--Advertisement--

चूल्हा चौका छोड़कर चुनावी दंगल में उतरीं 35 गृहिणियां

Hisar News - मेयर से लेकर पार्षद पद पर चुनाव लड़ने के लिए गृहिणियां चूल्हा चौका छोड़ नगर निगम के चुनावी दंगल में उतर आई हैं। कुल...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:15 AM IST
Hisar News - 35 housewives left in chhatta chowk for electoral violence
मेयर से लेकर पार्षद पद पर चुनाव लड़ने के लिए गृहिणियां चूल्हा चौका छोड़ नगर निगम के चुनावी दंगल में उतर आई हैं। कुल 44 महिलाओं में से 35 महिलाएं ऐसी हैं जो गृहिणियां हैं। यानि इन महिलाओं ने नामांकन पत्र भरते वक्त खुद को हाउस वाइफ बताया है। इनमें से एक महिला ने अपना व्यवसाय खेतीबाड़ी बताया है। हालांकि ये भी खास बात है कि इनमें से ग्रेजुएट व इससे अधिक ज्यादा पढ़ीं लिखीं केवल 4 ही महिलाएं हैं।

मेयर पद के लिए महिला उम्मीदवारों में तीन नाम हैं। तीनों महिलाएं ही चाहे वह रेखा सैनी हो या रेखा एेरन और प्रत्याशी कृष्णा तीनों ने ही अपने-अपने नामांकन में व्यवसाय के रूप में हाउस वाइफ यानी गृहिणी दर्शाया है।

पार्षद पद के लिए उतरी 32 महिलाओं में से 4 महिलाएं ग्रेजुएट और इससे अधिक पढ़ीं लिखीं हैं। इनमें से पांचवीं पास 2 उम्मीदवार, आठवीं पास 8 महिलाएं, 10वीं पास 15 महिलाएं और 12वीं पास 7 महिला उम्मीदवार शामिल हैं।

एक महिला उम्मीदवार करती हैं खेतीबाड़ी

पार्षद पद: 20 वार्डों में 41 महिलाएं 32 घर में कामकाज करने वालीं

पार्षद पद पर चुनाव लड़ने के लिए 20 वार्डों में कुल 41 महिलाएं उतरी हैं। हैरानी की बात हैं कि इनमें से 32 महिलाएं ऐसी हैं जो घरेलू कामकाज ही करती हैं। इन 32 में ही एक महिला ऐसी है जो खेती का काम भी करती हैं। 41 में से 9 महिलाएं ऐसी हैं जो अन्य तरह के कामकाज से जुड़ी हैं। एक महिला ने इनमें से खुद का व्यवसाय टीचिंग भी बताया है। बाकी ने अन्य व्यवसाय बताया है।

2013 नप चुनाव में 122 महिलाएं मैदान में थीं : 2013 के नगर निगम चुनाव में मेयर व सात वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित थे। उस दौर में शहर में 294 प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। जिसमें 172 पुरुष एवं 122 महिलाएं चुनाव मैदान में उतरीं थी। हालांकि 2018 के नगर निगम चुनाव में महिलाओं की संख्या काफी कम है। जबकि 2013 और 2018 में नगर निगम में वार्डों की संख्या में कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई है।

जानिए... मेयर पद की प्रत्याशी कितनी शिक्षित

जानिए... मेयर पद की प्रत्याशी कितनी शिक्षित

मेयर पद की उम्मीदवारों में रेखा सैनी व रेखा ऐरन 10वीं तक पढ़ी लिखी हैं। एक महिला उम्मीदवार 12वीं कक्षा तक पढ़ी लिखी हैं। यानी शहर की सबसे छोटी सरकार के शीर्ष पद के लिए चुनाव लड़ रही महिलाओं में से कोई ग्रेजुएट नहीं हैं। इनमें अधिकतम पढ़ी लिखीं उम्मीदवार 12वीं पास है।

मेयर पद की उम्मीदवारों में रेखा सैनी व रेखा ऐरन 10वीं तक पढ़ी लिखी हैं। एक महिला उम्मीदवार 12वीं कक्षा तक पढ़ी लिखी हैं। यानी शहर की सबसे छोटी सरकार के शीर्ष पद के लिए चुनाव लड़ रही महिलाओं में से कोई ग्रेजुएट नहीं हैं। इनमें अधिकतम पढ़ी लिखीं उम्मीदवार 12वीं पास है।

X
Hisar News - 35 housewives left in chhatta chowk for electoral violence
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..