• Home
  • Haryana News
  • Sohna
  • भाजपा के राज में हरियाणा में ना बिजली है, ना पानी है, कानून व्यवस्था का भी बुरा हाल : अभय चौटाला
--Advertisement--

भाजपा के राज में हरियाणा में ना बिजली है, ना पानी है, कानून व्यवस्था का भी बुरा हाल : अभय चौटाला

एसवाईएल के पानी को लेकर इनेलो का जेल भरो आंदोलन एक जनसभा बन कर रह गया। गोशाला मैदान में जनसभा की व्यवस्था की गई थी।...

Danik Bhaskar | Jul 11, 2018, 03:15 AM IST
एसवाईएल के पानी को लेकर इनेलो का जेल भरो आंदोलन एक जनसभा बन कर रह गया। गोशाला मैदान में जनसभा की व्यवस्था की गई थी। इस अवसर पर इनेलो और बसपा के नेताओं ने देश और प्रदेश में भाजपा सरकार पर जमकर प्रहार किया। नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने कहा कि आज हरियाणा में ना बिजली है और ना पानी है, कानून व्यवस्था का बुरा हाल है। महिलाओं को मान-सम्मान देने की बात करते हैं और विश्व में हमारा देश और देश में हमारा हरियाणा महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध में नंबर वन पर है। उन्होंने कहा कि हरियाणा को जलाने का काम भाजपा और कांग्रेस ने मिलकर किया और दोनों ही पार्टी के नेताओं ने एक सोची-समझी साजिश के तहत रोहतक, सोनीपत, झज्जर समेत पूरे हरियाणा को जलाने के साथ-साथ प्रदेश के लोगों का भाईचारा खराब करना चाहते थे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने से पहले चुनावों में देश और प्रदेश के लोगों से बहुत बड़े-बड़े वायदे किए लेकिन पूरा किसी भी वादे को नहीं किया। जिसके कारण हरियाणा का किसान-कामेरा, व्यापारी, कर्मचारी और आम आदमी सड़कों पर उतरा हुआ है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का निर्णय एसवाईएल को लेकर हरियाणा के हक में आ गया है और नहर के निर्माण की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है और हरियाणा का मुख्यमंत्री 19 माह बीत जाने के बाद भी प्रधानमंत्री मोदी से हरियाणा के हक की बात करने का समय नहीं लिया। इस मौके पर इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत, अनंतराम तंवर, विधायक केहर सिंह रावत, विधायक वेद नारंग विधायक, विधायक रणबीर गंगवा, विधायक जाकिर हुसैन, नसीब अहमद, पूर्व मंत्री मोहम्मद इलियास मौजूद थे।

12436 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करके छोड़ने की घोषणा

गौशाला ग्राउंड में एसवाईएल को लेकर जेल भरो आंदोलन के दौरान कार्यकर्ताओं का अभिवादन करते ईनेलो के नेता अभय चौटाला।

गुड़गांव. जेल भरो आंदोलन के दौरान उपस्थित महिलाएं।

प्रशासन ने की सांकेतिक गिरफ्तारी

जनसभा में इनेलो सुप्रीमो अभय चौटाला कार्यकर्ताओं से गिरफ्तारी देने की बार-बार अपील करते रहे। उन्होंने जिला प्रशासन से भी अपील की कि उनके कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करके जेल भेजने का काम करें, जिसके लिए वे भीषण गर्मी में बैठे हुए हैं। इतनी भारी भीड़ की गिरफ्तारी संभव नहीं थी, इसलिए प्रशासन ने आखिरी में गिरफ्तारी की औपचारिकताएं पूरी की। चौटाला के बोलने के बाद दोपहर 2.30 बजे एसीपी ट्रैफिक हीरा सिंह स्टेज पर आए और सभा में कुल 12436 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करके छोड़ने की घोषणा की। इसके बाद ड्यूटी मजिस्ट्रेट व तहसीलदार हितेंद्र ने कहा कि इतने लोगों को गिरफ्तार करना संभव नहीं है। इसलिए सभी को सांकेतिक तौर पर गिरफ्तार करके छोड़ा जाता है। इसके बाद चौटाला ने कहा कि इतनी भारी संख्या में लोगों को गिरफ्तार करने और जेल भेजने की सरकार व प्रशासन में हिम्मत नहीं है।

सुबह 10 बजे से लेकर दोपहर 3 बजे तक जाम रहा

भीषण गर्मी में आम लोग सड़कों पर ट्रैफिक जाम में पूरे दिन परेशान रहे

भास्कर न्यूज|गुड़गांव

एसवाईएल के पानी को लेकर जेल भरो आंदोलन में इनेलो और बसपा के कार्यकर्ताओं की तो गिरफ्तारी नहीं हुई। मगर नगरवासी पूरे दिन सड़कों पर ट्रैफिक जाम की गिरफ्त में रहे। आंदोलन में शामिल होने के लिए आस-पास के क्षेत्रों से आ रहे कार्यकर्ताओं के अव्यवस्थित काफिले से शहर के लगभग सभी मुख्य मार्ग सुबह 10 बजे से लेकर दोपहर 3 बजे तक जाम रहा। जाम में फंसे लोग भीषण गर्मी से परेशान रहे।

ट्रैफिक नियंत्रण के लिए पुलिस की तरफ से कोई व्यवस्था नहीं थी

कार्यक्रम में आए कार्यकर्ताओं ने अपनी कार को रोड के दोनों तरफ खड़ी कर रखी थी। इस कारण भी एमजी रोड और गुरुद्वारा रोड पर जाम की समस्या बनी रही। अपना बाजार से लेकर नगर निगम कार्यालय होते हुए बस अड्डे तक कार्यकर्ताओं ने रोड के किनारे कार खड़ी कर रखी थी। पार्किंग के लिए प्रशासन व पार्टी की तरफ से कोई व्यस्था नहीं की गई थी। लोगों ने सड़क के किनारे ही अपनी कार खड़ी कर रखी थी। यह कार्यक्रम लगभग 2.30 बजे तक चला। कार्यक्रम संपन्न होने तक कार्यकर्ताओं की कार रोड के किनारे खड़ी रही, जिसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ा। ट्रैफिक नियंत्रण के लिए पुलिस प्रशासन की तरफ से भी कोई व्यवस्था नहीं की गई थी।

बीच शहर में आंदोलन पड़ा भारी

इनेलो और बसपा को जेल भरो आंदोलन पुराने शहर के बीचों बीच स्थित गोशाला मैदान में था। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए मेवात, सोहना और बादशाहपुर से कार्यकर्ता सोहना रोड से होते हुए आ रहे थे। कार्यकर्ता कार और मोटरसाइकिल में सवार थे। इस कारण ट्रैफिक नियंत्रण में परेशानी हुई। इस रोड पर दोपहर तक राजीव चौक से लेकर बादशाहपुर तक जाम की समस्या बनी रही। इसी तरह से फर्रुखनगर रोड पर भी मोटरसाइकिलों के काफिले का दबाव रहा।

एसवाईएल को लेकर जेल भरो आंदोलन के लगे जाम में फंसे वाहन।