--Advertisement--

नहाए खाएं के साथ छठ पर्व आज से, घाटों पर न हुई सफाई और न ही पुख्ता प्रबंध

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 02:45 AM IST

Yamunanagar News - पूर्वांचल के प्रमुख उत्सवों में से एक छठ पर्व 11 नवंबर (आज) से नहाएं खाएं के साथ शुरू हो रहा है। 12 को खरना होगा जबकि 13...

Yamunanagar - chhath festival with baths today cleanliness not done on ghats nor any rigid management
पूर्वांचल के प्रमुख उत्सवों में से एक छठ पर्व 11 नवंबर (आज) से नहाएं खाएं के साथ शुरू हो रहा है। 12 को खरना होगा जबकि 13 नवंबर को श्रद्धालु उगते हुए सूर्य को अर्घ देंगे। 14 नवंबर को श्रद्धालुओं के उगते सूर्य को अर्घ देकर व्रत खोलेंगे। इस महोत्सव का मुख्य आयोजन पश्चिमी यमुना नहर पर होता है। इसकी तैयारियों में पर्वांचल कल्याण सभा के पदाधिकारी दिन-रात लगे हुए हैं। 13 नवंबर को हजारों की संख्या में श्रद्धालु नहर के घाटों पर पानी में खड़े होकर सूर्य देव को अर्घ देंगे। रात को वहीं पर रहेंगे और सुबह उगते सूर्य को अर्घ दिया जाएगा।

छठ पर्व आज से भले ही शुरू हो रहा है, लेकिन अभी तक नहर के किनारे पर प्रशासन के इंतजाम अधूरे हैं। सफाई तक नहीं हो पाई है। इससे यहां पर आने वाले श्रद्धालुओं की आस्था को ठेस पहुंचेगी। यहां पर छठ पूजा के दौरान कार्यक्रम करने वाले आयोजकों का कहना है कि प्रशासन की टीम लगी तो है, लेकिन काम बेहद धीमी गति से चल रहा है। इससे यहां पर समय से पहले बंदोबस्त पूरे नहीं हो सकते। पश्चिमी यमुना नहर के घाट तक आने के लिए रास्ते तक ठीक नहीं किए गए हैं। हालांकि प्रशासनिक अधिकारियों का दावा है कि समय पर साफ-सफाई और अन्य इंतजाम कर लिए जाएंगे। श्रद्धालुओं को किसी तरह की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। उधर छठ पर्व पर लोग अपने-अपने घरों पर जा रहे हैं। इससे ट्रेनों में काफी भीड़ है। आरपीएफ की टीमें ट्रेनों में व्यवस्था बनाने में लगी हैं। आरपीएफ थाना एसएचओ रमेश कुमार का कहना है कि यात्रियों को दिक्कत न आए, इसके लिए ट्रेनों में व्यवस्था की जा रही है। भीड़ ज्यादा होने से ट्रेनों की दरवाजे लोग नहीं खोलते, उन्हें खुलवाया जा रहा है।

काम बेहद धीमी गति से चल रहा: नर्वदेश्वर

पूर्वांचल कल्याण सभा के प्रधान नर्वदेश्वर सिंह ने बताया कि छठ पर्व को लेकर वे खुद तैयारियां कर रहे हैं। पश्चिमी यमुना नहर किनारे कहने को तो प्रशासन इंतजाम कराता है, लेकिन शनिवार को यहां पर कोई काम नहीं किया गया। हालांकि निगम कर्मी वहां पर रास्ता ठीक करने के लिए जेसीबी लेकर आए थे। वहीं कुछ साफ-सफाई का भी काम किया गया, लेकिन वह पर्याप्त नहीं है। इतनी धीमी गति से काम होगा तो छठ पूजा पर व्यवस्था नहीं बन पाएगी। वे अपने स्तर पर भी यहां पर काम करा रहे हैं। जहां पर मुख्यतिथि को आना है वहां पर भी सफाई व्यवस्था नहीं कराई गई थी। इससे सभा के पदाधिकारियों में रोष है। वे चाहते हैं कि छठ पूजा से पहले यहां पर अच्छे से साफ-सफाई हो। अगर प्रशासन को कहीं पर सभा पदाधिकारियों की सहायता की जरूरत है, वे सहायता के लिए तैयार हैं।

नहर में पानी कम किया जाए ताकि हादसा न हो

सभा के पदाधिकारियों ने मांग की है कि छठ पर्व पर नहर का पानी कम किया जाए। क्योंकि पूजा के दौरान यहां पर हजारों की संख्या मेें श्रद्धालु पहुंचते हैं। श्रद्धालु पानी मेें खड़े होकर पूजा करते हैं। नहर में पानी ज्यादा है। इससे यहां पर हादसा होने का डर है। उनकी अधिकारियों से मांग है कि पानी कम कराया जाए। ताकि लोग यहां पर बिना डर के पूजा कर सकें।

25 लोगों की टीम लगी, अर्थ मूविंग मशीन से रास्ता ठीक कराया: चीफ सेनेटर इंस्पेक्टर अनिल

नगर निगम के चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर अनिल नैन ने बताया कि छठ पर्व को लेकर नहर के आसपास सफाई कराई जा रही है। 25 कर्मियों की टीम वहां पर लगाई गई है। एक सेनेटरी इंस्पेक्टर उनकी अगुवाई कर रहा है। वहीं जेसीबी से घाट व रास्ते ठीक कराए जा रहे हैं। उनका कहना है कि छठ पूजा से पहले यहां पर पूरी सफाई मिलेगी।

X
Yamunanagar - chhath festival with baths today cleanliness not done on ghats nor any rigid management
Astrology

Recommended

Click to listen..