घरों से बाहर निकले 15 लोगों को कुत्तों ने नोचा, एक को बिल्ली ने काटा

Hisar News - लॉक डाउन के बावजूद घरों से बाहर निकले लोगों पर कुत्ते हमला करके नोच रहे हैं। इसके अलावा घरों में भी लोग अपने पालतू...

Mar 27, 2020, 07:40 AM IST

लॉक डाउन के बावजूद घरों से बाहर निकले लोगों पर कुत्ते हमला करके नोच रहे हैं। इसके अलावा घरों में भी लोग अपने पालतू कुत्तों से सुरक्षित नहीं है। कोई बिल्ली के काटने का भी शिकार हुआ है। गुरुवार को ऐसे करीब 24 मामले सामने आए हैं। सभी पीड़ित सिविल अस्पताल में एंटी रेबीज वैक्सीन का टीका लगवाने पहुंचे थे। पिछले दो दिनों से पीड़ितों की संख्या 22 से 24 है। लॉक डाउन से पूर्व पीड़ितों की संख्या रोजाना 90 से 110 तक थी। जानकारी के अनुसार इन 24 मामलों में से 14 लोगों को गली के कुत्तों ने, 3 को पालतू कुत्तों, एक को बिल्ली ने काटा है। अन्य पीड़ित दूसरा या तीसरा टीका लगाने पहुंचे थे।

लॉक डाउन के चलते गलियों में घूमने वाले कुत्तों को रोटी, दूध इत्यादि खाद्य सामग्री पुण्य के तौर पर खाने को देते थे, जोकि बंद हो गई है। ऐसे में कुत्तों का व्यवहार बदलने से आक्रामक हो गए हैं।

लापरवाही न करें, तुरंत करवाएं उपचार

{ मुंह और गर्दन पर यदि कुत्ता काटता है ताे यह बहुत ही खरतनाक हाेता है। पीड़ित काे उपचार में काेई काेताही नहीं बरतनी चाहिए। तुरंत ही वैक्सीन से लेकर अन्य मेडिकल उपचार करवाना चाहिए। रिस्क लेने पर गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते है

{ जानवर के हमले में अगर कपड़े फट गए हैं तो उन्हें सीलकर दोबारा प्रयोग करने की भूल न करें। पशुओं से फैलने वाला खतरनाक रेबीज वायरस काफी सालों तक जीवित रहता है।

{ कुत्ते के दांत से फटे कपड़े में काफी सालों तक रेबीज वायरस सक्रिय रहता है। ऐसे में जिस जानवर से रेबीज फैलने का खतरा है और उसकी लार आपके कपड़ों पर लगी है तो उन्हें जलाकर नष्ट कर दें।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना