• Hindi News
  • Haryana
  • Yamunanagar
  • Radaur News haryana news taking the crops of pests in conjunction with gandhiji also considered violence on 4 acres of ashram engaged in organic farming
विज्ञापन

गांधी जी से मिलकर फसलों के कीट मारने को भी हिंसा माना, आश्रम के 4 एकड़ में ऑर्गेनिक खेती करने लगीं तारा

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 08:15 AM IST

Yamunanagar News - मैं 1946 से रादौर में कस्तूरबा गांधी ट्रस्ट आश्रम की संचालिका हूं, पहली संचालिका जवाहर लाल नेहरू की चाची रामेश्वरी...

Radaur News - haryana news taking the crops of pests in conjunction with gandhiji also considered violence on 4 acres of ashram engaged in organic farming
  • comment
मैं 1946 से रादौर में कस्तूरबा गांधी ट्रस्ट आश्रम की संचालिका हूं, पहली संचालिका जवाहर लाल नेहरू की चाची रामेश्वरी नेहरू थीं, तब चरखे कटाई होती थी अब सिलाई-कढ़ाई सेंटर। तारा बहल (95)

भास्कर न्यूज | यमुनानगर

महज 13 की उम्र में महात्मा गांधी से मिलीं तारा बहल उनकी अहिंसक विचारधारा की ऐसी मुरीद हुईं कि खुद का पूरा जीवन अहिंसा का संदेश बांटने में समर्पित कर दिया। लोगों, खासकर महिलाओं के बीच अहिंसा का संदेश देते-देते फसलों पर कीटनाशकों के इस्तेमाल को भी अहिंसा से जोड़ा। इस पर रादौर के कस्तूरबा गांधी ट्रस्ट आश्रम में 12 साल पहले साढ़े चार एकड़ में ऑर्गेनिक खेती शुरू की। गांव-गांव जाकर ऑर्गेनिक खेती का प्रचार करने लगीं। आश्रम में बनी आईटीआई में सिलाई-कढ़ाई सीखने आने वाली 66 युवतियों सहित प्रशिक्षण देने आने वाले 70 वर्कर्स-हेल्पर्स भी अहिंसा के इस संदेश आगे प्रसारित कर रहे है।

95 वर्षीय की उम्र में भी तारा बहल रादौर में 1946 से चल रहे कस्तूरबा गांधी ट्रस्ट आश्रम की संचालिका रहकर अहिंसा समेत गांधी के अन्य विचार के प्रचार प्रसार में लगीं हैं। आश्रम की पहली संचालिका जवाहर लाल नेहरू की चाची रामेश्वरी नेहरू थीं। तब चरखे कताई से आगे बढ़कर अब सिलाई कढ़ाई का प्रशिक्षण देकर युवतियों व महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की परंपरा तक आश्रम 74 वर्षों का इतिहास समेटे हुए है। आश्रम बनने पर हरियाणा नहीं, पंजाब प्रांत था। अब भी यह आश्रम हरियाणा-पंजाब का ट्रस्ट का हेडक्वार्टर है। ट्रस्ट की ओर से साथ लगते गांव घेसपुर को गोद लिया गया है, वहां से लेकर अन्य गांवों में भी ऑर्गेनिक खेती का प्रचार प्रसार किया जा रहा है। यहां मौजूदा समय में छात्रावास भी है। यहां रह रहे प्रशिक्षण लेने वाली छात्रों के साथ अन्य महिलाओं को ऑर्गेनिक खेती से पैदा अनाज व फल-सब्जियां ही दिए जा रहे हैं।

रादौर का कस्तूरबा गांधी आश्रम।

गांधी जी का चरखा से लेकर वास्तविक सौ तस्वीरें दे रहीं अहिंसा का संदेश : आश्रम में महात्मा गांधी के चरखे से लेकर उनकी जुटाई गईं वास्तविक सौ तस्वीरों का संग्रहालय बनकर तैयार है। यह सौ तस्वीरें उनके पूरे जीवन चक्र का दर्पण कहीं जा सकतीं हैं, जो उनके अहिंसा के संदेश को लोगों तक पहुंचाएंगी।

13 की उम्र में नागपुर में हुई थी गांधी जी से मुलाकात

तारा बहल जिले की एकमात्र ऐसी महिला हैं, जो राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से 13 वर्ष की आयु में नागपुर में मिली थीं। उस समय तारा बहल, बडे़ भाई त्रिलोकनाथ बहल व बैजनाथ बहल के साथ गांधी से मिलने गईं थीं, जहां उन्होंने गांधी से आशीर्वाद लिया। तारा बहल बताती हैं कि गांधी से मिलना उनके जीवन का सबसे बड़ा दिन था। जिसे वह आज भी याद करती हैं। गांधी से मिलने के बाद उनकी विचारधारा में परिवर्तन आया और वह उनकी अहिंसा व अन्य विचारधाराओं को समाज के जन-जन तक पहुंचाने में लग गईं।

1982 में डिप्टी डायरेक्टर पद से रिटायर हुईं तारा

मूलरूप से तारा बहल छत्तीसगढ़ के जिला बलोद के दुर्ग की हैं। उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा नागपुर से ली, दिल्ली यूनिवर्सिटी से बीएसई व लाहौर से भी उच्च शिक्षा ली। इसके बाद 1947 में कपूरथला के हिंदू पुत्री पाठशाला में पढ़ाना शुरू किया। यह पाठशाला लड़कियों की थी और तारा बहल ने आजादी से पहले के हालत देखे थे। इसी दौरान लड़कियों की शिक्षा पर जोर दिया। बाद में वह पंजाब के पंचायत विभाग के अंतर्गत नाभा में ट्रेनिंग सेंटर में नौकरी करने लगीं। 1982 में वह डिप्टी डायरेक्टर पद से सेवानिवृत्त हुईं।

Radaur News - haryana news taking the crops of pests in conjunction with gandhiji also considered violence on 4 acres of ashram engaged in organic farming
  • comment
X
Radaur News - haryana news taking the crops of pests in conjunction with gandhiji also considered violence on 4 acres of ashram engaged in organic farming
Radaur News - haryana news taking the crops of pests in conjunction with gandhiji also considered violence on 4 acres of ashram engaged in organic farming
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन