• Home
  • Haryana News
  • Sonipat
  • कनेक्शन कटने के दो घंटे बाद ही जमा कराया बिजली बिल
--Advertisement--

कनेक्शन कटने के दो घंटे बाद ही जमा कराया बिजली बिल

बिजली निगम की सख्ती का असर दिखाई दे रहा है। पिछले कई महीने से डिफाल्टर हो चुकी राई उपतहसील कार्यालय, सीएचसी...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:50 AM IST
बिजली निगम की सख्ती का असर दिखाई दे रहा है। पिछले कई महीने से डिफाल्टर हो चुकी राई उपतहसील कार्यालय, सीएचसी बढ़खालसा व पब्लिक हेल्थ के जैसे ही बिजली के कनेक्शन काटे गए तो अधिकारियों को पसीना आ गया। शनिवार को कनेक्शन कटने के दो घंटे बाद ही बिजली के सभी बकाया बिलों की अदायगी कर दी गई। एसडीओ प्रदीप सिंह ने कहा कि वे पिछले कई महीने से बिल जमा कराने का आग्रह कर रहे थे, लेकिन कोई सुनवाई नहीं की जा रही थी। अब कनेक्शन कटते ही खुद पैसे जमा कराने पहुंच गए।

राई उपतहसील कार्यालय का 50 हजार रुपए का बिजली बिल बकाया था। कई बार बिजली निगम की तरफ से नोटिस दिए गए, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। शनिवार को एसडीओ प्रदीप सिंह ने टीम के साथ जाकर राई उपतहसील कार्यालय का कनेक्शन काट दिया। बत्ती गुल होते ही पंखे तक बंद हो गए।

बिजली सप्लाई बंद हाेने की सूचना कर्मचारियों ने नायब तहसीलदार हवासिंह पूनिया को दी। नायब तहसीलदार हवासिंह पूनिया ने एसडीओ प्रदीप सिंह से बात की तो पता चला कि 50 हजार रुपए का बिल बकाया है।

नायब तहसीलदार ने अपने कर्मचारियों को तुरंत बिल जमा कराने का आदेश दिया। जैसे ही 50 हजार रुपए का बिल भरा गया तो बिजली निगम ने कनेक्शन जोड़ दिए।

सीएचसी बढ़खालसा का 24 हजार था बकाया

एसडीओ प्रदीप सिंह की टीम ने उपतहसील राई के बाद सीएचसी बढ़खालसा का भी कनेक्शन काट दिया। यहां 24 हजार का बिजली का बिल बकाया था। कनेक्शन कटते ही इन्होंने भी बिल की अदायगी कर दी। इसी प्रकार पब्लिक हेल्थ के जठेड़ी व भैरा बाकिपुर के ट्यूबवेल का सात लाख रुपए बकाया था। यहां भी कनेक्शन कटते ही पैसे जमा हो गए। इसी प्रकार राजकीय प्राथमिक पाठशाला असावरपुर का 29 हजार रुपए का बिल बकाया था। स्कूल का कनेक्शन भी काटा गया और बिल की रिकवरी हो गई।