विधानसभा चुनाव / भाजपा उम्मीदवार दुड़ा राम बोले, मैं एमएलए बना तो नहीं कटेगा बाइक का चालान



X

  • 21 सितंबर को कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे दुड़ा राम
  • फतेहाबाद के वार्ड-10 में सभा में पुरानी उपलब्धियों पर लगाई भाजपा की मुहर
  • जजपा नेता दुष्यंत चौटाला बोले-दुड़ा राम में इतनी हिम्मत नहीं

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 12:39 PM IST

फतेहाबाद. हरियाणा विधानसभा चुनाव में फतेहबाद से भाजपा उम्मीदवार दुड़ा राम बिश्नोई ने खुले तौर पर ट्रैफिक रूल्स के खिलाफ बयान दिया है। शहर वार्ड-10 में एक जनसभा में बिश्नोई ने कहा, 'नशा बिकना, बाइक का चालान कटना और ऐसी ही कई और समस्याएं छोटी-मोटी समस्याएं हैं। एक बार आपका बेटा एमएलए बन गया तो फिर सब खत्म हो जाएंगी। मेरे विधायक बनने के बाद कोई बाइक का चालान नहीं कटेगा।' दुड़ा राम के इस बयान पर जजपा नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा, 'दुड़ा राम में इतनी हिम्मत नहीं है कि वह भाजपा में रहकर सरकार के खिलाफ जा सकें।

 

भाजपा सरकार की ओर से मोटर व्हीकल एक्ट में संशोधन करके जुर्माना राशि में बढ़ोतरी की गई है, ताकि लोग यातायात नियमों का पालन ज्यादा से ज्यादा करें। दूसरी ओर से भाजपा के उम्मीदवार दुड़ा राम अपनी सभाओं में लोगों को उनके विधायक बनने के बाद वाहनों के चालान कटने जैसी दिक्कतें न आने की बात कह रहे हैं।

 

बुधवार रात को फतेहाबाद शहर के वार्ड-10 में पार्षद सोनू कक्कड़ ने दूड़ाराम के प्रचार में एक जनसभा का आयोजन किया। इस सभा में भाजपा प्रत्याशी दुड़ा राम ने लोगों से वोट की अपील की। उन्होंने भाजपा सरकार की नीतियों के बारे बताया, वहीं आखिर में लोगों से उन्हें जिताकर विधायक बनाने की बात कही।

 

दुड़ा राम 21 सितंबर को ही कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। इसके बाद उन्हें फतेहाबाद से टिकट भी मिल गई। कांग्रेस के समय की उपलब्धियों को भाजपा का बताया। इस सभा में एक भाजपा नेता ने अपने भाषण के दौरान कुछ परियोजनाओं के नाम लेते हुए कहा कि उसके लिए जो जमीन लोगों को दी गई है, वह भाजपा सरकार की देन है। हालांकि, वह जगह कांग्रेस सरकर के समय में ही एलॉट कर दी गई थी।

 

दूसरी ओर दुड़ा राम के इस बयान पर जेजेपी नेता दुष्यंत सिंह चौटाला ने कहा, 'दुड़ा राम में इतनी हिम्मत नहीं है कि वह भाजपा में रहकर सरकार के खिलाफ जा सकें। इस तरह के कानूनों को जनता के अनुरूप लागू करवाने का काम जेजेपी कर सकती है और दुष्यंत किसानों के ट्रैक्टर पर लागू होने वाले नियमों के खिलाफ ट्रैक्टर लेकर संसद तक गया था। हम सरकार में आने पर पहली कलम से इस तानाशाही कानूनी को खत्म करने का काम करेंगे।'

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना