• Hindi News
  • Haryana
  • Ambala
  • Ambala News haryana news meetup at the mother teresa home after 5 years with a son who is separated at the age of 2 months

2 माह की उम्र में बिछड़े बेटे से 5 साल बाद मदर टेरेसा होम में मिलन

Ambala News - 5 साल पहले अलग हुए मां और बेटा बुधवार को मिले। बच्चे को मां से मिलाने के लिए कैंट मदर टेरेसा होम में लाया गया। जैसे ही...

Jan 16, 2020, 07:20 AM IST
Ambala News - haryana news meetup at the mother teresa home after 5 years with a son who is separated at the age of 2 months
5 साल पहले अलग हुए मां और बेटा बुधवार को मिले। बच्चे को मां से मिलाने के लिए कैंट मदर टेरेसा होम में लाया गया। जैसे ही 5 साल बाद मां ने बच्चे ताे देखा ताे मां कुछ देर ताे सुध-बुध खोकर उसे देखती रही। उसे बताने पर कि यह उसका बेटा है ताे मां ने गाेद उठाकर गले लगा लिया और अपने बेटे को चूमने लगी। मां और बेटे के मिलन को देखकर मदर टेरेसा होम और सीडब्ल्यूसी टीम सदस्य भी भावुक हाे गई। अब मां और बेटा गुरुवार तक वन स्टॉप सेंटर सिटी में रहेंगे। शुक्रवार को दोनों को सीडब्ल्यूसी टीम उसे सौंपने के लिए आंधप्रदेश के विजयवाड़ा के लिए रवाना हाेगी। वहां दोनों को सीडब्ल्यूसी टीम को सौंपा जाएगा।

2014 में कैंट रेलवे स्टेशन पर एक महिला अपने दो माह के बच्चे के साथ बेसुध मिली थी। जीाआरपी ने दोनों को सीडब्ल्यूसी के हवाले किया था। उस दौरान महिला की मानसिक हालत सही नहीं होने पर मदर टेरेसा होम में रखा गया था, जबकि उसके दो माह के बच्चे को पंचकूला शिशुगृह में भेज दिया था। अब बच्चा 5 साल का हाे चुका है। उसकी मां मसाबा बेमिला के स्वास्थ्य में भी काफी सुधार हाे चुका है। बुधवार को सीडब्ल्यूसी चेयरपर्सन वंदना शर्मा, सीडब्ल्यूसी मेंबर रेखा शर्मा, महिंद्र सिंह, वन स्टॉप सेंटर इंचार्ज रंजन मेहता, डीसीपीअाे यूनिट से रणधीर सिंह, डीपीअाे ऑफिस से पूजा पाहवा बच्चे को लेकर उसकी मां से मिलाने के लिए मदर टेरेसा होम में लेकर पहुंचे ताे सभी दोनों को मिलते देख भावुक हाे गए। टीम ने दोनों को डीएनए मिलान के बाद मां से बच्चे को मिलाया है।

अम्बाला सिटी | मदर टेरेसा हाेम में जैसे ही मां अपने बच्चे से मिली तो सबके चेहरे के भाव कुछ इस तरह थे। भास्कर

अडाॅप्शन सेंटर में बच्चे कहते थे-तेरी मां कब लेने अाएगी

5 साल में कई बच्चों के परिजन उनकाे लेने आए ताे कई बच्चे अडॉप्ट भी हुए। मगर इस बच्चे को लेने कोई नहीं आता था ताे साथ रहते बच्चे उसे कहते थे कि तेरी मां कब लेने आएगी तुझे। जब बच्चा अपनी मां को मिला ताे कुछ नहीं बाेला। मां भी उसे देखकर मुस्कराती रही। आंध्रप्रदेश से होने के कारण मां को हिंदी बोलनी नहीं आती और बच्चा पंचकूला में रहने के कारण हिंदी बाेलना सिख गया है। दोनों एक-दूसरे की तरफ देखते रहे।

X
Ambala News - haryana news meetup at the mother teresa home after 5 years with a son who is separated at the age of 2 months
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना