चंद्रयान-2 / रॉकेट लांच करने के दौरान ईंधन में आग की थ्रस्ट मापने वाला यंत्र अम्बाला से भेजा गया



Haryana also contributed in Chandrayaan-2 mission
X
Haryana also contributed in Chandrayaan-2 mission

  • थ्रस्ट मापने के लिए 450 टन फोर्स केलिब्रेशन फेसिलिटी (लॉन्चिंग में मददगार)कंपनी द्वारा श्रीहरिकोटा में प्रदान की गई है
  • अम्बाला में ही निर्मित यह माइक्रोस्कोप के जरिए बारीक से बारीक तथ्यों को पकड़ा जाता है

Dainik Bhaskar

Jul 23, 2019, 09:33 AM IST

अम्बाला. अम्बाला स्थित वैशेषिक इलेक्ट्रॉन डिवाइसेस द्वारा भी चंद्रयान-2 में अपना योगदान दिया है। कंपनी के अध्यक्ष डाॅ. अनिल जैन ने बताया कि राॅकेट लांच करने के दौरान उसके ईंधन में आग लगती है और इसी थ्रस्ट से राॅकेट अंतरिक्ष में जाता है।

 

उन्होंने बताया कि इसी थ्रस्ट को मापने वाला यंत्र वैशेषिक कंपनी द्वारा निर्मित किया गया। उन्होंने बताया कि थ्रस्ट मापने के लिए 450 टन फोर्स केलिब्रेशन फेसिलिटी (लॉन्चिंग में मददगार)कंपनी द्वारा श्रीहरिकोटा में प्रदान की गई है। इसी प्रकार अंतरिक्ष यान में इस्तेमाल होने वाले ठोस ईंधन का परीक्षण वैशेषिक कंपनी द्वारा बनाए गए माइक्रोस्कोप के जरिए किया जाता है।

 

अनिल जैन ने बताया कि अम्बाला में ही निर्मित यह माइक्रोस्कोप के जरिए बारीक से बारीक तथ्यों को पकड़ा जाता है और इस माइक्रोस्कोप का साॅफ्टवेयर भी कंपनी द्वारा तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि स्पेस सेंटर द्वारा कई कंपनियों के आॅर्डर आमंत्रित किए जाते हैं और अंत में केवल सर्वश्रेष्ठ का चयन होता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना