यमुनानगर / दहेज के लिए सज रही नई कार, पेंट में गड़बड़ी मिली तो एजेंसी में हंगामा, दोबारा पेंट करके गाड़ी बेचने का आरोप

इस कार पर दोबारा पेंट करने का है आरोप। इस कार पर दोबारा पेंट करने का है आरोप।
गांव खुखनी निवासी संजीव कुमार ने लगाया एजेंसी पर आरोप। गांव खुखनी निवासी संजीव कुमार ने लगाया एजेंसी पर आरोप।
X
इस कार पर दोबारा पेंट करने का है आरोप।इस कार पर दोबारा पेंट करने का है आरोप।
गांव खुखनी निवासी संजीव कुमार ने लगाया एजेंसी पर आरोप।गांव खुखनी निवासी संजीव कुमार ने लगाया एजेंसी पर आरोप।

  • कार मालिक बोले-एजेंसी पर दोबारा पेंट किया गया, एजेंसी कर्मचारी बोले-खुद किया होगा पेंट

दैनिक भास्कर

Dec 23, 2019, 07:03 PM IST

यमुनानगर। पंडित ऑटो मोबाइल एजेंसी पर उस समय हंगामें की स्थिति बन गई, जब गांव खुखनी निवासी संजीव कुमार नई ऑल्टो कार बदलवाने पहुंच गए। उनका आरोप था कि उनसे ठगी हो गई। क्योंकि नई कार पर दोबारा पेंट किया गया और पूरे रेट में एजेंसी वालों ने उन्हें बेच दी। नई गाड़ी पर दोबारा पेंट होने का पता तब चला जब बेटी को शादी में दहेज के लिए गाड़ी देने के लिए सजाई जा रही थी। तब बेटी की शादी में उन्होंने किसी तरह इज्जत बचा ली। 

हालांकि तभी इसकी सूचना एजेंसी में दे दी थी कि गाड़ी पर दोबारा पेंट किया गया। तब एजेंसी कर्मियों ने उन्हें 23 दिसंबर को बुलाया था। जब वे सोमवार को एजेंसी पर पहुंचे तो कर्मचारियों ने उनकी एक नहीं सुनी और गाड़ी बदलने से मना कर दिया। इतना ही नहीं कहा कि पेंट एजेंसी में नहीं एजेंसी से बिकने के बाद किया गया होगा। काफी देर तक वहां पर हंगामा होता रहा। अंत में गाड़ी खरीदने वाले संजीव कुमार वहां से यह कहकर गाड़ी ले गए कि अब जो भी फैसला होगा कंज्यूमर कोर्ट में होगा। 

13 दिसंबर को 3.45 लाख रुपए में खरीदी थी गाड़ी 
गांव खुखनी निवासी संजीव कुमार ने बताया कि 19 दिसंबर की उनकी बेटी की शादी थी। उन्होंने बेटी को शादी में देने के लिए कार लेनी थी। वे पंडित ऑटो मोबाइल पर पहुंचे। यहां पर उन्होंने दामाद मनोहर के नाम पर ऑल्टो कार ली। 3.45 लाख रुपये की पेमेंट कर दी थी। कई दिन तक गाड़ी घर पर ही खड़ी रखी। बारात आने से पहले उन्होंने गाड़ी सजानी शुरू की। इस दौरान खिड़की के पास पेंट में गड़बड़ी मिली। 

उन्होंने अपने स्तर पर जांच की तो पाया कि पेंट दोबारा किया गया है। उन्होंने तुरंत सूचना एजेंसी में दी। तब उन्हें 23 दिसंबर को बुलाया गया था। अब कोई समाधान करने से मना कर दिया। उनका कहना है कि एजेंसी की तरफ से उन्हें कहा जा रहा है कि पेंट उन्होंने ही किया होगा। उनका कहना है कि गाड़ी फूल इंश्योर्ड है। 

अगर उनसे गाड़ी कहीं पर टकराई है तो वे बाहर से पेंट क्यों कराएंगे। इंश्योरेंस में पूरा पार्ट ही बदला जा सकता है। उनका कहना है कि उन्हें ऐसा लगाता है कि यह गाड़ी एजेंसी में ही कहीं पर लगी। इससे उसका पेंट खराब हुआ। इसे छुपाने के लिए दोबारा पेंट कर दिया गया। 

डिलिवरी के समय सब ठीक था 
एजेंसी के सेल्स मैनेजर हिमांशु ने बताया कि डिलिवरी के समय गाड़ी पूरी तरह देखकर ली गई थी। तब यह शिकायत खरीदे वालों ने नहीं की। अब वे कई दिनों बाद आए हैं। गाड़ी एजेंसी से बिल्कुल सही दी गई थी। इसमें एजेंसी की तरफ से कोई पेंट नहीं किया गया। गलत आरोप लगाए जा रहे हैं। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना