--Advertisement--

पुलिस के अलावा कोई गवाह नहीं था, स्मैक रखने का आरोपी बरी

Yamunanagar News - करीब डेढ़ साल पहले जिसे पुलिस ने 12 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ने का दावा किया था, कोर्ट ने उसे बरी कर दिया। क्योंकि पुलिस...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:07 AM IST
Yamunanagar News - there was no witness besides police acquitted of keeping smack
करीब डेढ़ साल पहले जिसे पुलिस ने 12 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ने का दावा किया था, कोर्ट ने उसे बरी कर दिया। क्योंकि पुलिस ने न तो उसकी नियम अनुसार तलाशी ली और न ही पुलिस कर्मियों के अलावा कोई ऐसा गवाह था कि आरोपी से स्मैक मिली है। एडीजे नरेश कत्याल की कोर्ट ने आरोपी राहुल को बरी कर दिया। पुलिस की जिस टीम ने उसे पकड़ा था, उसने इस बारे में अपने सीनियर आॅफिसर तक को जानकारी देकर नशीले पदार्थ की बरामदगी नहीं की। जबकि पास में ही डीएसपी आफिस था। इन सब तथ्यों को देखते हुए कोर्ट ने उसे बरी कर दिया। आरोपी पक्ष के वकील शेखर गुप्ता ने बताया कि सड़क से जा रहे किसी भी व्यक्ति की तलाशी से पहले पुलिस को उसे सेक्शन-50 का नोटिस देना होता है। व्यक्ति की अनुमति के बाद ही पुलिस तलाशी ले सकती है। लेकिन इसमें इस सेक्शन के अनुसार कोई नोटिस नहीं दिया गया।

एक जुलाई को शहर जगाधरी पुलिस को डिटेक्टिव स्टाफ में तैनात रोहन ने शिकायत दी थी उसने रक्षक विहार नाके पर नाकाबंदी के दौरान गुलाब नगर से पैदल आते युवक को 12 ग्राम स्मैक समेत काबू किया था। उसने अपना नाम राहुल बताया। पुलिस ने राहगीरों को शामिल तफ्तीश किया, लेकिन उन्होंने गवाह बनने से मना कर दिया। इससे पुलिस को कोई प्राइवेट गवाह नहीं मिल पाया। राहुल के पास से 12 ग्राम स्मैक मिली थी। शहर जगाधरी पुलिस ने इस शिकायत पर केस दर्ज किया था।

X
Yamunanagar News - there was no witness besides police acquitted of keeping smack
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..