भास्कर न्यूज | अम्बाला सिटी

Ambala News - मां-बाप गए थे वैष्णाे देवी, बेटा थाईलैंड से घर आकर चुरा ले गया प्राॅपर्टी कागजात व सभी के पासपोर्ट, फिर वीडियो कॉल...

Oct 13, 2019, 07:20 AM IST
मां-बाप गए थे वैष्णाे देवी, बेटा थाईलैंड से घर आकर चुरा ले गया प्राॅपर्टी कागजात व सभी के पासपोर्ट, फिर वीडियो कॉल कर पिता से मांगे Rs.2 करोड़


भास्कर न्यूज | अम्बाला सिटी

साल 2016 में थाइलैंड में होटल मैनेजमेंट की डिग्री करने गया बेटा बुरी संगत में पड़ गया। उसने परिजनों से पढ़ाई के लिए मंगाई फीस संस्थान में जमा कराने के बजाय जुआ और नशे में लगा दी। प्राॅपर्टी डीलर पिता सेक्टर-9 निवासी मुकेश कालड़ा ने 24 वर्षीय बेटे ऋषभ कारनामों पर कई बार पर्दा डाला और उसका कर्ज भी चुकाया। इसके बावजूद बेटे ने सबक नहीं लिया बल्कि 3 अक्टूबर को जब मुकेश कालड़ा अपनी प|ी व बेटी के साथ वैष्णो देवी के दर्शन करने के लिए गए तो बेटा थाइलैंड से घर पहुंच गया। उसने घरेलू प्राॅपर्टी के दस्तावेज, कारोबार से जुड़े प्राॅपर्टी कागजात, परिवार के पासपोर्ट, बीमा की काॅपियां व बैंक पासबुक आदि चुराई अाैर वापस चला गया। अब थाइलैंड से पिता को वाट्सअप कॉल कर धमका रहा है कि उसके खाते में दो से अढ़ाई करोड़ रुपए जमा कराओ नहीं तो वह कागजाताें को जला देगा। मुकेश कालड़ा के मुताबिक इस साजिश में उसका छोटा बेटा राहुल भी ऋषभ के साथ मिला हुआ है। वह भी घर से लापता है। संभावना है कि राहुल भी ऋषभ के साथ चला गया। सदर पुलिस ने पिता की शिकायत पर दाेनाें बेटों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

पढ़ाई करने थाईलैंड गया ऋषभ नशे का आदी हो गया, अब कनाडा का वीजा लगाने की डिमांड कर रहा : कालड़ा

उनका प्राॅपर्टी का काम है। उसके दो बेटियों समेत चार बच्चे हैं और सबसे बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है। बड़ी बेटी से छोटा करीब 24 वर्षीय नशे की लत में पड़ गया था। उसकी लत छुड़ाने के लिए उन्होंने उसे नशा मुक्ति केंद्र में भी रखा। साल 2016 में उसे पढ़ने के लिए थाईलैंड भेज दिया था लेकिन वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। जो फीस पढ़ाई के लिए भेजी जाती थी उसे वह नशे व जुआ में उड़ाने लगा। 4 अक्टूबर को उसके पास ऋषभ ने फोन किया था कि वह थाइलैंड से दिल्ली आ गया है और न तो वह अब घर आएगा और न ही थाइलैंड लौटेगा। उसे कनाड़ा का बिजनेस वीजा लगवाकर दो। चूंकि, वे एक दिन पहले ही कटरा गए थे तो उसे समझाया कि वैष्णो माता से लौटने तक वह दिल्ली ही रुक जाए और आने पर बात करेंगे। इस बात पर वह सहमत हो गया था लेकिन जब वह 5 अक्टूबर को घर लौटे तो पता चला कि ऋषभ आया था और राहुल को भी अपने साथ ले गया। वह इसे सामान्य मान रहे थे लेकिन जब अगले दिन वे अपने प्राॅपर्टी कारोबार संबंधित दस्तावेज तलाश रहे थे तो उन्हें घर पर नहीं मिले। काफी ढूंढने पर भी घर की रजिस्ट्री, पासपोर्ट, गोल्ड लोन, बीमा के सारे कागजात व अन्य लोगों के जायदाद के कागजात समेत बैंक पासबुक आदि भी गायब थे। हम सोचते रहे कि कहीं गुम हो गए होंगे और थाना में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी। इसके बाद 8 अक्टूबर को ऋषभ ने अपने थाइलैंड वाले नंबर से फोन कर 2 से अढ़ाई करोड़ रुपए की डिमांड की। चूंकि, उसने वीडियो कॉल की थी तो उसे पता चला कि कागजात उसके पास ही हैं। वह कागजात दिखा कर फोन पर धमका रहा है कि उसके खाते में 2 करोड़ रुपए जमा कराओ नहीं तो वह इन दस्तावेज को जला देगा। इससे पहले भी वह उन्हें डरा धमका कर पैसा ले जाता रहा है। इतना ही नहीं इस साल फरवरी माह में जब वह घर पर आया था तो अपनी मां, दादी व उसके साथ मारपीट की थी। हालांकि, वे लोकलाज के कारण हमेशा उसकी हरकतें छिपाते रहे हैं। इस साजिश में उसने अब अपने छोटे भाई राहुल को भी शामिल कर लिया है। -जैसा कि मुकेश कालड़ा ने बताया



X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना