--Advertisement--

15 दिन से ढंढूर डंपिंग स्टेशन के कचरे में बार-बार लग रही आग, धुंए से ग्रामीण हो रहे परेशान

सिरसा रोड स्थित गांव ढंढूर के पास नगर निगम का डंपिंग स्टेशन पर कचरे में बार-बार लगने वाली आग ग्रामीणों के नासूर बन...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 03:17 AM IST
Hisar - for 15 days there is a frequent fire in the dump station39s waste
सिरसा रोड स्थित गांव ढंढूर के पास नगर निगम का डंपिंग स्टेशन पर कचरे में बार-बार लगने वाली आग ग्रामीणों के नासूर बन गई है। दिनभर कचरे से निकलने वाले धुएं ले लोगों को जीवन दूभर कर दिया। धुंए से परेशान ग्रामीणों ने पूर्व सरपंच फूल सिंह ने नेतृत्व में गांव में बैठक बुलाई। इसमें पूर्व सरपंच सहित ग्रामीणों ने फैसला लेते हुए जिला प्रशासन को एक सप्ताह का अल्टीमेटम दिया है। यदि एक सप्ताह में समस्या का स्थायी समाधान नहीं हुआ तो डंपिंग स्टेशन के गेट पर ताला लगाकर ग्रामीण एक बार फिर आंदोलन की शुरुआत करेंगे।

शनिवार को रात 9 बजे तक तीन दमकल गाड़ियां पहुंचीं आग बुझाने

पिछले करीब 10 दिन से लगातार गांव ढंढूर के कचरे में आग लग रही है। आग के हालात ये थे कि शनिवार और शुक्रवार को भी दमकल की तीन-तीन गाड़ियों आग बुझाने पहुुंंची। शनिवार को दोपहर, सायं सवा सात और रात करीब पौने 9 बजे कचरे में आग बुझाने दमकल की गाड़ियां ढंढूर पहुंचीं।

डंपिंग स्टेशन में आग के कारण कचरे से निकलने वाले धुएं के कारण ग्रामीणों को सांस लेने में परेशानी हो रही है। बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक बीमारी की जद में आ रहे हैं। धुंए के कारण हालात ये हैं कि ढंढूर सहित आसपास के गांवों व ढाणियों के 15 हजार से अधिक ग्रामीण दिन रात धुंए के कारण परेशानी है।

ग्रामीणों ने प्रशासन को 7 दिन का अल्टीमेटम दिया

गांव ढंढूर डंपिंग स्टेशन के कचरे में लगी आग के कारण उठता धुंआ नेशनल हाईवे व गांव की तरफ जाता हुआ।

ये भी जानें : प्रतिदिन शहर से डंपिंग स्टेशन पहुंच रहा करीब 150 मीट्रिक टन कचरा

ग्रामीणों ने फैसला लिया कि सात दिन में समस्या का समाधान नहीं हुआ तो अपने परिवार के सदस्यों की जिंदगी बचाने के लिए आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे। 2014 में ग्रामीणों ने कूड़े में लगी आग के धुंए और बदबू से परेशान होकर आंदोलन शुरू किया था। इस बार आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक स्थायी समाधान नहीं होता है और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट को सिरे चढ़ाने में देरी करने वाले आला अफसरों पर कार्रवाई नहीं होती है।

नेशनल हाई-वे पर हादसे की बन रही स्थिति

डंपिंग स्टेशन नेशनल हाई-वे के साथ है। ऐसे में वहां उठाने वाला धुंए के कारण नेशनल हाई-वे पर काफी दूर तक वाहन चालकों को देखने में भी परेशानी आती है। धुआं लोगों के जीवन को खतरे में डाल रहा है। रात को यह स्थिति और भी भयानक हो जाती है। ऐसे में धुंए के कारण नेशनल हाई-वे पर हादसे की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। क्योंकि एक तो सड़क पर धुंए के कारण अंधेरा छा जाता है। दूसरा सड़क पर बेसहारा पशु। जो धुंए में दिखाई नहीं देते और दुर्घटना का कारण बन जाते हैं।



X
Hisar - for 15 days there is a frequent fire in the dump station39s waste
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..