• Hindi News
  • Haryana
  • Sonipat
  • Sonipat News haryana news kailashpur adjacent to the city after getting 71 years of independence rs95 lakh tender for development

शहर से सटे कैलाशपुर को आजादी के 71 साल बाद मिला रास्ता, विकास के लिए Rs.95 लाख के टेंडर जारी

Sonipat News - शहर के सटे गांव कैलाशपुर को आजादी के 71 साल बाद अपना रास्ता मिल गया है। गांव के लोगों को रास्ते के लिए जिला प्रशासन से...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 03:42 AM IST
Sonipat News - haryana news kailashpur adjacent to the city after getting 71 years of independence rs95 lakh tender for development
शहर के सटे गांव कैलाशपुर को आजादी के 71 साल बाद अपना रास्ता मिल गया है। गांव के लोगों को रास्ते के लिए जिला प्रशासन से लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर तक का रास्ता रोकने को मजबूर होना पड़ा था। जिसके बाद आखिरकार जिला प्रशासन हरकत में आया और अब न केवल ग्रामीणों को अपना मूल रास्ता मिला है बल्कि विकास कार्यों की सौगात का तोहफा भी मिला है। नगर निगम द्वारा कैलाशपुर में विकास कार्यों के लिए 95 लाख रुपए से अधिक का टेंडर जारी किए गए हैं। इसमें फिरनी सहित 10 कार्य प्रस्तावित हैं।

शहर के सबसे पॉश सेक्टर-15 के पीछे कैलाशपुर गांव में छह महीने पहले तक आवागमन के लिए एक रास्ता तक नहीं था। ग्रामीण लंबे समय से उपेक्षा के शिकार हैं। सामाजिक न्याय मोर्चा के प्रदेश महासचिव नरेश कश्यप चिटाना ने ग्रामीणों के साथ गांव में सुविधाएं मुहैया कराने के लिए आंदोलन शुरू कर दिया। लगातार धरना-प्रदर्शन और अधिकारियों सहित मुख्यमंत्री तक ग्रामीणों ने अपना विरोध दर्ज कराया। इसके बाद ग्रामीणों ने पक्के रास्ते की मांग को लेकर ग्रीवेंसेज कमेटी पहुंच गए। चेयरमैन कृष्णलाल पंवार ने नगर निगम के अधिकारियों को विशेष निर्देश देते हुए सबसे पहले सड़क बनाने का निर्देश दिया। आज सड़क 95 प्रतिशत पूरी हो चुकी है।

अधिकारियों सहित मुख्यमंत्री तक ग्रामीण अपना विरोध दर्ज करा चुके हैं


सोनीपत. गांव कैलाशपुर के निवासी समस्याओं के बारे में जानकारी देेते हुए।

अब गांव की ये समस्याएं भी की जाएं दूर







इस तरह हुआ उपेक्षा का शिकार

ढाई हजार की आबादी वाले गांव कैलाशपुर को पहले गढ़ शहजानपुर पंचायत से जोड़ा गया था। गांव वालों को सदैव वोट के रूप में प्रयोग किया गया, लेकिन विकास कार्यों की तरफ ध्यान नहीं दिया गया। ग्रामीण रामपाल कश्यप, देवी सिंह, राजेंद्र कश्यप, जीतू राम, पूर्णमल ने बताया कि जुलाई 2015 में नगर परिषद से सोनीपत नगर निगम बना दिया गया। जिसमें कैलाशपुर को शामिल कर लिया गया। लेकिन नगर निगम द्वारा भी जब कुछ नहीं किया गया तो ग्रामीणों ने विरोध शुरू किया गया।

17 लाख रुपए से बनेगी फिरनी

नगर निगम द्वारा गांव में फिरनी सहित 10 कार्यों का खाका तैयार कर टेंडर जारी किया गया है। जिस पर 95 लाख रुपए से अधिक खर्च किया जाएगा। इसमें मुख्य रूप से गांव की अधूरी फिरनी का निर्माण कार्य है, जिस पर करीब 17 लाख रुपए खर्च किया जाएगा। इसके अलावा पानी की निकासी, सफाई व्यवस्था और श्मशान घाट का निर्माण होगा।

X
Sonipat News - haryana news kailashpur adjacent to the city after getting 71 years of independence rs95 lakh tender for development
COMMENT