• Hindi News
  • Haryana
  • Sonipat
  • दुष्यंत का दावा: दवा डेंटल विभाग द्वारा बिना लाइसेंस वाली कंपनी जीके ट्रेडिंग व रिद्धि सिद्धी से खरीदी गई
--Advertisement--

दुष्यंत का दावा: दवा डेंटल विभाग द्वारा बिना लाइसेंस वाली कंपनी जीके ट्रेडिंग व रिद्धि-सिद्धी से खरीदी गई

Sonipat News - राजधानी हरियाणा | इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने एक बार फिर सरकार को घेरा है। उन्होंने दवा खरीद मामले में सरकार पर...

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2018, 04:30 AM IST
दुष्यंत का दावा: दवा डेंटल विभाग द्वारा बिना लाइसेंस वाली कंपनी जीके ट्रेडिंग व रिद्धि-सिद्धी से खरीदी गई
राजधानी हरियाणा | इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने एक बार फिर सरकार को घेरा है। उन्होंने दवा खरीद मामले में सरकार पर अपने चहेतों को बचाने का आरोप लगाते हुए कहा कि इसकी कराई गई प्रारंभिक जांच में लीपा-पोती की गई है। वे इस मामले को संसद में उठाएंगे। मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए आरटीआई से मिले आंकड़ों दिखाए। कहा, सरकार को इसका जवाब देना पड़ेगा। प्रदेश मेंं तीन वर्षों के दौरान एनएचएम के तहत दवा और अन्य उपकरणों की खरीद के लिए 21 जिलों में 808 करोड़ रुपए की खरीद की गई है। जबकि स्वास्थ्य मंत्री दावा कर रहे थे कि सिर्फ 40 करोड़ की खरीद में 300 करोड़ का घोटाला कैसे हो गया। सांसद ने कहा कि हिसार जांच कमेटी की रिपोर्ट में दिखाया गया है कि हिसार में कोई भी ड्रग हिसार के स्वास्थ्य विभाग के द्वारा अनधिकृत कंपनी से नहीं खरीदी गई, जबकि उनके पास दवा के सैंपल हैं। उन्होंने दावा किया कि यह दवा डेंटल विभाग द्वारा बिना लाइसेंस वाली कंपनी जीके ट्रेडिंग व रिद्धि-सिद्धी से खरीदी है। चौटाला ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा को पत्र लिखकर आग्रह किया कि मामले की कैग से ऑडिट करवाए और इस घोटाले की सीबीआई जांच भी हो।

तीन कंपनियों के बिल, टेंडर और चैक पर एक व्यक्ति की लिखाई

इनेलो सांसद ने जांच कमेटी द्वारा फर्जी बताई कंपनियों के बिल, टेंडर व चैक की लिखाई की फोरेसिंक जांच भी दिखाई। जांच कमेटी ने कृष्णा इंटरप्राइजिज को दवा विक्रेता कंपनी माना था, लेकिन जीके व सालासर कंपनी को फर्जी बताया था। उन्होंने दावा किया कि जांच में हैंडराइटिंग एक्सपर्ट ने रिपोर्ट में बताया कि कृष्णा इंटरप्राइजिज और जीके ट्रेडिंग कंपनी के बिल, टेंडर एक ही व्यक्ति कनिष्क द्वारा तैयार किए गए हैं जोकि हरियाणा फार्मेसी काउंसिल के चेयरमैन का बेटा है।

सांसद चौटाला भ्रमित व्यक्ति, जिनको स्वयं नहीं पता वह क्या कह रहे हैं और क्या कहना चाहते हैं: िवज

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि यदि दुष्यंत चौटाला उनके कथित आरोपों के दस्तावेज उपलब्ध करवाते हैं तो उसकी पूरी जांच करवाई जाएगी। किसी भी दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा। विज ने सांसद द्वारा लगाए गए आरोपों और सवालों का जवाब देते हुए कहा कि इनेलो सांसद चौटाला एक भ्रमित व्यक्ति है, जिनको स्वयं नहीं पता कि वह क्या कह रहे हैं और क्या कहना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि दुष्यंत हर बार अलग-अलग बयान दे रहे हैं। वह कभी लोकल परचेज में 100 करोड़ रुपए का घोटाला बता रहे हैं, तो कभी एनएचएम में 300 करोड़ का। इसलिए उनकी बातों पर विश्वास नहीं किया जा सकता है, इसके बावजूद भी यदि वह सरकार को दस्तावेज उपलब्ध करवाएंगे तो उसकी पूरी जांच करवाई जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री ने कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला के उस बयान को हास्यास्पद बताया। कहा कि प्रधानमंत्री से बहस के लिए एक स्तर होना चाहिए लेकिन सुरजेवाला का कोई मानसिक एवं राजनैतिक स्तर नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ही अपने करीब 60 वर्ष के शासन के दौरान न केवल खेती को बर्बाद किया है बल्कि किसानों को खुदकुशी करने के लिए मजबूर कर दिया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने जब किसानों को उनकी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य को डेढ़ गुणा किया है तो कांग्रेस को यह हजम नहीं हो पा रहा है।

बोले- दुष्यंत चौटाला उनके कथित आरोपों के दस्तावेज उपलब्ध करवाते हैं तो उसकी पूरी जांच करवाई जाएगी।

दुष्यंत का दावा: दवा डेंटल विभाग द्वारा बिना लाइसेंस वाली कंपनी जीके ट्रेडिंग व रिद्धि-सिद्धी से खरीदी गई
X
दुष्यंत का दावा: दवा डेंटल विभाग द्वारा बिना लाइसेंस वाली कंपनी जीके ट्रेडिंग व रिद्धि-सिद्धी से खरीदी गई
दुष्यंत का दावा: दवा डेंटल विभाग द्वारा बिना लाइसेंस वाली कंपनी जीके ट्रेडिंग व रिद्धि-सिद्धी से खरीदी गई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..