कार्यालय के सामने भी करीब 20 साल पुराना एक पेड़ टूटकर गिर गया, जिसे बुधवार शाम तक नहीं हटाया जा सका। इसके अलावा रोज गार्डन में भी चार भारी भरकम पेड़ गिरे, जिनमें से एक पेड़ एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन की तरफ गिरा, जिसे काफी मशक्कत के बाद हटाया गया।

बर्फ खाना रोड पर गिरा पेड़ हटाते फायर विभाग के कर्मी।

इधर, मेवात में भी आंधी से जनजीवन प्रभावित

नूंह | आंधी के कारण मेवात में कई स्थानों पर बिजली के तार टूट गए। रात करीब 3 बजे से लेकर कई फीडर दोपहर बाद तक बंद रहें। यहां तक कि पलवल से नूंह सप्लाई के रूप में आ रही हॉटलाइन भी क्षतिग्रस्त हो गई। पिनगवां पावर हाउस के अंतर्गत शिकरावा गांव आधा दर्जन बिजली के पोल व तार टूट गए। तेज हवा के चलते ही पूरे जिले के 42 फीडरों से बिजली गुल हो गई। जिले में 4 घंटे बिजली गुल होने के बाद विभाग की ओर से 7 बजे बिजली सप्लाई शुरू की गई। मरम्मत के कारण पूरे दिन बिजली रुक-रुककर आती रही। बिजली की आंख-मिचौनी के कारण जिले की आईटीआई, पॉलीटेक्निक कॉलेज, कंप्यूटर सेंटर व बिजली की छोटी दुकानों पर काम प्रभावित रहा। मेवात में आंधी के कारण बुधवार को जनजीवन प्रभावित रहा। लोगों को बिजली नहीं आने से अधिक परेशानी हुई।

बिजली नहीं मिलने पर भड़के ग्रामीण, जमालपुर-पंचगांव रोड पर ट्रैफिक जाम किया

पटौदी| बिजली सप्लाई नहीं होने से परेशान गांव मौकलवास के ग्रामीणों ने जमालपुर-पंचगांव रोड पर जाम लगाया। सूचना पर बिलासपुर थाना प्रबंधक के साथ बिजली विभाग के अधिकारियों ने क्षुब्ध लोगों का समझाने का प्रयास किया लेकिन डेढ़ घंटे तक ग्रामीण सड़क पर डटे रहे। इसके बाद बिजली सप्लाई को जल्द सुचारु करने के आश्वासन पर ग्रामीणों ने ट्रैफिक खोला। पिछले तीन दिन से मौकलवास गांव की ढ़ाणी में बिजली सप्लाई नहीं हो पा रही है। बिजली रात में ज्यादा कटती हैं। गर्मी का मौसम होने के कारण बिजली की कमी ज्यादा अखर रही है। गांव के राजबीर सिंह के अनुसार उन्होंने परेशान होकर रोड जाम किया है। जाम के दौरान लोगों ने अपनी गाड़ियों को सड़क के बीच खड़ा कर दिया और प्रशासन के खिलाफ ग्रामीणों ने नारेबाजी शुरू कर दी। ग्रामीणों ने दोपहर लगभग 12.15 बजे से 1.40 मिनट तक रोड बंद रखा। इतनी देर रोड जाम करने के कारण वाहनों की कतार सड़क के दोनों ओर लग गई। जाम के सूचना मिलने के बाद बिलासपुर थाना प्रबंधक अरूण कुमार तथा बिजली निगम के जेई प्रदीप कुमार मौके पर पहुंचे और जल्द बिजली सप्लाई कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने जाम खेला।

झाड़सा अंडरपास के पास सर्विस लेन पर उखड़ा पेड़।

स्ट्रीट लाइटें हुईं खराब, की गई मरम्मत

तेज आंधी के कारण सड़कों की स्ट्रीट लाइटें और मेन लाइन भी खराब हुईं। जिन्हें बुधवार सुबह होने पर विभाग के कर्मियों ने सही किया। कई जगह पर स्ट्रीट लाइटें आड़ी-तिरछी हो गईं, जबकि कई लाइटों के बल्ब तक टूट गए। सोहना रोड स्थित एक होर्डिंग का पोल भी सड़क पर आ गिरा, जिससे गुड़गांव से सोहना की ओर जाने वाला ट्रैफिक प्रभावित रहा। यह होर्डिंग बीएसएफ कैंप के नजदीक लगा था। होर्डिंग करीब 5 घंटे बाद दो क्रेनों की मदद से हटाया जा सका।

आंधी के कारण सिटीजन पार्क में टूटा पेड़।