• Hindi News
  • Haryana News
  • Sonipat
  • रैक से एफसीआई का गेहूं चोरी होने के बाद गोहाना जंक्शन की सुरक्षा अब सोनीपत आरपीएफ के हवाले
--Advertisement--

रैक से एफसीआई का गेहूं चोरी होने के बाद गोहाना जंक्शन की सुरक्षा अब सोनीपत आरपीएफ के हवाले

गोहाना में रैक से एफसीआई का गेहूं चोरी होने के बाद रेलवे ने बड़ा एक्शन लिया है। गोहाना रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा का...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:45 AM IST
गोहाना में रैक से एफसीआई का गेहूं चोरी होने के बाद रेलवे ने बड़ा एक्शन लिया है। गोहाना रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा का अधिकार बदल दिया गया है। पहले यह स्टेशन रोहतक आरपीएफ इंचार्ज के अंडर आता था।

घटना के बाद यह जिम्मा रोहतक से छीन लिया गया और सोनीपत आरपीएफ को जिम्मेदारी सौंप दी गई है। गोहाना के लिए 11 आरपीएफ जवानों की तैनाती के आदेश भी जारी कर दिए गए। इसमें आठ को तत्काल प्रभाव से पोस्टिंग भी दे दी गई है। कार्यक्षेत्र बढ़ने से सोनीपत इंचार्ज के लिए व्यवस्था को पूरी तरह से संभाल पाना चुनौती है। सोनीपत-गोहाना-जींद रेल लाइन पर गोहाना तक चार रेलवे स्टेशन हैं। प्रतिदिन तीन जोड़ी रेलगाड़ियाें में हजारों यात्री सफर करते हैं। आरपीएफ सोनीपत की स्थापना मूलरूप से दिल्ली-अंबाला रेल लाइन के लिए की गई थी। जो दिल्ली में हरियाणा बाॅर्डर से सांदल कलां तक करीब 22 किलोमीटर के एरिया की सुरक्षा को संभालती थी। दिसंबर 2015 में सोनीपत-गोहाना-जींद रेल लाइन शुरू होने से इनके कार्यक्षेत्र में बढ़ोतरी हो गई, लेकिन स्टाफ नहीं बढ़ाया गया। हालांकि उसी व्यवस्था में आरपीएफ द्वारा कार्य भी किया जा रहा है।

व्यवस्था

स्टाफ कम होने के बावजूद सोनीपत आरपीएफ के बेहतर प्रदर्शन से बढ़ा कद, रेलवे ने कार्यक्षेत्र में की बढ़ोतरी

यात्रियों की है अच्छी संख्या 11 कर्मियों की तैनाती होगी

गोहाना जंक्शन भी दो प्रमुख रेल लाइनों से जुड़ा है। इसमें एक तो सोनीपत-गोहाना है जबकि दूसरा नेटवर्क रोहतक-गोहाना-पानीपत है। इस लिहाज से यहां पर यात्रियों की अच्छी संख्या है। सुरक्षा के लिए पहले इस स्टेशन को रोहतक आरपीएफ से जोड़ा गया था, लेकिन सही सुरक्षा नहीं दे पाने के कारण उनसे वापस लेकर सोनीपत को सौंप दिया गया है। गोहाना जंक्शन के लिए 11 सुरक्षा कर्मियों की तैनाती का आश्वासन दिया गया है, जिसमें आठ कर्मियों को तैनात कर दिया गया है। तीन की शीघ्र ही तैनाती की जाएगी।

35 सुरक्षाकर्मी पहले से हैं

सोनीपत आरपीएफ थाना के अधीन 35 सुरक्षा कर्मी तैनात हैं, जिसमें करीब 11 कर्मी गन्नौर और सांदल कलां व राजलूगढ़ी में तैनात हैं। शेष सोनीपत व राठधना की तरफ देखरेख सहित ट्रेनों में गश्त का कार्य करते हैं। इन कर्मियों के अधीन करीब 22 किलोमीटर का एरिया आता है।

तीन ट्रेनों में हजारों यात्री : सोनीपत-गोहाना-जींद के बीच प्रतिदिन तीन जोड़ी ट्रेन चलती हैं। जो अगल-अलग समय पर आवागमन करती हैं। इन ट्रेनों में प्रतिदिन हजारों की संख्या में यात्री आवागमन करते हैं। जिन्हें सुरक्षा का आभास होगा।

गोहाना जंक्शन की सुरक्षा संभालेंगे


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..