गुरु नानक जयंती / सिरसा इलाके में पंजाबी अध्यापकों के पद भरने और 77 कनाल भूमि गुरुघर के नाम करने का ऐलान



CM ML Khattar announced severel special things for Sirsa and surrounding
CM ML Khattar announced severel special things for Sirsa and surrounding
CM ML Khattar announced severel special things for Sirsa and surrounding
CM ML Khattar announced severel special things for Sirsa and surrounding
CM ML Khattar announced severel special things for Sirsa and surrounding
X
CM ML Khattar announced severel special things for Sirsa and surrounding
CM ML Khattar announced severel special things for Sirsa and surrounding
CM ML Khattar announced severel special things for Sirsa and surrounding
CM ML Khattar announced severel special things for Sirsa and surrounding
CM ML Khattar announced severel special things for Sirsa and surrounding

  • सिरसा की नई अनाज मंडी में गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव का समर्पित कार्यक्रम आयोजित
  • सिख पंथ को लुभाने के लिए मुख्यमंत्र मनोहर लाल खट्‌टर ने लगाई घोषणाओं की झड़ी
  • रिमोट से किया कैथल में स्थापित की गई संत चूड़ामणि भाई संतोख सिंह की प्रतिमा का अनावरण

Dainik Bhaskar

Aug 04, 2019, 07:08 PM IST

सिरसा. सिरसा के गुरुद्वारा चिल्ला साहिब की लगभग 77 कनाल भूमि गुरुद्वारे के नाम की जाएगी। इलाके के पंजाबी शिक्षकों के पद भी जल्द ही भरे जाएंगे। यह ऐलान रविवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर ने किया।खट्‌टर रविवार को सिरसा की नई अनाज मंडी में श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव का समर्पित कार्यक्रम में प्रदेश के कोने-कोने से आई संगत को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने प्रदेश में सिख पंथ को लुभाने के लिए ऐलान पर ऐलान किए, वहीं कहा कि अकेले सिखों के लिए नहीं, बल्कि प्रदेश का खजाना हर वर्ग के लिए हमेेशा खुला है।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सिरसा एक ऐतिहासिक नगरी रही है, जहां सिख मान्यता के सभी दस गुरुओं के चरण पड़े। गुरुद्वारा चिल्ला साहिब में तो पहले गुरु श्री नानक देव जी तो चार महीने 13 दिन रहे। उन्होंने गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी की मांग पर गुरुद्वारा चिल्ला साहिब की लगभग 77 कनाल भूमि जो सरकार के नाम है, को सरकार की नीति के अनुसार गुरुद्वारा के नाम करने की घोषणा की। सिरसा व उसके आसपास के पंजाबी बाहुल्य जिलों में पंजाबी अध्यापकों के रिक्त पदों को शीघ्र भरने की घोषणा करते हुए कि इसके लिए लगभग 400 पदों का विज्ञापन आज या कल में जारी कर दिया जाएगा। सिरसा में सिख समाज के लिए लगभग एक एकड़ जमीन धर्मशाला बनवाने के लिए सिरसा के उपायुक्त को जमीन तलाशने के निर्देश दिए। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कुरुक्षेत्र में सिख गुरुओं के नाम से एक संग्रहालय बनवाने का ऐलान किया। हरियाणा से होकर पंजाब व राजस्थान सीमा तक जा रहे गुरु गोबिंद सिंह के नाम पर घोषित राष्ट्रीय राजमार्ग पर उनके नाम के साइन बोर्ड लगवाने की घोषणा की।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का खजाना केवल सिख समाज के लिए ही नहीं, बल्कि समाज के हर वर्ग के लिए खुला है। सरकार का काम जनता के मौलिक कामों को ठीक करना है। पिछले पांच वर्षों में हमने अधिकारियों के द्वारा सरकारी फंड पर लगाए जाने वाले टांके के वहम को खत्म किया है। मुख्यमंत्री ने कैथल में स्थापित की गई संत चूड़ामणि भाई संतोख सिंह की प्रतिमा का अनावरण रिमोट से किया। इससे पहले मुख्यमंत्री ने गुरु नानक देव जी के जीवन पर दिल्ली प्राकृतिक विज्ञान संस्थान द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। रक्तदान शिविर में स्वेच्छा से रक्तदान दे रहे युवाओं से भी मिले और गुरु का लंगर छका।

 

उन्होंने कहा कि गुरु गोबिंद सिंह जी के 350 साला पर करनाल में आयोजित राज्यस्तरीय समारोह में की गई घोषणाओं को लगभग पूरा कर दिया है जिनमें मानव चौक से जाने वाली सड़क का नाम माता गुजरी कौर के नाम करने, अंबाला में माता गुजरी के नाम से वीएलडीए महाविद्यालय खोलना प्रमुख है। इसके अलावा पटना साहिब तक दो विशेष ट्रेनें सिरसा व अंबाला से चलाई गई थी, जिसकी घोषणा भी उसी समय की गई थी। बनारस, अमृतसर व अन्य तीर्थ स्थलों पर जाने वाले बुजुर्ग श्रद्धालुओं के लिए रेलवे की द्वितीय श्रेणी में आरक्षित टिकट का आधा खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाएगा जिसकी घोषणा पिछले दिनों की गई है। इस अवसर पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने पंजाबी भाषा में दिए गए अपने संबोधन में सभी उपस्थित साध संगत को बधाई व शुभकामनाएं दी।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना