--Advertisement--

सूर्योपासना का महापर्व छठ : अाज नहाय खाय कद्दू भात से होगा शुरू

सूर्योपासना का महापर्व छठ आज नहाय खाय कद्दू भात के साथ शुरू होगा। पहला अर्घ्य 12 की शाम को अस्ताचल सूर्योपासना से...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 03:51 AM IST
Sonipat - maha parveh chhath of suryapasana azad naahi khay pumpkin rice will start from
सूर्योपासना का महापर्व छठ आज नहाय खाय कद्दू भात के साथ शुरू होगा। पहला अर्घ्य 12 की शाम को अस्ताचल सूर्योपासना से खरना करेंगे। कार्तिक मास में चतुर्थी से सप्तमी तिथि तक चलने वाला यह पर्व नहाय-खाय से शुरू होता है। छठ को लेकर शहर के बाजारों में तो रौनक रही ही साथ ही घाटों की व्यवस्था देखने के लिए मुख्यमंत्री मीडिया सलाहकार राजीव जैन शनिवार को पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया। ताकि छठ पर्व से जुड़े लोगों को बेहतर सेवाएं मिल सके। वहीं दिन में छठ की व्रतधारी (परवइतिन) घरों की साफ-सफाई में जुट गई हैं।

सबसे अहम पूजा होती है खरना : छठ पर्व में खरना सबसे अहम पूजा होती है। इस दिन से महिलाओं का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू होता है, जो उगते सूर्य को अर्घ अर्पित करने के बाद समाप्त होता है। इस दिन व्रती महिलाएं उपवास कर शाम में पूरे विधि-विधान से रोटी और गुड़ से बनी खीर का प्रसाद तैयार करती हैं। और भगवान भास्कर की अराधना कर प्रसाद ग्रहण करती हैं

छठ पर्व पर घाटों की तैयारियों का जायजा लेते राजीव जैन व अन्य।

ऐसे की जाती है पूजा-अर्चना

छठ पर्व की शुरुआत नहाय-खाय से होती है, लिहाजा इस दिन घर की पूरी तरह से सफाई कर स्वच्छ होकर व्रतधारी शुद्ध शाकाहारी भोजन बनाते हैं। इस पर्व मेंं पवित्रता का खास खयाल रखा जाता है। व्रती महिलाएं स्नान और पूजन-अर्चना के बाद कद्दू और चावल के बने प्रसाद को ग्रहण करती हैं।

अस्ताचलगामी सूर्य को दिया जाता है अर्घ्य : छठ पर्व के तीसरे दिन सूर्य षष्ठी को पूरे दिन व्रतधारी उपवास रखकर शाम के समय डूबते हुए सूर्य को अर्घ देते हैं।

उदीयमान सूर्य को प्रात: अर्घ्य देने की परंपरा : चौथे दिन सूर्य निकलने से पहले ही घाट पर पहुंचना होता है और उगते हुए सूर्य को अर्घ दिया जाता है। इसके बाद घाट पर छठ माता को प्रणाम कर उनसे संतान, सुख, समृद्वि का वरदान मांगा जाता है। अर्घ देने के बाद व्रतधारी घर लौटकर प्रसाद बांट कर फिर खुद भी प्रसाद खाकर व्रत खोलती हैं।

यह होती है पूजन-सामग्री


मंगलवार से शुरू पूजा-अर्चना





निगम की ओर से बनाए गए हैं छठ घाट

सोनीपत | मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने शनिवार को नगर निगम के अधिकारियों के साथ शहर के विभिन्न हिस्सों में बनाए गए छठ घाटों का मुआयना किया। उन्होंने छठ पूजा की तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही अधिकारियों को निर्देश दिया कि इन छठ घाटों पर साफ-सफाई के साथ-साथ तमाम इंतजाम दुरुस्त होने चाहिए। उन्होंने बताया कि 13 व 14 नवंबर को छठ पूजा के लिए शहर के कबीरपुर व बाबा काॅलोनी में नगर निगम की ओर से दो घाटों का निर्माण कराया गया है। इसके बाद वे बाबा काॅलोनी पहुुंचे, जहां बनाए गए घाट की सफाई व पानी की व्यवस्था को लेकर अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि छठ घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इस मौके पर पूर्व पार्षद मनोज शर्मा, नवीन कुंडू, नगर निगम के एक्सईन राधेश्याम शर्मा, एमई सतीश, जेई मंजीत के साथ ही पूर्वी जन कल्याण समिति की ओर से प्रधान पूूनम राय, सचिव प्रभात चौधरी, संजय मिश्रा, संजय ठेकेदार सहित अन्य लोग मौजूद थे।

X
Sonipat - maha parveh chhath of suryapasana azad naahi khay pumpkin rice will start from
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..