दिल्ली ज्यूडिशयरी सर्विस एग्जाम में अदिति को 59वां रैंक

Yamunanagar News - फरवरी में 126 जज के पदों के लिए हुए दिल्ली ज्यूडिशयरी सर्विस (डीजेएस) एग्जाम में शामिल 16 हजार से ज्यादा प्रतिभागियों...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:45 AM IST
Yamunanagar News - haryana news aditi is ranked 59th in delhi judiciary service examination
फरवरी में 126 जज के पदों के लिए हुए दिल्ली ज्यूडिशयरी सर्विस (डीजेएस) एग्जाम में शामिल 16 हजार से ज्यादा प्रतिभागियों की रेस में सेक्टर-17 की अदिति राव ने 59 रैंक पाया। वह महज 27 साल की उम्र में मेट्रोसिटी दिल्ली की किसी कोर्ट में जज की चेयर संभालेंगी। यमुनानगर में जन्मी अदिति ने राजधानी दिल्ली में जज के पद पर पहुंचकर परिवार का नाम रोशन कर जिले का नाम भी चमकाया।

सेक्टर-17 निवासी अदिति अभी परिवार के साथ पंचकूला में हैं, उन्होंने दैनिक भास्कर के साथ फोन पर जज बनने की कहानी, अपने सक्सेस मंत्रा और जज रहते उनकी क्या स्ट्रेटेजी रहेगी, यह सब सांझा की।

1992 में यमुनानगर में जन्मीं अदिति ने 12वीं तक की पढ़ाई जगाधरी के सेक्रेट हार्ट कॉन्वेंट स्कूल से हुई। यहां कॉमर्स से 12वीं में 90 प्रतिशत अंक हासिल कर स्कूल में सेकेंड रहीं। आर्किटेक्ट पिता राजेश राव के सर्कल में कई लोग जज हैं। उन्हें देख खुद भी वकालत कर जज बनने का इरादा किया। 12वीं के बाद पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ से पांच साल की बीए एलएलबी की और फिर 2015 से पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में एनरोल्ड हुई। 2017 से जज बनने के लिए तैयारी शुरू की। अदिति ने बताया कि ज्यूडिशयरी सर्विस एग्जाम में भी आईएएस की तरह तीन राउंड होते हैं। उन्होंने दिल्ली ज्यूडिशयरी सर्विस एग्जाम देने का फैसला लिया और 126 पदों के लिए फरवरी-2018 में एग्जाम दिया। इसमें करीब 16 हजार से ज्यादा प्रतिभागियों की रेस में उनका 59 रैंक आया है। इससे अब वह मेट्रोसिटी दिल्ली की छह कोर्ट में से किसी एक में जज का पद संभालेंगी। अदिति ने कहा कि उन्हें पिता राजेश राव, बिजनेस कर रही मां सुनीता राव और बड़ी बहन श्रुति राव का पूरा स्पोर्ट मिला। इस मुकाम तक पहुंचने में पूरे परिवार ने किसी तरह की परेशानी नहीं आने दी।



सक्सेस मंत्रा: 2017 से सोशल मीडिया से बनाई दूरी, रोज 8 घंटे की स्टडी

2017 में सोशल मीडिया से दूरी बनाने के लिए मोबाइल से फेसबुक-इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया के माध्यम डिलीट कर दिए। सिर्फ स्टडी से संबंधित एप इस्तेमाल किए। पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में प्रेक्टिस के साथ रोज 8 घंटे की फोकस्ड सेल्फ स्टडी की। बीच में प्रोफेशनल इंस्टीट्यूट से टेस्ट सीरिज की। अदिति

मां-बाप को नाज : बड़ी के बाद छोड़ी बेटी ने भी किया कमाल

अदिति के पिता राजेश राव आर्किटेक्ट हैं और मां सुनीता राव खुद का बिजनेस संभाल रही हैं। जो अदिति व बड़ी बेटी श्रुति के साथ पंचकुला में हैं। दोनों ने कहा कि बड़ी बेटी के बाद छोटी बेटी ने भी कमाल कर दिखाया है। उन्हें दोनों पर बड़ा नाज है। छोटी बेटी अदिति जज बनी हैं, जिसका उन्हें पहले ही भरोसा था। बड़ी बेटी श्रुति भी सेक्रेट हार्ट कॉन्वेंट स्कूल से 12वीं के बाद चंडीगढ़ के जीएनजी कॉलेज से बीकॉम करने के बाद लंदन की रॉयल होलोवेय यूनिवर्सिटी मास्टर्स ऑफ इंटरनेशनल मैनेजमेंट कर चुकी है। श्रुति एनिमल एक्टिविस्ट है और वेगन फैशन डिजाइनर हैं। जज बन अदिति जहां लोगों को कानूनी अधिकार दिलाएगी वहीं, श्रुति का जानवरों से लगाव होने पर उनसे बनने वाले फूड व कपड़ों और अन्य गलत कामों का विरोध करती है। वह राष्ट्र स्तर के चंडीगढ़ के हंसराज कॉलेज में हुए टेडएक्स टॉक में वेगन फैशन पर पब्लिक स्पीकर के रूप में लेक्चरर दे चुकी है।

X
Yamunanagar News - haryana news aditi is ranked 59th in delhi judiciary service examination
COMMENT