पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

...शुरुआत हमारी गेस्ट एडिटर्स के परिचय और जीवन से जुड़े किस्सों से**

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शहर की प्रमुख महिलाएं जो असाधारण गुणों के चलते अपने-अपने कार्यक्षेत्र में शीर्ष पर हैं, आज हमारे अखबार की गेस्ट एडिटर बनीं। मतलब सारा अखबार इनकी राय से तैयार किया गया ।

महिलाएं हमारा जीवन संवारती हैं, आज हमारे अखबार को भी संवारा...
**

बबीता चौधरी , महिला एवं बाल संरक्षण अधिकारी**

12 साल में तीन सौ ज्यादा बाव विवाह रुकवाए**

भिवानी में जन्मी और हिसार में महिला एवं बाल संरक्षण अधिकारी के तौर पर इनकी जिम्मेदारी बहुत बड़ी है। 12 सालों में तीन सौ से ज्यादा बाल विवाह रुकवा चुकी हैं। लोगों को जागरूक करती हैं, समझाती हैं कि बेटियां बोझ नहीं हैं उनको भी पूर्ण अधिकार दें?

-पढ़ें पेज 8 पर

एकता भ्याण, सहायक रोजगार अधिकारी**

हारे लोगों को जिताने की कला सिखाने में माहिर हूं**

एकता भ्याण पैरा एेथलीट व सहायक रोजगार अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। इन्होंने 2013 में रोजगार कार्यालय में ज्वाइन किया। जिसके बाद 2016 से पैरा एथलेटिक चैंपियन बनीं। व्हील चेयर पर चलती हैं पर हौसला ऐसा है कि अक्षम लोगों को भी दौड़ने की ताकत से भर देती हैं।

पूनम दहिया, रिवेन्यु एंड डिजास्टर मनेजमेंट डिपार्टमेंट से**

आपदा में हौसले के साथ बेस्ट प्लानिंग और तेजी काम आती है**

हिसार के नलवा में जन्मीं पूनम दहिया गुरुग्राम में रिवेन्यु एंड डिजास्टर मनेजमेंट डिपार्टमेंट में कार्यरत हैं। गांव से लेकर सरकारी कार्यालयों में मॉक ड्रिल तक की जिम्मेदारी निभा रही हंै। कहती हैं कि आपदाओं से निपटने के लिए जिस तेजी की जरूरत पड़ती है उतनी ही सटीक प्लानिंग भी चाहिए होती है।

भारती डबास , डीएसपी, हिसार**

मनोविज्ञान में मास्टर हूं, अपराधियों की मानसिकता को समझती हूं**

अंबाला में जन्मी और अब हिसार में डीएसपी भारती अब तक क्राइम के 2500 से ज्यादा मामले हैंडल कर चुकी हैं। इन्होंने प्रदेश के विभिन्न जिलों में अपनी सेवाएं दी हैं। मनोविज्ञान में मास्टर कर चुकी हैं इसलिए अपराध जगत में क्राइम करने वालों और न्याय की फरियाद लगाने वालों को बहुत बेहतर से समझती हैं।
खबरें और भी हैं...