हकीकत: 2 मार्शल ही दिखे, चोरी 24 बेरिकेड्स की कोई एफआईआर नहीं

Ambala News - कैंट-साहा फोरलेन निर्माण के कारण रोज लग रहे जाम रोकने को लेकर प्रशासन और निर्माण कंपनी के इंतजामों के दावे अभी सही...

Jan 16, 2020, 07:20 AM IST
Ambala News - haryana news reality only 2 marshals seen no fir of theft 24 barricades
कैंट-साहा फोरलेन निर्माण के कारण रोज लग रहे जाम रोकने को लेकर प्रशासन और निर्माण कंपनी के इंतजामों के दावे अभी सही साबित नहीं हो रहे। रोड सेफ्टी पर खर्च होने वाले पैसे को बचाकर वाहन चालकों की जान जोखिम में डाली जा रही है। कैंट ओवरब्रिज से महेश नगर का टांगरी ब्रिज क्रॉस करने तक कम से कम आधा घंटा लग रहा है। मुलाना और साहा से कैंट सिविल अस्पताल के लिए आने वाली एंबुलेंस जाम में फंस रही हैं। इसके अलावा अम्बाला कैंट से साहा, मुलाना, बराड़ा, दोसड़का, जगाधरी, यमुनानगर और सहारनपुर जाने वाले वाहन चालक परेशान हैं। समस्या के समाधान के लिए डीसी अशोक शर्मा ने 6 दिन पहले रोड का निरीक्षण कर निर्माण एजेंसी व नगर परिषद-ट्रैफिक पुलिस को कई हिदायतें दी थी। दो दिन में गड्ढे भरने को भी कहा था। दैनिक भास्कर ने कैंट से लेकर मिट्ठापुर तक 11 किलोमीटर की ग्राउंड रियल्टी चेक की तो 1368 गड्ढे मिले थे।

76 करोड़ रुपए का बजट यूटिलिटी के लिए

एनएचएआई का यह प्रोजेक्ट वैसे तो 220 करोड़ का है लेकिन एनएचएआई निर्माण एजेंसी हाईवे का कंस्ट्रक्शन वर्क करने पर 144 करोड़ रुपए देगी। निर्माण एजेंसी को फोरलेन का काम दो साल में पूरा करना है बाकी 76 करोड़ अन्य व्यवस्थाएं यूटिलिटी वर्क पर खर्च होगा। जिसमें बिजली के पोल शिफ्टिंग के साथ-साथ पेड़ कटाई जैसे वर्क शामिल हैं। इसमें जमीन अधिग्रहण करने की राशि भी है।

कांट्रेक्टर का दावा: कैंट-साहा फोरलेन का जाम रोकने के लिए 6 मार्शल तैनात, 48 में से 24 बेरिकेड्स चोरी हो गए

फोरलेन निर्माण में ट्रैफिक व्यवस्था सही रखने के इंतजाम पूरे न होने से जाम झेल रहा शहर

अम्बाला | महेश नगर में मार्शल की जगह यातायात संभालते ट्रैफिक पुलिस कर्मी।

निर्माण एजेंसी के दावे और रियल्टी चेक

एजेंसी का दावा- गड्ढे हम पहले भर चुके हैं, गुरुवार को काम पूरा हो जाएगा? रोड पर गड्ढे हैं तभी नया बना रहे हैं।

हकीकत: कुछ गड्ढे मिट्‌टी-गटके के मिश्रण बंद किए गए। अह 1368 गड्ढे हो चुके हैं। एग्रीमेंट में निर्माण तक मरम्मत करना जिम्मेदारी है।

एजेंसी का दावा: हर चौक पर मार्शल लगे हैं। 6 मार्शल के नाम पर सेलरी जारी हो रही है।

हकीकत: सिर्फ महेशनगर में अतुल सोमरा चौक और टांगरी नदी से पहले एक-एक मार्शल मिले।

दावा: सभी डायवर्जन प्वाइंट्स के लिए 48 बेरिकेड्स बनवाए थे, 24 चोरी हो गए हैं। अब दोबारा तैयार करा लिए हैं जल्द लग जाएंगे।

हकीकत: चोरी की कैंट, महेश नगर, साहा थाने में कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं है।

भास्कर सवाल : कब भरे जाएंगे गड्ढे, ताकि जाम से मुक्ति मिले?

एजेंसी का जवाब: हम रात को पैचवर्क करेंगे। गुरुवार तक काम पूरा कर लेंगे, जाम की वजह कुछ ओर हैं। इसीलिए खुद डीएसपी साहब को खड़ा होना पड़ रहा है। जनता तक सही बात पहुंचनी चाहिए कि प्रोजेक्ट 220 करोड़ का नहीं है बल्कि 144 करोड़ का है। हमारा दो साल का एग्रीमेंट है और 8 महीने में हम कंस्ट्रक्शन वर्क पूरा करके दे देंगे। रोड सेफ्टी पर हमारी तीन मीटिंग हुई है कंपनी रोड सेफ्टी के प्रति के गंभीर है।

X
Ambala News - haryana news reality only 2 marshals seen no fir of theft 24 barricades
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना