--Advertisement--

जीवन में ज्ञान रस भरती है रामकथा : उमेशानंद

पुरानी अनाज मंडी स्थित गीता भवन परिसर में गुरुवार को श्री सनातन धर्म मंदिर कमेटी द्वारा श्रद्धेय संत स्वामी...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 05:35 AM IST
पुरानी अनाज मंडी स्थित गीता भवन परिसर में गुरुवार को श्री सनातन धर्म मंदिर कमेटी द्वारा श्रद्धेय संत स्वामी उमेशानंद महाराज के सानिध्य में सप्त दिवसीय श्रीराम कथा का आयोजन शुरू किया गया।

रामकथा से पूर्व सुबह स्वामी उमेशानंद की उपस्थिति में कलश शोभायात्रा निकाली गई। जिसमें हरियाणा वेयरहाउसिंग कॉर्पोरेशन चेयरमैन एवं वरिष्ठ भाजपा नेता श्रीनिवास गोयल,निगरानी कमेटी चेयरमैन रामफल नैन, जिला उपाध्यक्ष किसान मोर्चा सुरजीत ख्यालिया, सतपाल शर्मा, भाजपा युवा मोर्चा जिला महामंत्री संदीप गोयल, सत्यभूषण बिंदल व अनेक श्रद्धालु महिलाओं ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। उमेशानंद ने सबसे पहले रामकथा का महत्व और रामकथा के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि श्रीराम चरित मानस का श्रवण करने से पूर्व श्रद्धालु को इसका ज्ञान होना बहुत आवश्यक है। क्योंकि बिना रामायण के ज्ञान के इसका श्रवण करने पर भी मानव को इसका पूर्णतया लाभ नहीं मिल पाता है। संत ने बताया कि रामकथा मानव को जीवन जीने का तरीका सिखाती है जिसके श्रवण करने से मनुष्य को अपने जीवन को किस प्रकार जीना है इसके बारे में पूर्णतया बोध हो जाता है। कथा समापन पर रामफल नैन, श्योहिम सिंह नैन, दीपक गोयल, रामप्रताप बिंदल, सज्जन मित्तल, कैलाश लोहिया, लक्ष्मण दास गोयल, बलराज गर्ग, मुकेश गर्ग, जसबीर श्योराण, कैलाश, मुरारी, रामेश्वर दास शास्त्री, नरेन्द्र गर्ग, बोबी बंसल, हरपाल पातड़ आदि अनेक श्रद्धालुओं ने भगवान श्रीराम की आरती उतारी और प्रसाद ग्रहण किया।

उकलाना में श्रीराम कथा का गुणगान करते श्रद्धेय संत उमेशानंद महाराज।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..