Hindi News »Haryana »Sonipat» एसपी ने मकान मालिकों को किराएदारों की आईडी पुलिस थानों में जमा कराने के दिए आदेश

एसपी ने मकान मालिकों को किराएदारों की आईडी पुलिस थानों में जमा कराने के दिए आदेश

किराएदारों को किराए पर मकान देते समय मकान मालिक कोई सावधानी नहीं बरत रहे हैं। पुलिस प्रशासन के बार-बार अनुरोध करने...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 02:55 AM IST

किराएदारों को किराए पर मकान देते समय मकान मालिक कोई सावधानी नहीं बरत रहे हैं। पुलिस प्रशासन के बार-बार अनुरोध करने पर भी रिजल्ट जीरो है। कुंडली व राई थाना में किराएदारों का कोई रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है, जिससे प्रतीत होता है कि मकान मालिक किस कदर किराएदारों को लेकर सजगता बरत रहे हैं।

अकेले कुंडली व राई में एक लाख से ज्यादा किराएदार रह रहे हैं, लेकिन पुलिस में उनका कोई रिकार्ड नहीं है। ऐसे में एसपी सतेंद्र गुप्ता ने अब हर थाना में किराएदारों की आईडी जमा कराने के आदेश दिए हैं। औद्योगिक क्षेत्र कुंडली, राई व बहालगढ़ के साथ लगते गांव व काॅलोनी में मकान किराए पर देने का बिजनेस काफी फल-फूल रहा है। अकेले कुंडली औद्योगिक क्षेत्र से जुड़े कुंडली गांव व प्याऊ मनियारी में करीब 30 हजार लोग किराए के मकान में रहते हैं। किराए के भवनों में रहने वाले अपने राज्य में कोई चोरी करके आए है या अपराधी प्रवृत्ति के हैं, इनके रिकार्ड से मकान मालिकों को कोई लेना-देना नहीं है। इसी वजह से कुंडली व राई थाना पुलिस के बार-बार आग्रह पर भी मकान मालिक किराएदारों की सूची जमा नहीं करा रहे हैं। जिस कारण कोई भी अपराध होने पर प्रवासी मजदूरों को तलाशने में काफी समस्या का सामना करना पड़ता है।

औद्योगिक क्षेत्र राई व कुंडली में एक लाख से ज्यादा किराएदार

मकान मालिकों को किया जा रहा जागरूक

सरकार व प्रशासन द्वारा समय-समय पर टीवी, न्यूज पेपर पर विज्ञान जारी कर किराएदारों की पूरी जानकारी, उनका बायोडाटा व पहचान पत्र संबंधित पुलिस थाने में दर्ज कराने का आग्रह किया जा रहा है। इसके बावजूद लोग जागरूक नहीं हो रहे हैं।

औद्योगिक क्षेत्रों में तेजी से बढ़ रहा है क्राइम : कुंडली व राई क्षेत्र से प्रवासी लोगों की करीब 60-70 से अधिक महिलाएं लापता हैं। जब थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचते हैं तो सबसे पहले शक पड़ोस के कमरे में रहने वाले युवक पर जताया जाता है। युवक भी उसी दिन से गायब होता है, लेकिन न तो मकान मालिक के पास उसकी कोई पहचान होती है और न ही पुलिस थाने में उसका कोई रिकार्ड। इसी वजह से पुलिस को भी अपराधी तक पहुंचने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। कुंडली क्षेत्र में तो चोरी व मर्डर की घटनाओं में भी किराएदार शामिल पाए गए हैं। कुंडली थाना प्रभारी प्रवीन कुमार, राई थाना प्रभारी ऋषिकांत ने कहा कि वे बार-बार ग्रामीणों को जागरूक कर रहे हैं, लेकिन लोग किराएदारों के प्रति काफी लापरवाही बरत रहे हैं, जिससे पुलिस थानों में किराएदारों का रिकार्ड नहीं बन पा रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sonipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×