पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Kharkhoda News Haryana News When The Order Reached The Chc For The Injured Treatment The Lock Was Found

जब घायल इलाज के लिए फरमाना सीएचसी पहुंचा तो लटका मिला ताला

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
फरमाणा के ग्रामीण जब एक सड़क दुर्घटना में घायल युवक को प्राथमिक उपचार दिलाने के लिए पीएचसी, फरमाणा में पहुंचे तो उन्हें वहां पर ताला लटका हुआ मिला। इससे ग्रामीणों को काफी हैरानी हुई। मजबूरी में ग्रामीणों को घायल का इलाज निजी अस्पताल में करवाना पड़ा। फरमणा निवासी योगेश का कहना है कि उसका साथी अनिल मोटरसाइकिल से गिरकर घायल हो गया। जिसे वह पीएचसी, फरमाणा में इलाज के लिए लेकर पहुंचा, लेकिन पीएचसी, फरमाणा के दरवाजों पर दो बजे ही ताले लगे हुए थे। जिसके चलते उन्हें मजबूरी में निजी हाॅस्पिटल जाना पड़ा। योगेश का कहना है कि ऐसा बहुत बाहर पहले भी हो चुका है कि ग्रामीण स्वास्थ्य सेवाएं पाने के लिए यहां पहुंचे और ताला लगा मिला हो। यहां तक कि दवाएं तक देने में स्वास्थ्य कर्मी ग्रामीणों से ना नुकर करते रहते हैं। पीएचसी पर कहने को तो चिकित्सक सहित करीब 9 स्टाफ सदस्य तैनात हैं, लेकिन जिस प्रकार से दोपहर में ही पीएचसी पर ताला लगाकर सभी चल बनते हैं। उससे साफ तौर पर अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां पर ग्रामीणों को ठीक से स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया नहीं करवाई जा रही हैं। वहीं मामला आला अधिकारियों के संज्ञान में भी लाया गया है, जिस पर अधिकारी कड़ी कार्रवाई की बात कह रहे हैं।

एसएमओ डाॅ. मीनाक्षी शर्मा ने कहा कि समय से पहले पीएचसी को बंद कर देना गैर जिम्मेदाराना है, जिसे लेकर सभी गैरहाजिर स्टाफ सदस्यों को पत्र जारी कर लिखित में स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।

खरखौदा. फरमाणा की पीएचसी में दरवाजे पर लगा ताला।

खबरें और भी हैं...