इनेलो में राजनीति / दादा के फैसले पर पोते दिग्विजय की प्रतिक्रिया, इनसो को नहीं भंग कर सकता कोई, उनके पिता पर ही अधिकार

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 05:13 PM IST



दिग्विजय चौटाला। (फाइल) दिग्विजय चौटाला। (फाइल)
X
दिग्विजय चौटाला। (फाइल)दिग्विजय चौटाला। (फाइल)

इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला ने यूथ विंग इनसो को भंग करने का किया ऐलान, 

सिरसा। इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला द्वारा गुरुवार को छात्र विंग  इंडियन स्टूडेंट आर्गनाइजेशन (इनसो) को भंग करने पर दिग्विजय चौटाला ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि इनसो को भंग नहीं किया जा सकता। इनसो एक स्वतंत्र बॉडी है, इसे या तो कार्यकारिणी भंग कर सकती है या फिर इसके संस्थापक अजय चौटाला भंग कर सकते हैं। 

 

दिग्विजय चौटाला ने अपील की है कि कोई भी साथी किसी भी तरह की प्रतिक्रिया न दे। इनसो सोसाइटी एक्ट के तहत रजिस्ट्रड है। इनसो से जुड़े कोई भी फैसला या तो उसकी खुद की कार्यकारिणी ले सकती है या फिर उसके संस्थापक अजय चौटाला ले सकते हैं। आधिकारिक रुप से इनसो की कोई कार्यकारिणी नहीं भंग हुई है। आप शांति बनाए रखें, हौंसले में रहें। 

 

 

पार्टी सुप्रीमो ने इनेलो के स्टूडेंट विंग इंडियन स्टूडेंट आर्गनाइजेशन (इनसो) की राष्ट्रीय और राज्य इकाई को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है। उन्होंने कहा है कि इनेलो की युवा इकाई और इंडियन स्टूडेंट आर्गनाइजेशन (इनसो) को अनुशासनहीनता और पार्टी के आदर्शों के विरुद्ध काम करते हुए पाया गया था। गोहाना में 7 अक्टूबर को हुई जननायक चौधरी देवीलाल के जन्मदिवस सम्मान समारोह रैली में पार्टी की युवा इकाई पूरी तरह अपनी भूमिका निभाने में नाकाम रही।
 

COMMENT