पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अाैपचारिकताअाें में सिमटा जिलास्तरीय उत्सव

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग की ओर से संचालित जिला स्तरीय सांस्कृतिक उत्सव प्रतिभागियों के लिए महज एक रस्म अदायगी आयोजन साबित हुआ। इसमें महज पांच स्पर्धा ही हो सकी, इसमें सभी टीमों की संख्या एक प्रतियोगिता को संचालित करने के लिहाज से पूरी नहीं थी। व्यस्था में विफलता की बात महज यहां तक सीमित नहीं थी। कहने को तो यह सांस्कृतिक उत्सव था लेकिन इसमें माइक तक की व्यवस्था नहीं की गई थह।

प्रतिभागियों को भाषण देने से लेकर नृत्य तक में बिना किसी साउंड एवं माइक के प्रस्तुति देनी पड़ी। सुबह कार्यक्रम का शुभारंभ डीएसओ निर्मला ने किया। जबकि इसके लिए मंच संचालन मंथन आर्ट ग्रुप के दीपक कुमार ने किया। इस मौके पर जिला कुश्ती कोच राज सिंह छिक्कारा, जिला फुटबाल कोच सुनील कुमार, पूर्व वाईएसओ जसपाल कौर सहित काफी संख्या में गणमान्य मौजूद रहे।

सोनीपत. उत्सव में अपनी प्रस्तुति देते सीआए काॅलेज के प्रतिभागी।

कई इंवेट में नहीं हुई प्रतियोगिता
उम्मीद थी कि यह सांस्कृतिक उत्सव अपनी छाप छोड़ेगा, लेकिन हुआ इसें उलट। समारोह में 18 इंवेट रखे गए थे, लेकिन खिलाड़ियों ने आधे में भी प्रतिभाग नहीं किया। कथक, कुचीपुड़ी, भरत नाट्यम, मणिपुरी नृत्य, मृंदगम, हारमोनियम, वीणा, बांसुरी, सितार, कर्नाटक गायन, शास्त्रीय गायन, एंकाकी नाटिका में कोई प्रतिभागी नहीं पहुंचा, इस कारण अब स्टेट में हमारी ओर से कोई प्रतिनिधित्व नहीं होगा इसके अतिरिक्त तत्कालिक व्याख्यान में सिर्फ तीन, तबला-गिटार में महज एक तथा आरक्रेस्टा में भी एक ही प्रतिभगाी आया। ग्रुप सांग में पांच तथा ग्रुप नृत्य में चार टीमों ने हिस्सा लिया।

इस प्रकार रहे परिणाम
रागनी- लोक गीत

राजकीय कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल मुरथल अड्‌डा प्रथम

सीआरए काॅलेज द्वितीय

राजकीय कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल बड़वासनी नृत्य

भाषण

मयंक राणा प्रथम

स्वाति द्वितीय

नमन तृतीय

ग्रुप डांस

सीआरए काॅलेज प्रथम

राजकीय कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल मुरथल अड्‌डा द्वितीय

राजकीय कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल बडवासनी तृतीय

तबला एक ही टीम

स्वर्पना प्रथम

आरकेस्ट्रा : एक ही टीम

सीआरए कालेज प्रथम

सोनीपत. जिला स्तरीय युवा उत्सव में अपनी प्रस्तुति देते हुए छात्राएं।

प्रतिभागिता पर असर पड़ा
खेल विभाग की ओर से अत्याधिक प्रतिनिधित्व के लिए सभी स्कूल, काॅलेज के साथ शिक्षा विभाग को भी सूचित किया गया था, लेकिन चूंकि यह आयोजन एग्जाम के दौरान हुआ इसलिए प्रतिभागिता पर असर पड़ा। इस कारण राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में अब वही प्रतिभागी हिस्सा लेंगे जिन्होंने यहां प्रतिनिधित्व किया है, आयोजन के दौरान यकीनन साउंड सिस्टम नहीं चल पाया, जिस कारण परेशानी हुई। यह पहले देखा जाना चाहिए था। निर्मला, डीएसओ, सोनीपत।

खबरें और भी हैं...