शहरवासी श्री साईं बाबा की पालकी को बुलाकर पुण्य कमा रहे : अर्चना

Sonipat News - कबीरपुर रोड पर स्थित श्री साईं बाबा शिव दुर्गा मंदिर ट्रस्ट की अाेर से शहर में शाम चार से छह बजे तक श्री साईं बाबा...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:46 AM IST
Sonipat News - haryana news archaeological heritage of sri sai baba by the city dweller
कबीरपुर रोड पर स्थित श्री साईं बाबा शिव दुर्गा मंदिर ट्रस्ट की अाेर से शहर में शाम चार से छह बजे तक श्री साईं बाबा की पालकी यात्रा उत्साह से निकाली गई। श्रद्धालुओं ने इसमें हिस्सा लिया अाैर पालकी के अागे झूमे।

मंदिर ट्रस्ट के मुख्य ट्रस्टी अर्चना अमिताभ राठौर ने बताया कि श्री शिरडी साईं धाम सोनीपत से श्री साई पालकी नित्य प्रतिदिन सायं चार से छह बजे तक सोनीपत शहर मे निकाली जा रही है। उन्होंने बताया कि शहर के गणमान्य लोग श्री साई बाबा की पालकी को बुलाकर पुण्य कमा रहे है। अर्चना अमिताभ राठौर ने बताया कि साईं बाबा का शताब्दी वर्ष मनाया जा रहा है। इसमें पूरे वर्ष मंदिर ट्रस्ट विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर रहा है। इस अवसर पर रवि गांधी, यश राठौर, विक्की परूथी, पंकज यादव, अनिल चड्ढा, संजीव अग्रवाल, दीपक पाठक, नवीन कुच्छल, सुरेन्द्र मजोका, अनिल ध्यानी समेत अनेक साई भक्त मौजूद थे।

सोनीपत. शहर में साईं की पालकी निकालते श्रद्धालु और साईं की पालकी के आगे नाचती महिलाएं।

परमेश्वर के लिए हर जीव उसकी संतान, हर क्षण वह हमें देख रहा : तरुण

सोनीपत | चार मरला स्थित महावीर मंदिर में चल रहे श्रीमद् भागवत कथा में शुक्रवार को कथा वाचक आचार्य तरुण कृष्ण शांडिल्य ने परमेश्वर के होने का प्रमाण दिया। उन्होंने कहा कि ईश्वर को हम भले ही न देख पाएं, लेकिन ईश्वर हर क्षण हमें देख रहा होता है। उसकी दृष्टि हमेशा अपने भक्तों एवं सद्व्यक्तियों पर रहती है। अगर आप गौर करेंगे तो पाएंगे कि जीवन में कभी न कभी कठिन समय में ईश्वर स्वयं आकर आपकी सहायता कर चुके हैं। उस कठिन समय में आपके अंदर भक्ति की भावना उमड़ रही होगी और आप ईश्वर को याद कर रहे होंगे। शास्त्र कहता है कि ईश्वर के लिए संसार का हर जीव उसकी संतान के समान है। जो व्यक्ति उसके बनाए नियमों का पालन करते हुए जीवन यापन करता है ईश्वर उसकी सहायता अवश्य करते हैं। उन्होंने कहा कि इंसान जब सुख में अपने मन की चीजों को प्राप्त करता है तो कहता है कि मैंने कर दिया। वहीं जब उसके साथ कुछ गलत हो जाता है तो वह कहता है कि भगवान ने नाश कर दिया। इसलिए जीवन में जो भी घटित हो, अच्छा हो या बुरा हो सब कुछ उसी को समर्पित कर देना चाहिए। हम चोरी और गलत कार्य करके यह सोचते हैं कि हमें कोई देख नहीं रहा है, लेकिन उसकी दृष्टि से संसार में कुछ छिप नहीं सकता है। वह हर पल हर क्षण हमें देख रहा है। हमारे कर्मों के अनुसार ही हमें फल मिलता है। जैसे कि किसान खेती करता है तो मिट्‌टी जो बीज डालता है, वहीं फसल तैयार होती है। ठीक उसी प्रकार से हमारे द्वारा किए गए कर्मों के आधार पर ही परमपिता परमेश्वर सुख और दुख प्रदान करता है। संसार में ऐसी कई घटनाएं हैं जो ईश्वर के अस्तित्व और उसकी सहायता का प्रमाण देते हैं। आयोजक महिला सत्संग सभा की प्रधान उषा जौहर ने बताया कि शनिवार दोपहर डेढ़ बजे भंडारा के साथ महायज्ञ का समापन होगा।

Sonipat News - haryana news archaeological heritage of sri sai baba by the city dweller
X
Sonipat News - haryana news archaeological heritage of sri sai baba by the city dweller
Sonipat News - haryana news archaeological heritage of sri sai baba by the city dweller
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना