हरियाणा की पूनम और पंजाब के देवेंद्र ने जीता गोल्ड

Sonipat News - देश के शीर्ष जैवलिन थ्रोअर की खोज के रूप में दूसरी राष्ट्रीय ज्वलीन थ्रो चैंपियनशिप के दौरान देश के उभरते एथलीटों...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 08:35 AM IST
Sonipat News - haryana news poonam of haryana and devendra of punjab won gold
देश के शीर्ष जैवलिन थ्रोअर की खोज के रूप में दूसरी राष्ट्रीय ज्वलीन थ्रो चैंपियनशिप के दौरान देश के उभरते एथलीटों के बीच रोमांचक मुकाबले यहां देखने को मिले। जिसमें सीनियर वर्ग में जहां पंजाब के एशियाई चैंपियनशिप के मेडलिस्ट देवेंद्र सिंह तथा महिला वर्ग में हरियाणा की पूनम ने गोल्ड मेडल हासिल किया। वहीं प्रतियोगिता का आकर्षण खींचा उत्तर प्रदेश के युवा रोहित यादव ने। जिसने 81 मीटर थ्रो कर नया रिकाॅर्ड कायम किया।

प्रतियोगिता में विभिन्न प्रदेशों के करीब 150 बेस्ट ज्वलीन थ्रोअर हिस्सा लिया। खिलाड़ियों के टैलेंट पर नजर रखने के लिए एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से नियुक्त जर्मन कोच युआ होन भी अपनी टीम के साथ यहां पहुंचे थे। प्रतियोगिता सुबह करीब साढ़े सात बजे शुरू हो गई। पहले दौर में क्वालीफाइंग मुकाबले आयोजित किए। इस मौके पर हरियाण एथलेटिक्स एसोसिएशन के महासचिव राजकुमार मिटान, एथलेटिक्स कोच वजीर सिंह, राजीव खत्री, विकास सिंह सहित खिलाड़ी एवं कोच आदि उपस्थित थे।

अपनी जगह दूसरे को भेजा, पकड़े जाने के डर से भागा साथी : नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी की टीम की ओर से राष्ट्रीय ज्वलीन थ्रो प्रतियोगिता के दौरान उस गजब हलचल हो गई जब अपना इंवेंट करने के बाद नोटिस मिलने के बाद बजाए खुद अपना टेस्ट दिया जाए, एक एथलीट ने अपने साथी को टैस्ट के लिए नमूना देने के लिए भेज दिया। वहां फार्म प्रक्रिया और अन्य जांच के दौरान जैसे ही टीम सदस्यों को कुछ गड़बड़ लगी और कुछ तकनीकी सवाल किए और भेद खुलने के डर के कारण वह टेस्ट कक्ष से भागते हुए साई सेंटर से भी चंपत हो गया। नाडा टीम ने प्रतियोगिता के दौरान की एथलीटों के सैंपल लिए हैं। इस संदर्भ में हरियाणा एथलेटिक्स एसोसिएशन के महासचिव राजकुमार मिटान का कहना है कि इस बाबत अगर नाडा की ओर से अधिकारिक तौर पर शिकायत की जाती है तो संबंधित एथलीट के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। जिसमें दो साल का बैन भी संभव है।

प्रतियोगिता के इस प्रकार रहे परिणाम

पुरुष

देवेन्द्र सिंह, पंजाब, 74.28 मीटर प्रथम

विपिन पंवार, दिल्ली, 70.83 मीटर

अमित दहिया, हरियाणा, 68.21

अंडर 20

ऋषभ नेहरा, उत्तर प्रदेश, 71.84 मीटर

आशीष चौधरी, उत्तर प्रदेश,71.39

विजय लाकरा, झारखंडा, 69.71

अंडर 18

रोहित यादव, उत्तर प्रदेश, 81.73 मीटर

नंदकिशोर सिंह, उत्तर प्रदेश,73.1 मीटर

यशवीर सिंह, हरियाणा, 71.54 मीटर

अंडर 16

लक्की नेगी, दिल्ली, 67.61

जय कुमार, उत्तर प्रदेश, 67.36

संतोष यादव,उत्तर प्रदेश, 59.99

महिला वर्ग

पूनम, हरियाणा 49.53 मीटर

मोनिका, हरियाणा 42.46 मीटर

शिल्पा रानी, हरियाणा 39.89 मीटर

अंडर 20

अंजली कुमारी, बिहार, 44.84 मीटर

काजल परमार, गुजरात, 42.38 मीटर

संज्जना चाैधरी, राजस्थान, 41.87 मीटर

अंडर 18 गर्ल्स

ज्योति, हरियाणा, 44.86 मीटर

कोमल अरोड़ा, राजस्थान, 44.77

नेहा, गुजरात, 41.74 मीटर

अंडर 16 गर्ल्स

धूर्वी परमार, गुजरात, 34.79 मीटर

तनु सिंह, उत्तर प्रदेश, 33.2

आरजु, उत्तर प्रदेश, 29.74

भास्कर न्यूज | सोनीपत

देश के शीर्ष जैवलिन थ्रोअर की खोज के रूप में दूसरी राष्ट्रीय ज्वलीन थ्रो चैंपियनशिप के दौरान देश के उभरते एथलीटों के बीच रोमांचक मुकाबले यहां देखने को मिले। जिसमें सीनियर वर्ग में जहां पंजाब के एशियाई चैंपियनशिप के मेडलिस्ट देवेंद्र सिंह तथा महिला वर्ग में हरियाणा की पूनम ने गोल्ड मेडल हासिल किया। वहीं प्रतियोगिता का आकर्षण खींचा उत्तर प्रदेश के युवा रोहित यादव ने। जिसने 81 मीटर थ्रो कर नया रिकाॅर्ड कायम किया।

प्रतियोगिता में विभिन्न प्रदेशों के करीब 150 बेस्ट ज्वलीन थ्रोअर हिस्सा लिया। खिलाड़ियों के टैलेंट पर नजर रखने के लिए एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से नियुक्त जर्मन कोच युआ होन भी अपनी टीम के साथ यहां पहुंचे थे। प्रतियोगिता सुबह करीब साढ़े सात बजे शुरू हो गई। पहले दौर में क्वालीफाइंग मुकाबले आयोजित किए। इस मौके पर हरियाण एथलेटिक्स एसोसिएशन के महासचिव राजकुमार मिटान, एथलेटिक्स कोच वजीर सिंह, राजीव खत्री, विकास सिंह सहित खिलाड़ी एवं कोच आदि उपस्थित थे।

अपनी जगह दूसरे को भेजा, पकड़े जाने के डर से भागा साथी : नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी की टीम की ओर से राष्ट्रीय ज्वलीन थ्रो प्रतियोगिता के दौरान उस गजब हलचल हो गई जब अपना इंवेंट करने के बाद नोटिस मिलने के बाद बजाए खुद अपना टेस्ट दिया जाए, एक एथलीट ने अपने साथी को टैस्ट के लिए नमूना देने के लिए भेज दिया। वहां फार्म प्रक्रिया और अन्य जांच के दौरान जैसे ही टीम सदस्यों को कुछ गड़बड़ लगी और कुछ तकनीकी सवाल किए और भेद खुलने के डर के कारण वह टेस्ट कक्ष से भागते हुए साई सेंटर से भी चंपत हो गया। नाडा टीम ने प्रतियोगिता के दौरान की एथलीटों के सैंपल लिए हैं। इस संदर्भ में हरियाणा एथलेटिक्स एसोसिएशन के महासचिव राजकुमार मिटान का कहना है कि इस बाबत अगर नाडा की ओर से अधिकारिक तौर पर शिकायत की जाती है तो संबंधित एथलीट के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। जिसमें दो साल का बैन भी संभव है।

X
Sonipat News - haryana news poonam of haryana and devendra of punjab won gold
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना