विज का एक्शन / एफआईआर दर्ज करने में देरी और अवैध कब्जे के मामले में दो पुलिसकर्मी सस्पेंड



स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।
X
स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।

  • कष्ट निवारण समिति की बैठक में कैथल पहुंचे थे हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 06:20 PM IST

कैथल। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने शुक्रवार को कैथल की कष्ट निवारण समिति की बैठक में दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। विज ने बैठक में 14 शिकायतें सुनी, जिनमें से 8 शिकायतों का मौके पर निपटारा कर दिया गया। बची 6 शिकायतों के संदर्भ में अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए हैं। 
 

एफआईआर में देरी तो ईएसआई को किया सस्पेंड
स्वास्थ्य मंत्री ने बैठक की अध्यक्षता की। इस दौरान किठाना निवासी प्रदीप कुमार ने शिकायत की थी कि उसका गांव के ही व्यक्तियों द्वारा जानलेवा हमला किया गया। लेकिन उसकी एफआईआर दर्ज करने में देरी की गई। इस पर कार्रवाई करते हुए स्वास्थ्य मंत्री विज ने ईएसआई भागी रथ को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड करने के आदेस दिए। उन्होंने कहा कि सीएम मनोहर लाल ने आदेश दे रखे हैं कि पुलिस को तत्काल प्रभाव से एफआईआर दर्ज करनी है फिर उन्हें चाहे जीरो एफआईआर दर्ज करनी पड़े।

 

कलायत के एसएचओ सस्पेंड
विज ने सजुमा निवासी तरसेम की आपसी मारपीट व पुस्तैनी मकान पर गैर कानूनी कब्जा करने से संबंधित शिकायत की सुनवाई करते हुए कलायत के एसएचओ अनूप सिंह को सस्पेंड करने के लिए निर्देश दिए हैं। उन्होंने इस मामले के सभी तथ्यों की जानकारी के लिए कैथल के उप मंडलाधीश की अध्यक्षता में 3 सदस्यीय समिति गठित करने के निर्देश दिए, जिनमें पुलिस उपाधीक्षक विनोद शंकर तथा समिति के मनोनीत सदस्य सुरेश राविश को शामिल किया गया। यह समिति सभी पहलुओं की जांच करके अगली बैठक में रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। उन्होंने कहा कि वे हर गरीब व्यक्ति के साथ हमेशा खड़े रहेंगे तथा किसी के साथ भी अन्याय नहीं होने देंगे।
 

मार्कशीट गुम करने पर कॉलेज के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के दिए आदेश
डेरा नागल निवासी दिलबाग सिंह ने शिकायत की थी कि सीवन स्थित ज्योति नर्सिंग कॉलेज द्वारा उसकी लड़की की 12वीं मार्कशीट गुम कर दी गई। विज ने पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि वे संबंधित संस्थान के खिलाफ एफआईआर दर्ज करें तथा संस्थान की लापरवाही से छात्रा के 4 वर्ष का समय खराब होने का मुआवजा भी दिलवाया जाए। 

COMMENT