फैसला / लव मैरिज के दो साल बाद ही पत्नी की चाकू मारकर कर दी थी हत्या, कोर्ट ने ठहराया दोषी

yamunanagar news court sentenced convicted husband in wife murder case
X
yamunanagar news court sentenced convicted husband in wife murder case

  • यमुनानगर की फास्ट ट्रैक कोर्ट ने सुनाया फैसला

दैनिक भास्कर

Jan 07, 2020, 06:27 PM IST

यमुनानगर। लव मैरिज के दो साल बाद पत्नी की चाकू मारकर हत्या करने के आरोपी आदर्शनगर कैंप निवासी अनिल पांचाल को कोर्ट ने दोषी दिया है। उसे सजा 10 जनवरी को सुनाई जाएगी। इस मामले में सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में चल रही है। 

मृतका सरिता टेलीकॉम कंपनी में काम करती थी। वहां पर अनिल सिम लेने आया था। वहीं से सरिता और अनिल के बीच बातचीत हुई थी। दोनों के बीच प्यार बढ़ा और दोनों ने शादी का फैसला लिया। सरिता ने अपने परिजनों के खिलाफ जाते हुए हरिद्वार में जाकर अनिल के साथ शादी की थी। कई माह तक दोनों घर पर नहीं आए थे। बाद में अनिल उसे अपने घर लेकर आया तो सरिता को पता चला कि अनिल शादीशुदा है। यहीं से उनके बीच विवाद हो गया था। क्योंकि अनिल ने सरिता को बताया था कि उसकी शादी नहीं हुई है। दोनों की यह दूसरी शादी थी। 

मौत से पहले ये बयान दिए थे सरिता ने 
हरबंसपुरा निवासी सरिता ने फर्कपुर पुलिस को बयान दिए थे कि साल 2015 में उसकी शादी आदर्श नगर कैंप निवासी अनिल पांचाल के साथ हुई थी। दोनों ने मंदिर में प्रेम विवाह किया था। शादी के बाद बेटा हुआ था। करीब एक साल से अनिल उसे परेशान करने लग गया था। 

वह उसे छोटी-छोटी बात पर पीटता था और खर्च के लिए पैसे भी नहीं देता था।  इस बात से परेशान होकर वह अपने मायके आ गई थी। उसने अपने पति के खिलाफ कोर्ट में तलाक का केस भी दायर किया हुआ था। 18 अगस्त 2017 को वह अपनी सहेली गीता को पैसे देने के लिए हरबंसपुरा में उसकी दुकान पर गई थी। जब वह पैसे देकर दुकान से बाहर आई तो वहां पर उसका पति अनिल खड़ा था। 

उसने  उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। उसने जो गले में दुपटा डाला हुआ था उससे उसका गदा दबा दिया। इससे वह नीचे गिर गई। उसने चाकू निकाल कर उसके पेट में मार दिया। तभी वहां पर कॉलोनी का ही आर्पण आया। उसने उसके पति से उसे छुड़ाया। इसके बाद भी उसके पति ने कई वार चाकू से किए। लोगों को वहां पर एकत्रित होता देख उसका पति वहां से फरार हो गया था। 

उसे अस्पताल ले जाया गया।  इस शिकायत पर फर्कपुर पुलिस ने 20 अगस्त 2017 को धारा-323, 341, 506 में केस दर्ज किया था। 23 दिन तक इलाज चलने के बाद सरिता की मौत हो गई थी। तब पुलिस ने इस मामले में धारा-302 और आम्र्स एक्ट जोड़ दिया था। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना