पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Hisar News Gju Students Will Build A 45 Million Priced A Tv Car Roughly 70 Kilometers Per Hour On Rugged And Rugged Roads

जीजेयू के स्टूडेंट्स बनाएंगे 4.5 लाख कीमत की ए-टीवी कार, उबड़-खाबड़ और रेतीले रास्तों पर 70 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ेगी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जीजेयू के मैकेनिकल इंजीनियरिंग के स्टूडेंट्स विदेशी कारों की तर्ज पर ए-टीवी कार बना रहे हैं। कार का डिजाइन पहले राउंड में सोसायटी ऑफ ऑटोमोटिव इंजीनियर्स, इंडिया ने सिलेक्ट किया है, वहीं दूसरे राउंड के लिए स्टूडेंट्स को मार्च महीने में कार प्रेजेंट करनी है। कार के लिए जीजेयू व सांसद सुभाष चंदा की ओर से भी फंडिंग देने का आश्वासन मिला है। यह पहली बार है कि जीजेयू के स्टूडेंट कार को जीजेयू में ही बनाएंगे। इसके लिए विवि की लैब की मशीनरी का इस्तेमाल किया जाएगा। वहीं कुछ पार्ट्स के लिए बाहरी मशीनों का भी इस्तेमाल किया जाएगा।

भारत मेंं एक ही एजेंसी, फंडिंग के लिए स्पेयर पार्ट्स की कोटेशन देने में आ रही परेशानी
मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बीटेक स्टूडेंट्स मनीष ने बताया कि यह कार करीब 4.5 लाख रुपए की कीमत में तैयार होगी। सिंगल सीटर यह कार पेट्रोल चालित होगी, यह उबड़-खाबड़ रास्तों पर भी 70 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चल सकेगी। कार के स्पेयर पार्ट्स के लिए भारत में एक ही एजेंसी है, जिसके कारण उन्हें फंडिंग के लिए स्पेयर पार्ट्स की कोटेशन देने में समस्या आई। इसी कारण बजट मिलने में भी देरी हो रही है। गाड़ी के इंजन समेत कुछ पार्ट्स विदेश में बनते हैं, वहीं कुछ पार्ट्स लोकल मार्केट से लिए जाएंगे। मनीष ने बताया कि सोसायटी ऑफ मैकेनिकल इंजीनियरिंग कंपीटिशन ऑफ रोड व्हीकल के लिए कंपीटिशन करवाती है। इसमें हमने उबड़-खाबड़ व रेतीले रास्तों पर चलने वाली ए-टीवी कार का डिजाइन पेश किया था। सोसायटी की ओर से आईआईटी व टेक्निकल इंस्टीट्यूशन के स्टूडेंट के लिए यह कंपीटिशन आयोजित किया जाता है। इसमें व्हीकल रूल बुक के अनुसार व्हीकल डिजाइन करना होता है और पहले राउंड में प्रेजेंट करना होता है। पहला राउंड चित्कारा यूनिवर्सिटी, पंजाब में होता है, जिसमें कार का डिजाइन अगले राउंड के लिए सिलेक्ट हो चुका है। अगला राउंड मार्च महीने में बाहा-2019 कंपीटिशन नाम से होना है जो आईआईटी रोपड़ में होगा। इसमें 80 टीमें अपनी बनाई चीजों को प्रेजेंट करेगी। वहां पांचों दिन कार के अलग-अलग टेस्ट होते हैं। जिनमें कार की कीमत, परफॉरमेंस, कॉस्ट, एवरेज, पेट्रोल की खपत आदि चीजों को परखा जाएगा। यहां पॉजीशन के हिसाब से पहले तीन विजेता रहे हैं।

जांच को आएगी इंटरनेशनल सोसायटी टीम
इंटरनेशनल सोसायटी की टीम कार की इंस्पेक्शन के लिए जनवरी महीने में जीजेयू पहुंचेगी। जीजेयू में अभी इंटरनल परीक्षाएं चल रही हैं, वहीं दिसंबर के अंतिम सप्ताह में मुख्य परीक्षाएं होंगी। ऐसे में छात्रों को स्टडी के साथ कार बनाने के लिए सिर्फ 30 दिन का समय मिलेगा, इसलिए स्टूडेंट्स दिन-रात काम में लगे हैैं।

जीजेयू के मैकेनिकल इंजीनियरिंग के 19 स्टूडेंट्स को 30 दिन में पूरा करना है प्रोजेक्ट
खबरें और भी हैं...