फसल बीमा का अभी तक किसानों को नहीं मुआवजा

Yamunanagar News - फसल बीमा के नाम पर किसानों के खाते से पैसे तो काट लिए गए, लेकिन अभी तक सरकार और बीमा कंपनियों की ओर से किसानों को...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:20 AM IST
Chacharauli News - haryana news farmers not yet compensated for crop insurance
फसल बीमा के नाम पर किसानों के खाते से पैसे तो काट लिए गए, लेकिन अभी तक सरकार और बीमा कंपनियों की ओर से किसानों को मुआवजे की रकम नहीं दी गई है। कुदरत की मार झेल चुके किसानों को सरकार और बीमा कंपनियों से ही आस है कि उनके द्वारा की गई मेहनत का कुछ तो फल मिले। वहीं अधिकारियों का कहना है कि सरकार किसानों को उनकी खराब फसल का मुआवजा देने के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन इसके लिए किसानों के कागजात सही होने चाहिए। बीते सीजन के धान का मुआवजा भी अभी तक किसानों के खातों में नहीं पहुंचा है, जबकि अब अगली फसल खेतों में लग चुकी है। गेहूं की खराब फसल का मुआवजा भी सरकार द्वारा 31 मार्च तक बांटा गया, लेकिन उसमें से भी 50 प्रतिशत किसानों के खातों में अब भी मुआवजे की रकम नहीं पहुंची है।

किसान कटार सिंह, राजबीर, प्रीतम सिंह, मैनपाल, जगमाल का कहना है कि उनके गांव जयधरी में अभी तक किसी भी किसान के खाते में किसी भी प्रकार के मुआवजे की रकम नहीं आई है। उन्होंने बताया कि किसान सम्मान निधि योजना के तहत भी अभी तक किसी किसान को कोई मुआवजा नहीं मिला है। किसानों ने बताया कि पिछले वर्ष के मुआवजे की रकम भी किसी-किसी किसान के खाते में आई है, लेकिन उनमें भी अधिकतर के बैंक खाते में रकम नहीं आई। किसानों ने बीमा फसल योजना, किसान सम्मान निधि योजना, इस वर्ष के फसल बीमा योजना व अन्य खराबे के मुआवजे के लिए सरकार से मांग की है।

48 में से 12 गांवों के किसानों के कागजात हो पाए, बकाया के अभी तक अधूरे : राजस्व विभाग के अधिकारियों ने किसानों को सूचित किया था कि जिस किसान की फसल बरसात से खराब हुई थी, उसके लिए जरूरी कागजात कार्यालय में जमा करवा दें। ब्लॉक छछरौली के 48 गांवों से 461 आवेदन आए हैं, जोकि लगभग 25 प्रतिशत भी नहीं हैं। ब्लाॅक के मात्र 12 गांवों से ही किसानों ने आवेदन किया जिनको मुआवजे के लिए सरकार के पास भेजा गया है। बाकी 25 प्रतिशत किसानों के आवेदन में त्रुटियां होने के कारण अभी अधूरे हैं। 50 प्रतिशत किसानों ने अभी तक मुआवजे के लिए आवेदन नहीं किया है। ब्लाक छछरौली के 48 गांवों के जिन किसानों की 50 प्रतिशत तक फसल खराब हुई उनमें 1674 एकड़ एरिया है, 50 प्रतिशत से 75 प्रतिशत खराब हुई फसल का 1287 एकड़ का एरिया है। 75 प्रतिशत से अधिक खराब हुई फसल का एरिया 338 एकड़ है जिसकी विभाग द्वारा सूची तैयार की गई है।

कागजात पूरे होंगे तभी राशि डलेगी: गौतम

छछरौली तहसीलदार नरेश गौतम का कहना है कि सरकार की ओर से किसानों के लिए मुआवजा राशि मंजूर होकर आ गई है। किसानों को कई बार पटवारी, नंबरदार व अन्य तरीकों से सूचित किया जा चुका है कि वे अपने मुआवजे के लिए कार्यालय में जरूरी कागजात जमा करवा दें। लेकिन अभी तक आधे किसानों के कागजात भी पूरे नहीं हो पाए हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए किसान को अपना आधार नंबर, आईएफसी कोड, बैंक खाता नंबर देना अनिवार्य है। जब किसान के सभी कागजात जमा हो जाएंगे तभी किसान के खाते में मुआवजे की राशि आ पाएगी।

X
Chacharauli News - haryana news farmers not yet compensated for crop insurance
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना