--Advertisement--

मिल्कमाजरा के पास टोल शुरू हुआ तो तीसरे दिन ही रोडवेज ने 5 रुपए तक किराया बढ़ाया

किराए बढ़ोतरी में रोडवेज की दोहरी नीति यात्रियों की जेब पर भारी पड़ रही है। अम्बाला रोड पर 30 अक्टूबर को टोल प्लाजा...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 02:46 AM IST
Yamunanagar - if the toll starts near milkmajra on the third day only roadways increased the rent up to rs 5
किराए बढ़ोतरी में रोडवेज की दोहरी नीति यात्रियों की जेब पर भारी पड़ रही है। अम्बाला रोड पर 30 अक्टूबर को टोल प्लाजा शुरू हुआ तो तीसरे दिन ही रोडवेज ने बसों का किराया पांच रुपए बढ़ा दिया। अधिकारियों ने तर्क दिया कि टोल टैक्स देने से रोडवेज की कमाई कम हो गई है। वहीं दामला के पास टोल प्लाजा बंद हुआ, यहां पर किराया कम करने का नाम अधिकारी नहीं ले रहे हैं। इस टोल को बंद हुए दस दिन हो गए हैं, लेकिन अभी तक किराया कम नहीं किया गया। जबकि नियम अनुसार जब टोल बंद हो गया है तो किराया कम किया जाना चाहिए था। क्योंकि जो टिकट यात्री को दी जाती है, उसमें टोल टैक्स की भी टिकट दी जाती है। यह दो या पांच रुपए तक होती है। हालांकि रोडवेज के अधिकारियों का कहना है कि रेट कम किए जाने हैं। जल्द ही इस पर फैसला किया जाएगा।

यमुनानगर से सबसे ज्यादा बस सर्विस कुरुक्षेत्र और करनाल रूट पर है। यमुनानगर डिपो से करीब 100 बसें इस रूट पर चलती हैं। इस रूट से पूरे हरियाणा और दिल्ली में बसें जाती हैं। इसके साथ ही कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल समेत अन्य डिपो की बसें भी इस रूट पर चलती हैं। करीब 200 बसें हर दिन इस रूट पर चलती हैं। हजारों की संख्या में यात्री बसों में यात्रा करते हैं। इसके साथ ही दर्जन भर बसें प्राइवेट भी इस रूट पर हैं। उन्होंने भी टोल हटने के बाद भी किराया कम नहीं किया है।

200 रुपए अप-डाउन का और छह हजार में बनाते थे एक माह का पास: दामला टोल प्लाजा पर कॉमर्शियल वाहनों से टैक्स लिया जाता था। बस के लिए 200 रुपए अप-डाउन का रेट तय था। वहीं अगर मंथली पास की बात करें तो छह हजार रुपए पास के लिए जाते थे। टोल बंद होने से अब हर माह रोडवेज और प्राइवेट बस संचालकों को छह हजार रुपए की बचत हो रही है। इस बचत का जनता को कोई फायदा नहीं मिल रहा है। क्योंकि किराया कम नहीं किया गया है।

दामला टोल प्लाजा बंद हुए दस दिन बीते, नहीं घटा बस किराया

यात्री बोले- टिकट में टोल टैक्स जोड़कर दिया जा रहा, कम हो

डेली पैसेंजर मोहित कुमार, अनिल गांधी, गुरमुख सिंह और गगन का कहना है कि जब टोल बंद हो गया है तो किराया कम किया जाना चाहिए। क्योंकि जो टिकट यात्री को दी जाती है उसमें टोल टैक्स जुड़ा होता है। जब टोल टैक्स नहीं दे रहे तो फिर टिकट टोल टैक्स जोड़कर क्यों दी जा रही है। इस पर सरकार को ध्यान देना चाहिए। उनका कहना है कि जब अंबाला रोड पर टोल प्लाजा शुरू होने पर दो दिन बाद ही किराया बढ़ाया जा सकता है तो फिर दामला में टोल प्लाजा बंद होने पर किराया कम क्यों नहीं किया गया।



अम्बाला रोड पर लगे टोल पर अब तक नहीं बने पास

अम्बाला रोड पर मिल्कमाजरा के पास लगे टोल प्लाजा पर अब तक बसों के मासिक पास नहीं बन पाए हैं। बस संचालक परेशान हैं। उन्हें हर दिन 500 रुपए का टोल देना पड़ रहा है। इस तरह से उन पर हर माह 15 हजार रुपए का खर्च बढ़ गया है। हालांकि सरकारी और प्राइवेट बस संचालक यह पैसा यात्रियों से वसूल कर रहे हैं।

X
Yamunanagar - if the toll starts near milkmajra on the third day only roadways increased the rent up to rs 5
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..