• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • 3 teachers made dirty talk with girl students by luring them to increase number, 3 cases exposed in 6 months, 1 guest teacher relief

शर्मनाक / नंबर बढ़ाने का लालच देकर 3 शिक्षकाें ने छात्राओं से की डर्टी टाॅक, 6 माह में 3 मामले उजागर, 1 गेस्ट टीचर रिलीव

लैंगिक उत्पीड़न के विरुद्ध गठित कमेटी ने जांच कर अतिथि शिक्षक पर लगे आरोपों को सही पाया। लैंगिक उत्पीड़न के विरुद्ध गठित कमेटी ने जांच कर अतिथि शिक्षक पर लगे आरोपों को सही पाया।
X
लैंगिक उत्पीड़न के विरुद्ध गठित कमेटी ने जांच कर अतिथि शिक्षक पर लगे आरोपों को सही पाया।लैंगिक उत्पीड़न के विरुद्ध गठित कमेटी ने जांच कर अतिथि शिक्षक पर लगे आरोपों को सही पाया।

  • सीएम विंडाे में पहुंचा मामला ताे डीसी ने निगम की जॉइंट कमिश्नर काे सौंपी जांच
  • किसी को मौखिक अश्लील शब्द बोले तो किसी को मैसेज भेजा गया, मामले को दबाता रहा संस्थान

दैनिक भास्कर

Feb 08, 2020, 08:42 AM IST

हिसार (ज्योति अरोड़ा). एक शिक्षण संस्थान में टीचर्स द्वारा छात्राओं के साथ शर्मनाक हरकत करने के तीन मामले सामने आए हैं। पिछले करीब छह महीने में नंबर बढ़ाने का लालच देकर तीन शिक्षकाें ने छात्राओं से (डर्टी टॉक) गंदी बात की। किसी को मौखिक अश्लील शब्द बोले तो किसी को मैसेज भेजा गया, लेकिन संस्थान प्रबंधन बार-बार मामले दबाता रहा। सुनवाई न होने पर पीड़ित पक्ष को बैकफुट पर होना पड़ा।


अब एक छात्रा ने हिम्मत जुटाकर गंदी बात कहने वाले शिक्षक के खिलाफ संस्थान के प्रबंधन को लिखित शिकायत दी। लैंगिक उत्पीड़न के विरुद्ध गठित कमेटी ने जांच कर अतिथि शिक्षक (गेस्ट टीचर) पर लगे आरोपों को सही पाते हुए रिपोर्ट प्रबंधन को सौंप दी। इसके साथ ही मामला सीएम विंडो में भी पहुंचा।

जॉइंट कमिश्नर शालिनी चेतल को सौंपी जांच

डीसी डॉ. प्रियंका सोनी ने मामले की जांच नगर निगम की जॉइंट कमिश्नर शालिनी चेतल को सौंपी है। चेतल ने संस्थान में पहुंचकर पीड़ित छात्राओं से बातचीत कर रिपोर्ट तैयार की है। एक अतिथि शिक्षक को संस्थान से रिलीव भी कर दिया है। हालांकि जांच अभी चल रही है। बता दें कि 17 जनवरी को 2 छात्राओं ने प्रिंसिपल को लिखित शिकायत दी थी।

गेस्ट टीचर ने स्वीकारी थी छात्रा को बुलाने की बात

इसके बाद 21 जनवरी को लैंगिक उत्पीड़न के विरुद्ध गठित कमेटी को जांच के निर्देश दिए थे। हालांकि अभी मामला पुलिस के पास नहीं पहुंचा है। संस्थान में लैंगिक उत्पीड़न के विरुद्ध गठित कमेटी ने जांच कर रिपोर्ट तैयार की थी। रिपोर्ट में उन्होंने छात्रा के परिजनों व टीचर को बुलाकर दोनों के पक्षाें का सुना। इसमें गेस्ट टीचर ने छात्रा को बुलाकर उससे गंदी बात करने का आरोप स्वीकार कर लिया।


छात्रा की जुबानी- किसी काे बताया ताे फेल कर दूंगा
"मैं संस्थान की छात्रा हूं। मैं अपने पेपर के दौरान अतिथि शिक्षक से मिली थी। इसके बाद उन्होंने मुझे बोला कि तुम पढ़ाई में काफी कमजोर हो। पर, तुम्हारी मदद कर सकता हूं। पेपर खत्म होने के बाद शिक्षक ने मुझे मिलने के लिए बुलाया था। जब मैं मिलने पहुंची तो उन्होंने मुझसे गंदी बातें करनी शुरू कर दी। काफी असहज लगा। मुझे धमकी भी दी कि अगर मैंने ये बात किसी को बताई तो फेल कर दूंगा। इसके बाद मैंने प्रिंसिपल को मौखिक शिकायत की। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद मैंने एक शिकायत पत्र उन्हें दिया। इस पर कार्रवाई करते हुए 5 दिन बाद कमेटी ने टीचर को बुलाया। लेकिन टीचर के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। मुझे अंदेशा है कि इस मामले को भी पहले उजागर हुए मामलों की तरह दबा दिया जाएगा। इसलिए मैंने हिम्मत जुटाकर गलत के खिलाफ आवाज उठाई हैं, ताकि भविष्य में किसी और छात्रा के साथ ऐसा न हो"। -जैसा कि छात्रा ने अपनी शिकायत में कहा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना