--Advertisement--

हरियाणा / कमरे में सो रहे नवजात काे उठा ले गई बिल्ली, चाचा ने छत से कूदकर बचाया, कमर में फ्रैक्चर



मां को नहीं दिखा बेटा : एक माह के बच्चे का वजन करीब 1.5 किलो है। वह अपनी मां के साथ ग्राउंड फ्लोर पर कमरे में सोया था। स्नेह सुबह उठकर टॉयलेट चली गई। 2 मिनट बाद लौटकर आईं तो बच्चा बिस्तर पर नहीं मिला। मां को नहीं दिखा बेटा : एक माह के बच्चे का वजन करीब 1.5 किलो है। वह अपनी मां के साथ ग्राउंड फ्लोर पर कमरे में सोया था। स्नेह सुबह उठकर टॉयलेट चली गई। 2 मिनट बाद लौटकर आईं तो बच्चा बिस्तर पर नहीं मिला।
भतीजे को ढूढ़ने दौड़ पड़ा चाचा : शोर सुनकर घर के लोग जाग गए। स्नेह की ननद ने फर्स्ट फ्लोर पर सो रहे छोटे भाई हेमंत को जगाया। हेमंत की फर्स्ट फ्लोर की सीढ़ियों पर पड़े बच्चे के डायपर पर नजर पड़ी तो ऊपर की ओर दौड़ा। भतीजे को ढूढ़ने दौड़ पड़ा चाचा : शोर सुनकर घर के लोग जाग गए। स्नेह की ननद ने फर्स्ट फ्लोर पर सो रहे छोटे भाई हेमंत को जगाया। हेमंत की फर्स्ट फ्लोर की सीढ़ियों पर पड़े बच्चे के डायपर पर नजर पड़ी तो ऊपर की ओर दौड़ा।
बच्चे को घसीटती दिखी बिल्ली : हेमंत ने छत पर जाकर मकान से सटी छतों पर तलाश की। अचानक बच्चे के रोने की आवाज सुनी। मकान के पीछे गार्डन में झांककर देखा तो बच्चा घास पर पड़ा बिलख रहा था। बिल्ली पास बैठी थी। बच्चे को घसीटती दिखी बिल्ली : हेमंत ने छत पर जाकर मकान से सटी छतों पर तलाश की। अचानक बच्चे के रोने की आवाज सुनी। मकान के पीछे गार्डन में झांककर देखा तो बच्चा घास पर पड़ा बिलख रहा था। बिल्ली पास बैठी थी।
X
मां को नहीं दिखा बेटा : एक माह के बच्चे का वजन करीब 1.5 किलो है। वह अपनी मां के साथ ग्राउंड फ्लोर पर कमरे में सोया था। स्नेह सुबह उठकर टॉयलेट चली गई। 2 मिनट बाद लौटकर आईं तो बच्चा बिस्तर पर नहीं मिला।मां को नहीं दिखा बेटा : एक माह के बच्चे का वजन करीब 1.5 किलो है। वह अपनी मां के साथ ग्राउंड फ्लोर पर कमरे में सोया था। स्नेह सुबह उठकर टॉयलेट चली गई। 2 मिनट बाद लौटकर आईं तो बच्चा बिस्तर पर नहीं मिला।
भतीजे को ढूढ़ने दौड़ पड़ा चाचा : शोर सुनकर घर के लोग जाग गए। स्नेह की ननद ने फर्स्ट फ्लोर पर सो रहे छोटे भाई हेमंत को जगाया। हेमंत की फर्स्ट फ्लोर की सीढ़ियों पर पड़े बच्चे के डायपर पर नजर पड़ी तो ऊपर की ओर दौड़ा।भतीजे को ढूढ़ने दौड़ पड़ा चाचा : शोर सुनकर घर के लोग जाग गए। स्नेह की ननद ने फर्स्ट फ्लोर पर सो रहे छोटे भाई हेमंत को जगाया। हेमंत की फर्स्ट फ्लोर की सीढ़ियों पर पड़े बच्चे के डायपर पर नजर पड़ी तो ऊपर की ओर दौड़ा।
बच्चे को घसीटती दिखी बिल्ली : हेमंत ने छत पर जाकर मकान से सटी छतों पर तलाश की। अचानक बच्चे के रोने की आवाज सुनी। मकान के पीछे गार्डन में झांककर देखा तो बच्चा घास पर पड़ा बिलख रहा था। बिल्ली पास बैठी थी।बच्चे को घसीटती दिखी बिल्ली : हेमंत ने छत पर जाकर मकान से सटी छतों पर तलाश की। अचानक बच्चे के रोने की आवाज सुनी। मकान के पीछे गार्डन में झांककर देखा तो बच्चा घास पर पड़ा बिलख रहा था। बिल्ली पास बैठी थी।

  • सुबह 6:30 बजे उठकर मां टॉयलेट के लिए गई थी
  • फर्स्ट फ्लोर की सीढ़ियों पर डायपर पड़ा देखकर छत पर भागा चाचा
  • रोने की आवाज सुनकर दूसरी मंजिल से कूदा

Dainik Bhaskar

Sep 14, 2018, 10:20 AM IST

भिवानी. कमरे में सो रहे एक माह के नवजात को बिल्ली उठाकर ले गई। उस समय सुबह के 6:30 बजे थे और बच्चे की मां स्नेह उठकर टॉयलेट गई थी। 2 मिनट बाद लौटी तो बच्चा नहीं मिला। बच्चे के पिता भी उसी कमरे में सोए थे।
 

स्नेह के शोर मचाने पर परिजन भी उठ गए और बच्चे की तलाश शुरू की। बच्चे के 26 वर्षीय चाचा हेमंत ने दूसरी मंजिल की छत पर जाकर देखा तो बच्चा साथ लगते गार्डन में बिलख रहा था। तभी हेमंत ने छत से छलांग लगा दी। बिल्ली नवजात काे  छाेड़कर भाग गई।

 

घटना भिवानी के नंदराम कटला हालु बाजार क्षेत्र की है। बच्चे के दादा पुरुषोतम दास ने बताया कि उनका पाैत्र तो स्वस्थ है, लेकिन छोटे बेटे हेमंत की कमर में फ्रैक्चर आया है। उसे भिवानी के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

 

दूसरी मंजिल से लगा दी छलांग : हेमंत दूसरी मंजिल से फर्स्ट फ्लोर के समांतर जाल पर कूदा। फिर लटककर कूदा तो फिसलने से पैरों का मांस फट गया। रीढ़ की हड्डी में फ्रैक्चर हो गया। बिल्ली भाग गई। बच्चा सुरक्षित मिला। 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..