• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Ambala News haryana news police had barricade on the highway made of drums overturned a bus full of devotees in the dark 1 killed and 35 injured

हाईवे पर पुलिस ने ड्रमों से बना रखा था बैरिकेड, अंधेरे में श्रद्धालुओं से भरी बस टकराकर पलटी, 1 की मौत-35 घायल

Ambala News - भास्कर न्यूज | अम्बाला सिटी अम्बाला-हिसार हाईवे पर मटेड़ी शेखां क्रॉसिंग के पास रविवार शाम को एक और हादसा हो...

Nov 11, 2019, 07:25 AM IST
भास्कर न्यूज | अम्बाला सिटी

अम्बाला-हिसार हाईवे पर मटेड़ी शेखां क्रॉसिंग के पास रविवार शाम को एक और हादसा हो गया। यहां पुलिस चेकिंग के लिए बैरिकेड की जगह रखे ड्रम से टकराकर श्रद्धालुओं से भरी बस पलट गई। उथल-पुथल हुए श्रद्धालु एक-दूसरे पर जा गिरे। जिससे दुर्गानगर निवासी हरमिंद्र शर्मा की 50 वर्षीय प|ी कंचन शर्मा की मौत हो गई। बस में सवार 51 श्रद्धालुओं में से 35 को ज्यादा चोटें लगी। 9 को चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया। घायलों में ज्यादातर महिलाएं व बच्चे शामिल हैं। ज्यादातर श्रद्धालु दुर्गानगर, पटेलनगर, बलदेवनगर व जंडली के रहने वाले हैं। सभी सुबह करीब 8 बजे पिहोवा के अरुणाय धाम, ब्रह्मसरोवर व कैथल के पुंडरी तीर्थ की यात्रा पर निकले थे। लौटते वक्त शाम करीब 6 बजे यह हादसा हुआ।

दुर्गानगर की सनातन धर्म मंदिर कमेटी की ओर से हर साल धार्मिक यात्रा का इंतजाम किया जाता है। सभा के प्रधान 66 वर्षीय सुरिंदर कुमार भी प|ी संतोष समेत बस में थे। पटेल रोड निवासी शशी बाला ने बताया कि पिहोवा में अरुणाय धाम, सारसा के बाद कुरुक्षेत्र में ब्रह्मसरोवर और फिर कैथल के पुंडरी तीर्थ पर गए। बस को नरेश चला रहा था। अंधेरे में चालक को सड़क पर रखे ड्रम नजर नहीं आए। टकराने के बाद ड्रम बस के आगे गिरे और झटके के साथ बस पलट गई। सभी यात्री एक-दूसरे के ऊपर गिए। आसपास के लोगों व राहगीरों ने खिड़कियों में से घायलों को बाहर निकाला और एंबुलेंस आदि की मदद से घायलों को सिटी सिविल अस्पताल पहुंचाया।

अंडर या ओवरब्रिज बनाने की मांग को लेकर लोग कई बार लगा चुके जाम, यहां अंधेरा रहता है, रात में पड़े ड्रम दिखाई नहीं पड़ते

बस में अचानक झटका लगा और सभी एक-दूसरे के ऊपर गिरे

बस की तीसरी सीट पर बैठी मीनू शर्मा व वीरांवाली ने बताया कि अचानक जोर का झटका लगा और कुछ पल में ही बस पलट गई। सारे यात्री एक-दूसरे के ऊपर गिरे और सांस लेना भी मुश्किल हो गया। मनोज कुमार ने बताया कि उनकी मां नीलम, प|ी मोनिका, 12 वर्षीय बेटी वृंदा, 8 वर्षीय बेटा निकुंज, भाभी रुपाली, 4 वर्षीय माधव व नव्या बस में थी। सभी को चोटें आई हैं। दूसरी सीट पर बैठे जीआर कालड़ा व सीएम शुक्ला ने बताया कि अचानक लगा कि बस के आगे कुछ आ गया है। उसके बाद तो बस चीखने की आवाजें थी। दुर्गानगर की शांतिदेवी ने बताया कि उनकी बहू रमा, 12 वर्षीय पोती अवंतिका के अलावा जंडली से उनकी बेटी रंजू 10 साल की बेटी यशिका के साथ आई थी। जब बस पलटी तो बच्चे सवारियों के नीचे दब गए थे। बस में एंट्री और एग्जिट एक ही दरवाजे से थी।

घायलों में बच्चे और बुजुर्ग भी

घायलों में सिमरन, निशु, शकुंतला, कुसुम लता, मधु शर्मा, हिमांशी, सृष्टि, हर्षित, सुरेंद्र, विक्की, नीलम, यशिका, रश्मि बाला, शांतिदेवी, परमजीत कौर, अश्विन, हरीश, कृष्णा, वंशिका, शारदा, यशिका, शांति देवी, हर्ष, वीरांवाली, पिंकी, सुदेश, संताेष, शशिबाला, सुरेंद्र, रंजना शामिल हैं।

अम्बाला सिटी | हादसे में घायल बच्चे के साथ परिजन।

अंडरपास पुरानी मांग: न यहां लाइट न रिफ्लेक्टर

मटेड़ी क्रॉसिंग के पास जिस जगह हादसा हुआ, वहां तीव्र मोड़ पर पहले भी कई बार हादसे हो चुके हैं। इसी वजह से यहां अंडर पास या ओवर ब्रिज बनाने की मांग उठी। यहां कई रास्ते क्रॉस होते हैं और मोड़ भी है। यहां से एक रास्ता मटेड़ी शेखां तो एक एक रास्ता लखनौर साहिब की तरफ जाता है। यहां अंधेरा रहता है। वाहनों की स्पीड कम करने के लिए ही यहां ड्रम रखे गए हैं। इस हादसे में यह ड्रम वजह बने। अस्पताल में पहुंचे सिटी विधायक असीम गोयल के सामने भी लोगों ने यह बात रखी। कुछ समय पहले भी यहां हादसे में युवक की जान चली गई थी। तब लोगों ने जाम भी लगाया गया था। हिम्मत सिंह के नेतृत्व में जब जाम लगाया था तब तो पुलिस ने लोगों के खिलाफ पर्चा भी दर्ज कर लिया था।

अम्बाला सिटी | हादसे में घायल महिला को सिटी के ट्रामा सेंटर में लेकर जाते अस्पताल कर्मचारी।



X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना