--Advertisement--

आरपीएफ चौकी बनी थाना, बढ़ते क्राइम के चलते बढ़ेगा स्टाफ

अम्बाला-सहारनपुर रेल मार्ग पर कलानौर आउटर से मुस्तफाबाद तक चौकी के हिसाब से क्षेत्रफल ज्यादा होने और इस बीच...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 02:46 AM IST
Yamunanagar - rpf outpost police station will increase staff due to mounting crime
अम्बाला-सहारनपुर रेल मार्ग पर कलानौर आउटर से मुस्तफाबाद तक चौकी के हिसाब से क्षेत्रफल ज्यादा होने और इस बीच ट्रेनों व स्टेशनों पर क्राइम के बढ़ते ग्राफ को देख यमुनानगर-जगाधरी रेलवे स्टेशन पर स्थित आरपीएफ चौकी को थाने में बदल दिया गया है। कलानौर आउटर से लेकर दुखेड़ी तक दायरा बढ़ाने के साथ थाने की कमान इंस्पेक्टर के हाथ सौंपी गई है। स्टाफ 10 से बढ़ा 12 कर दिया है, वहीं भेजी डिमांड पर यह संख्या 26 होगी।

बता दें कि पहले यमुनानगर-जगाधरी रेलवे स्टेशन आरपीएफ चौकी सहारनपुर रेलवे स्टेशन स्थित आरपीएफ थाने के अधीन थी। जबकि अब थाने में तब्दील होने पर बराड़ा स्टेशन स्थित चौकी को भी इसके अंतर्गत ले लिया गया है। इससे यमुनानगर-जगाधरी रेलवे स्टेशन स्थित आरपीएफ थाने के अंतर्गत अब कलानौर आउटर से दुखेड़ी तक का क्षेत्र है। चौकी की कमान सब इंस्पेक्टर संभाले थे और उनको मिलाकर कुल 10 का स्टाफ था, जो ट्रेन या स्टेशन पर रेलवे एक्ट व रेलवे प्रॉपर्टी का कोई भी केस पकड़ने पर उसे सहारनपुर थाने के सुपुर्द करता था। लेकिन अब यमुनानगर-जगाधरी रेलवे स्टेशन पर चौकी के थाने में तब्दील होने पर रेलवे एक्ट की कुल 29 धाराओं और रेलवे प्रॉपर्टी की चोरी व नुकसान पहुंचाने पर कार्रवाई उसके अधिकार क्षेत्र में आ गई है।

हालांकि चौकी के थाने में तब्दील होने पर स्टाफ 26 करने के लिए डिमांड भेजी गई है, लेकिन यमुनानगर-जगाधरी रेलवे स्टेशन पर रोज 36 अप और 36 डाउन ट्रैक से सवारी गाड़ियां निकलती हैं। इसके अलावा अप-डाउन की छह साप्ताहिक ट्रेनें भी हैं। हर गाड़ी में गश्त के लिए कम से कम एक कर्मी व थाने के अंतर्गत हर स्टेशन पर गश्त को दो कर्मी जरूरी हैं। यानि थाने के अंतर्गत आने वाले आठ स्टेशनों पर दो-दो के हिसाब से 16 और एक साइड की 36 ट्रेनों के लिए 36 का स्टाफ होना चाहिए। लेकिन चौकी के वक्त में दस और अब थाना बनने पर 12 का स्टाफ ही है। इनमें एक इंस्पेक्टर, दो सब इंस्पेक्टर, एक एएसआई, तीन एचसी व छह सिपाही शामिल हैं। ऐसे में पूरी गाड़ियों में गश्त नहीं हो पाती, जो चोरी, स्नैचिंग, जेब कटने, जहरखुरानी की घटनाओं की वजह बनती है।

रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ थाने में चल रहा विस्तारिकरण का काम।

ये स्टेशन हैं थाने के अंतर्गत

आरपीएफ चौकी के थाने में तब्दील होने पर इसके अधीन कलानौर, यमुनानगर-जगाधरी, जगाधरी वर्कशॉप, दराजपुर, मुस्तफाबाद के अलावा अब बराड़ा व तंदवाल, दुखेड़ी स्टेशन भी आ गए हैं।


X
Yamunanagar - rpf outpost police station will increase staff due to mounting crime
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..