पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोहित मर्डर केस में रिमांड के बाद अंकुश को जेल भेजा

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

सेक्टर-14 के मकान में मुलतानी चौक वासी मोहित की हत्या करने वाले आरोपी दोस्त अंकुश को पुलिस ने रिमांड खत्म होने पर अदालत में पेश किया, जहां इसे एक दिन के रिमांड पर हासिल किया है। आरोपी से वारदात में इस्तेमाल सुआ बरामद कर लिया था। गौरतलब है कि पुलिस पूछताछ में अंकुश ने बताया था कि मैं और मोहित काफी अच्छे दोस्त थे। इस दौरान मोहित से रुपये उधार लेता था। मुझ पर उसका करीब 3 हजार रुपये कर्ज था। वह रुपये मांगता था। उसे कहता था कि जल्दी दे दूंगा मगर समय पर रुपयों का बंदोबस्त नहीं कर पाया था। ऐसे में हमारे बीच खटास पैदा हो गई थी। काफी परेशान हो गया था। तीन-चार दिन पहले खुद सुसाइड करने के लिए हाथ की नस को ब्लेड से काटने का प्रयास किया लेकिन ज्यादा हिम्मत नहीं जुटा पाया। मानसिक रूप से परेशान हो गया था। कुछ भी अच्छा-बुरा सोचने की क्षमता खत्म हो गई थी। इसलिए मोहित को ही रास्ते से हटाने का फैसला कर लिया ताकि रुपयों के लेन-देन का झंझट खत्म हो जाए। इसलिए उसे बुलाकर अपने साथ सेक्टर 14 स्थित दोस्त के मकान पर लेकर गया था। कमरे में तेज आवाज में म्यूजिक चला दिया था। इस दौरान सुनियोजित तरीके से मौका मिलते ही मोहित को सुआ से गोदना शुरू कर दिया था। उसके चिल्लाने की आवाज बाहर न जाए, इसके लिए म्यूजिक बंद नहीं होने दिया था। हत्यारोपी अंकुश ने वारदात के बाद अपनी गर्लफ्रैंड को फोन किया था। उसे कहा था कि मेरी मां और बहन को बोल देना कि वे घर से किसी रिश्तेदार के यहां चली जाएं। इसके बाद वह हरिद्वार चला गया था। वहां पर टी स्टॉल संचालक से फोन लेकर अपनी गर्लफ्रैंड से बात की थी। तब हिसार पुलिस अलर्ट हुई और हरिद्वार की सीआइयू से संपर्क करके उसकी जानकारी दी।

खबरें और भी हैं...